script300 cows got 56 bhog in Khetalpur Gaushala | खेतलपुर गौशाला में 300 गायों को लगा 56 भोग | Patrika News

खेतलपुर गौशाला में 300 गायों को लगा 56 भोग

- भोग में फलों के साथ ड्रायफ्रूट्स, सब्जियां और मिठाईयां लगी थी काउंटर पर, संस्थापक सदस्य और परिवार की दीक्षा के मौके हुआ आयोजन

रतलाम

Published: March 07, 2022 09:38:01 pm

रतलाम। आमतौर पर शादी समारोह, दावतों या फिर देवालयों में आपने 56 पकवान नजर आते है लेकिन किसी गौशाला में शायद ही किसी नें गायों के लिए ऐसी ही 56 भोग कि दावत देखी होगी। जी हां यह सच है.... कि रतलाम में खेतलपुर गौशाला में बंधी गायों को रविवार के दिन 56 भोग लगा। गायों के लिए तैयार पकवानों में ड्रायफू्रट से लेकर मिठाईयां तक टेबलों पर सजा गई थी जिससे कि गायों को इसे खाने में कोई परेशान नहीं हो।
खेतलपुर गौशाला में 300 गायों को लगा 56 भोग
खेतलपुर गौशाला में 300 गायों को लगा 56 भोग
गायों के लिए आयोजित यह 56 भोग किसी शादी समारोह के रिसेप्शन से कम नजर नहीं आ रहा था। क्यो कि यहां पर पशुओं के अतिरिक्त मन में जीव दया का भाव रखकर सेवा करने वाले कई सारे सेवादार भी यहां पर मौजूद थे। यहां आयोजित कार्यक्रम में करीब 300 गायों के लिए यह भोग तैयार कर सजाया गया था। यहां पर उक्त आयोजन जीव मैत्री परिवार ने किया था।
इसलिए हुआ आयोजन
दरअसल जीव मैत्री परिवार के संस्थापक सदस्य वल्लभ सकलेचा और उनके परिवार की जैन दीक्षा अंगीकार कर रहा है। इसे यादगार बनाने के लिए उक्त परिवार ने खेतलपुर गौशाला की 300 गायों को 56 भोग लगाया। रतलाम का जीव मैत्री परिवार तीन दशकों से सड़कों पर घूमने वाली और गौशालाओं में रहने वाली गायों की सेवा कर रहा है। यह शहर की चार और आस-पास की आधा दर्जन गौशालाओं में चारा-पानी की व्यवस्था करता है। इस ग्रुप के हर सदस्य के परिवार के मांगलिक कार्य की शुरुआत गौशाला से ही होती है और आज भी ऐसा ही कुछ नजारा दिखाई दिया।
इनका कहना है
- जीव मैत्री परिवार के वल्लभ सकलेचा ने 15 वर्ष पूर्व इस संस्था की नीव रखी थी। उनका उद्देश्य जीव मात्र की सेवा करना है। उनकी आगामी दिनों में उनका पूरा परिवार दीक्षा ले रहा है, उनके परिवार की विदाई के संदर्भ में खेतलपुर धर्मशाला में छप्पन भोग का आयोजन किया गया है। सभी गोवंश के लिए ५६ प्रकार के व्यंजन एेसे रखे गए है जिससे कि गौ माता को नुकसान न पहुंचे उन्हे तैयार उसका आहार उन्हे कराया गया है।
प्रकाश लोढ़ा, सदस्य जीव मैत्री परिवार
जीव दया हम सभी का कर्तव्य
- कोई भी नया आयोजन सभी के उत्साह में अच्छी वृद्धि करता है। आज के 56 भोग के आयोजन का उद्देश्य सिर्फ यहीं था कि जीव दया हम सभी लोगों का कर्तव्य है, सभी लोग इससे जुडे़। हम जितनी सेवा कर सकते है करें, आज के आयोजन का उद्देश्य सिर्फ यहीं है कि सभी लोग कुछ समय जीव दया से के लिए निकाले। लगभग पांच गौशालाओं में रोज सेवाएं देजते है। इसके अतिरिक्त मालवा क्षेत्र की अन्य गौशालाओं में जरूरत पडऩे पर जाने का प्रयास करते है।
अमृत जैन, सदस्य जीव मैत्री परिवार

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीश्योक नदी में गिरा सेना का वाहन, 26 सैनिकों में से 7 की मौतआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानतRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चआजम खान को सुप्रीम कोर्ट से फिर बड़ी राहत, जौहर यूनिवर्सिटी पर नहीं चलेगा बुलडोजरMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.