विपक्ष पर PM Modi का अटैक, बोले-''कांग्रेस व झामुमो ने की छल की राजनीति''

झारखंड चुनाव (Jharkhand Election) को लेकर सभी (Jharkhand Assembly Election 2019) पार्टियां (Narendra Modi In Jharkhand) जीजान से तैयारियों में जुट गई है, ईधर (Narendra Modi In Khunti) बीजेपी (Jharkhand BJP) के स्टार प्रचारक भी (Narendra Modi On Shree Ram) मैदान (Narendra Modi Khunti Rally) में कूद पड़े हैं...

By: Prateek

Updated: 03 Dec 2019, 04:08 PM IST

(खूंटी): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को झारखंड में कहा कि पड़ोसी राज्य जहां भाजपा की सरकार नहीं है, वहां की स्थिति देख लें, वहां किसानों, आदिवासियों और पिछड़ों के साथ झूठे वायदे करके कांग्रेस और उसके साथी दलों ने सरकार तो बना ली, लेकिन अब वादा पूरा करने से दूर भाग रहे हैं। उन्होंने कहा कि झारखंड ये भली भांति जानता है कि कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की राजनीति छल और स्वार्थ की राजनीति है।

 

चुनाव में साबित हुई तीन चीजें—पीएम

प्रधानमंत्री खूंटी के बिरसा कॉलेज मैदान में भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। नरेंद्र मोदी ने कहा कि झारखंड के विकास के लिए भाजपा की वापसी जरूरी है। उन्होंने कहा कि पहले चरण के मतदान के बाद तीन बाते स्पष्ट हो गई हैं। पहली- लोकतंत्र को मजबूत करने और राष्ट्र निर्माण में झारखंड के लोगों की आस्था अभूतपूर्व है। दूसरी- भाजपा सरकार ने जिस प्रकार नक्सलवाद की कमर तोड़ी है, उससे यहाँ डर का माहौल कम हुआ है और विकास का माहौल बना है और तीसरी बात ये भी स्पष्ट हुई है कि झारखंड के लोगों में भाजपा सरकार के प्रति एक विश्वास की भावना है। उन्होंने कहा कि ये चुनाव दिल्ली और राज्य में चल रहे विकास के डबल इंजन को बनाए रखने के लिए है।

 

यह भी पढ़ें: झारखंड चुनाव: पत्नी के सामने खड़ी थी भाभी, तो पति ने भी भर दिया परचा, दिलचस्प हुआ मुकाबला


नरेंद्र मोदी ने कहा कि इतने लंबे काल से लटकी हुई चीजे जिन्हें अटकाने के लिए राजनीतिक स्वार्थ से प्रेरित लोगों ने अड़ंगे डाले, लेकिन भाजपा देश में शांति, एकता, सद्भाव के लिए समस्याओं का समाधान खोजने का प्रयास किया और सफलतापूर्वक आगे बढ़ रहे हैं। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 अब हट चुका है। अब केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर को विकास और विश्वास के पथ पर ले जाने की जिम्मेदारी आदिवासी अंचल में ही जन्मे, पले-बढ़े, उपराज्यपाल जी के कंधे पर है।

 

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार नहीं, ये अंबानी-अडाणी की सरकार है-राहुल गांधी

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि भगवान राम अयोध्या से जब निकले थे तब तो राजकुमार राम थे और जब 14 साल के वनवास के बाद वापस आए तो मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम बन गए। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि 14 साल भगवान राम ने आदिवासियों के बीच बिताए थे। ये संस्कार हैं आदिवासी भाई-बहनों के है।


झारखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें (Jharkhand News)...

यह भी पढ़ें: चक्रधरपुर सभा में बोले शाह- ''घुसपैठियों को बाहर निकालने के बाद ही मांगेगे 2024 में वोट''

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned