40 मरीजों की गर्मी भगा रहा है एक कूलर

40 मरीजों की गर्मी भगा रहा है एक कूलर

kamal jadhav | Publish: May, 08 2019 12:10:10 PM (IST) | Updated: May, 08 2019 12:10:11 PM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

40 मरीजों की गर्मी भगा रहा है एक कूलर

रतलाम।पिछले माह के अंतिम सप्ताह से ही पारा ४० डिग्री सेल्सियस से ऊपर ही बना हुआ है और जिला अस्पताल में मरीजों की संख्या कम नहीं हो रही है। वार्डों में क्षमता से ज्यादा भर्ती मरीजों को गर्मी से राहत देने के लिए लगाए गए पंखे भी कोई असर नहीं कर पा रहे हैं। यहां भर्ती कई मरीजों के परिजनों को अपने घरों से पंखे लाकर मरीजों को गर्मी से राहत देने का प्रयास किया जा रहा है। अस्पताल प्रशासन भी अपने कत्र्तव्य को बस पूरा करता दिख रहा है। 25 से 30 बेड के वार्डों में 40 से ज्यादा मरीज भर्ती है और इन्हें गर्मी से राहत देने के लिए अस्पताल ने जो कूलर लगवाए हैं वे असफल होते दिख रहे हैं। पांच सौ बेड के अस्पताल में इससे ज्यादा ही मरीज भर्ती रहते हैं। कई बार मरीजों की संख्या इतनी हो जाती है कि वार्डों के बरामदों में भी ग²े लगाकर इलाज देना पड़ जाता है।

१० बाय १० के कमरे के लिए काफी

जिला अस्पताल के वार्डों में भर्ती मरीजों को गर्मी से राहत देने के लिए अस्पताल प्रशासन की तरफ से लगाए गए कूलर इतने छोटे हैं कि वे अपने आसपास के मरीजों तक को ठंडी हवा नहीं दे पा रहे हैं तो पूरे वार्ड के मरीजों के लिए कैसे राहत देने वाले हो सकते हैं। इन कूलर की साइज इतनी छोटी है कि वे 10 बाय 10 के कमरे के लिए ठीक रहे जा सकते हैं जबकि बड़े हॉल में तो ये कूलर किसी भी दृष्टिकोण से काफी नहीं है। एक कमरे के लिए नाकाफी ये छोटे कूलर इतने बड़े वार्ड में भर्ती 40 मरीजों और उनके परिजनों को कैसे गर्मी से राहत दे सकते हैं।समस्या सामने आने लगी जिला अस्पताल के वार्डों में लगे कूलरों में पानी देने की समस्या खड़ी हो गई है। अस्पताल दिन में कई बार इनमें पानी डालना पड़ता है और हालत यह है कि कई बार ये बिना पानी के ही चलते रहते हैं। जिला अस्पताल में दानदाताओं की मदद से 40 कूलर लगाए गए हैं जबकि अस्पताल प्रशासन की तरफ से भी 20 कूलर लगाने की बात कही जा रही है। ये डॉक्टरों के चैंबरों सहित वार्डों में लगे हैं लेकिन ज्यादातर बिना पानी के ही चलते रहते हंैं। अस्पताल प्रशासन मरीजों के लिए पर्याप्त पानी की व्यवस्था नहीं कर पा रहा है तो इन कूलरों में पानी कहां से लाएगा।

 

-----------

कूलर लगाए हैं, पंखे भी बढ़ाएंगेवार्डों में मरीजों और उनके परिजनों संख्या इतनी ज्यादा होती है कि वर्तमान में लगे पंखे कम पडऩे लगे हैं। ऊपर से गर्मी से दिक्कत होना स्वाभाविक है। हमने दानदाताओं की मदद से ४० कूलर की व्यवस्था की है लेकिन वार्ड इतने बड़े हैं कि इनमें एक-दो कूलर से कुछ नहीं होता। हम वार्डों में पंखों की संख्या बढ़ा रहे हैं जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को पंखों की हवा मिल सके।

डॉ. आनंद चंदेलकर, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned