हिन्डाल्को प्लांट में रेड मड धंसने के बाद बचाव व राहत कार्य जारी,कई के दबे होने की आशंका

रांची लोकसभा क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी संजय सेठ भी आज सुबह मुरी पहुंचे...

By: Prateek

Published: 10 Apr 2019, 03:18 PM IST

(रांची): झारखंड की राजधानी रांची से करीब 70 किलोमीटर दूर स्थित हिन्डाल्को के रेड मड (लाल तालाब) हादसे के बाद आज सुबह एनडीआरएफ की टीम ने राहत और बचाव का काम शुरू किया। मंगलवार की शाम अंधेरे और आवश्यक उपकरणों के अभाव के कारण राहत एवं बचाव कार्य शुरू नहीं किया जा सका था।


एनडीआरएफ की टीम बुधवार को तड़के ही घटनास्थल पर पहुंची और लापता लोगों की तलाश तथा राहत एवं बचाव कार्य में जुट गई। इस दौरान स्थानीय प्रबंधन की ओर मौके पर एक अस्थायी सड़क बनाने का प्रयास किया गया, लेकिन स्थानीय ग्रामीणों ने इसका विरोध किया। स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि इस हादसे में कई वाहनों के साथ सैकड़ों लोग मलबे में दब गए है। हालांकि हिन्डाल्को प्रबंधन ने इससे इंकार किया है। वहीं घटनास्थल पर कई वाहन मलबे में फंसे नजर आ रहे है, जिससे जान-माल की क्षति से इंकार नहीं किया जा सकता है। विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता-कार्यकर्त्ताओं के अलावा सैकड़ों लोग की भीड़ मौके पर एकत्रित है। घटना से स्थानीय लोगों में कंपनी प्रबंधन और प्रशासन के खिलाफ खासी नाराजगी देखी जा रही है।

 

इस बीच रांची लोकसभा क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी संजय सेठ भी आज सुबह मुरी पहुंचे। उन्होंने हिन्डाल्को में हुए हादसे के बारे में पूरी जानकारी ली और राहत एवं बचाव कार्य में लगे अधिकारियों को जल्द से जल्द काम पूरा करने को कहा। साथ ही इस हादसे के बाद से लापता लोगों के बारे में भी जानकारी जुटाने का आग्रह किया। इस मौके पर रांची नगर निगम के उपमहापौर संजीव विजयवर्गी समेत कई भाजपा नेता भी मौजूद थे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned