23 लाख का नई सामग्री खरीदी, उपयोग में ला रहे कबाड़

sachin trivedi

Publish: Apr, 17 2018 02:16:20 PM (IST)

Ratlam, Madhya Pradesh, India
23 लाख का नई सामग्री खरीदी, उपयोग में ला रहे कबाड़

दर से ज्यादा में खरीदी, निगम का तर्क, पोर्टल से की गई खरीदी, बजट सत्र से पहले गरमाई राजनीति, कांग्रेस परिषद में लाएगी विरोध प्रस्ताव

रतलाम। स्वच्छता सर्वेक्षण का परिणाम आने में करीब एक माह का वक्त है, लेकिन शहर को स्वच्छ बनाने के लिए नगर निगम की खरीदी पर विपक्ष हल्ला मचा रहा है। करीब १२ लाख रुपए की लागत वाली सामग्री बाजार दर से ज्यादा पर खरीदी गई है। केन्द्र सरकार के पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन खरीदी में मापदंड ही साफ हो गए। टैक्स का भार तो पड़ा ही पसंद की सामग्री के विकल्प भी कम मिले। वहीं, सामग्री का उपयोग भी बदल गया है। ज्यादातर डस्टबिन के ढक्कन गायब है तो ट्विीनबिन में पानी भरा जा रहा है।

रतलाम नगर निगम ने स्वच्छ शहरों की स्वच्छता रैकिंग में स्थान बनाने के लिए करीब ९० दिनी विशेष कार्ययोजना के दौरान बड़ी संख्या में सामग्री की खरीदी की है। सर्वेक्षण के बाद अब इस खरीदी की प्रक्रिया पर कांग्रेस पार्षदों ने मोर्चा खोल दिया है। नगर निगम के बजट सत्र से पहले कांग्रेस ने करीब १२ लाख की इस खरीदी में मापदंडों पर सवाल उठाते हुए सामग्री की दर को बाजार दर से ज्यादा और टैक्स के भार वाली करार दिया है। कांग्रेस पार्षदों की इस तैयारी के चलते ही परिषद का सम्मेलन तय नहीं हो रहा है। इस संबंध में कांग्रेस पार्षदों के पत्र का भी नगर निगम की ओर से जवाब नहीं दिया जा रहा है। ऐसे में कांग्रेस पार्षद दल बजट सत्र के दौरान इस मुद्दें को जोर-शोर से उठाएगा।

पत्रों का जवाब देने से कतरा रहे निगम अधिकारी
कांग्रेस पार्षद भावना हितेश पैमाल और शांतिलाल वर्मा ने स्वच्छता सर्वेक्षण के दौरान की गई खरीदी, उसका उपयोग और राशि संबंधी ब्यौरा नगर निगम से मांगा है, लेकिन अब तक निगम के अधिकारी पूरा ब्यौरा ही पार्षदों को नहीं दे रहे है। इस संबंध में कांग्रेस के पार्षद स्मरण पत्र के माध्यम से भी अपनी बात रख चुके है। बावजूद इसके खरीदी का ब्यौरा देने में विलंब किया जा रहा है। कांग्रेस पार्षद इसे बजट सत्र के दौरान उठाएंगे।

लाखों की सामग्री के वितरण पर भी सवाल
कांग्रेस पार्षदों ने करीब १२.५० लाख की राशि से खरीदी गई स्वच्छता सामग्री की खरीदी के बाद इनके वितरण और उपयोग पर भी सवाल उठाए है। बजट सत्र के दौरान पार्षद इसका पूरा ब्यौरा नहीं दिए जाने पर संभागायुक्त के माध्यम से जांच की मांग का पत्र भी सौंपने की तैयारी कर रहे है। साथ ही ईओडब्ल्यू मेंं भी मामले की शिकायत की जाएगी।

इस तरह सामग्री खरीदी का गणित
१. ट्विीनबिन: निगम ने करीब १०० ट्विीनबिन की खरीदी केन्द्र सरकार के जेम पोर्टल के माध्यम से की है। इसकी लागत ९००९ रुपए दर्शाई गई है, गुणवत्ता पर सवाल है।
२. हाथ कचरा गाड़ी: निगम ने सर्वेक्षण से पहले १०० हाथ कचरा गाड़ी भी खरीदी है, इसकी कीमत ७५०१.४१ रुपए प्रति गाड़ी दर्शाई गई है, यह बाजार दर से ज्यादा है।
३. डस्टबिन: शहर के ४९ वार्डो में बांटने के लिए १० हजार डस्टबिन खरीदे गए है, इसकी लागत १२३.४० रुपए प्रति डस्टबिन बताई गई है, यह भी बाजार से महंगी है।

खरीदी की जांच हो
हमने बजट सत्र से पहले निगम से स्वच्छता सामग्री खरीदी का पूरा ब्यौरा मांगा है, यह अब तक नहीं मिला है। कई सामग्री बाजार दर से ज्यादा पर खरीदी है, बजट सत्र के दौरान हम इस पूरे मामले को जनता के लिए सार्वजनिक करने की मांग करेंगे।
- यास्मीन शैरानी, नेता प्रतिपक्ष नगर निगम रतलाम
अनियमितता की शिकायत
स्वच्छता सामग्री की गुणवत्ता और खरीदी की राशि की जांच होना चाहिए। पोर्टल के माध्यम से खरीदी और बाजार दर में अंतर है, आर्थिक अनियमितता से भी इनकार नहीं किया जा सकता। कांग्रेस पार्षद इस संबंध में संभागायुक्त को शिकायत करेंगे।
- भावना हितेश पैमाल, पार्षद कांग्रेस

Ad Block is Banned