VIDEO मिली भगत कृषि उपज मंडी के जिम्मेदार करवा रहे बिजली चोरी, रोशन हो रहा था रेस्टोरेंट कार्यवाही

VIDEO मिली भगत कृषि उपज मंडी के जिम्मेदार करवा रहे बिजली चोरी, रोशन हो रहा था रेस्टोरेंट कार्यवाही

By: Gourishankar Jodha

Updated: 19 Jan 2019, 01:59 PM IST

रतलाम। मिली भगत कहे या सांठगांठ से महू-नीमच रोड स्थित कृषि उपज मंडी के विद्युत ट्रांसफॉर्मर से सीधे वायर लगाकर अरिहंत परिसर रोड स्थित ऋतुराज रेस्टोरेंट संचालक द्वारा बिजली चोरी करने का मामला प्रकाश में आया है। बिजली कम्पनी के सहायक यंत्री ने कर्मचारियों के साथ रेस्टोरेट पर दबिश देकर चोरी में उपयोग किए जा रहे पीले रंग के वायर को जब्त कर संबंधित के खिलाफ पंचनामा तैयार किया। अधिकारी ने जब मौके पर उपस्थित महिला से पंचनामे पर हस्ताक्षर करने को कहा तो, उसने अधिकारियों पर भेदभाव पूर्ण कार्रवाई का आरोप लगाते हुए कहा कि मैरे पड़ोस में भी चोरी की बिजली का उपयोग हो रहा है, उस पर कार्रवाई नहीं कर रहे हो, हमने तो मंडी अध्यक्ष प्रकाश भगौरा से बातकर कनेक्शन लिया था, उनसे लिखवाकर दूंगी। मैं हस्ताक्षर नहीं करूंगी। इसके बाद बिजली कम्पनी के कर्मचारियों ने वायर एकत्रित किया और चले गए। कार्रवाई भारसाधक अधिकारी एसडीएम प्रवीण फूलपगारे के निर्देश पर की गई थी।


कृषि उपज मंडी के अंदर लगे ट्रांसफॉर्मर से करीब एक माह से बिजली चोरी करने का मामला सामने आया। मंडी सहायक सचिव एसएन गोयल ने बताया कि गत रात्रि में सुरक्षाकर्मियों को मंडी की डीपी के पास वायर लपटे दिखे थे। इसके बाद चोरी की शंका होने पर वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया, जिस पर मंडी की डीपी से ढाबा संचालक द्वारा बिजली चोरी करना पाया गया। कार्रवाई के दौरान सहायक यंत्री विद्युत वितरण कम्पनी अनिकेता विन्चुरकर, सहायक सचिव एनएस गोयल, सुरक्षाकर्मी भुपेंद्रसिंह और बिजली कम्पनी के कर्मचारी पहुंचे थे।

-

हमने मंडी अध्यक्ष से अनुमति ली है

ऋतुराज रेस्टोंरेट पर उपस्थित महिला सीमा ने बताया कि मंडी से अनुमति लेकर बिजली जला रहे है, और जो भी बिल आएगा हम भर देंगे। मंडी में प्रकाश भगौरा अध्यक्ष से अनुमति ली हैे। कॉलोनी अविकसित है, इसलिए मीटर नहीं लगा है। पड़ोस में भी बगैर अनुमति के चल रहा है, उस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई, मंैं तो अनुमति लेकर चला रही हूं। मैडम ने उसे देख कर भी अनदेखा किया है।

 

मंडी की बिजली चोरी करते पकड़ा, पंचनामा बनाया

मंडी के अंदर की डीपी से ऋतुराज रेस्टोंरेट संचालक द्वारा पीले रंग तार अवैध रूप से जोड़ कर बिजली चोरी की जा रही थी। जिसे मौके पर चेकिंग कर पकड़ा और पंचनामा बनाया है। मंडी भारसाधक अधिकारी के निर्देशों के बाद जांच कर कार्यवाही की गई। उक्त महिला बार-बार मंडी अध्यक्ष से अनुमति लेने की बात कहकर फोन लगवा रही थी, जब अनुमति मांगी तो कुछ भी नहीं था। रेस्टोरेंट पर लगभग २ किलो वॉट की बिजली चोरी की जा रही थी, अब बिलिंग करेंगे।

अनिकेता विन्चुरकर, सहायक यंत्री मप्र विद्युत वितरण कम्पनी, शहर संभाग, रतलाम

इनका कहना...
हमको जानकारी मिली थी कि डीपी में किसी ने कनेक्शन जोड़ लिया है और बिजली चोरी की जा रही है। हमने इस संबंध में हमारे भारसाधक अधिकारी को अवगत कराया था। बिजली कम्पनी द्वारा कार्रवाई की गई है। मंडी में ऐसा कोई रिकार्ड उपलब्ध नहीं है कि अध्यक्ष द्वारा अनुमति दी थी और हमारा कोई राइट भी नहीं है कि हम किसी अन्य को बिजली दे सकते हैं, नियमानुसार पड़ोसी तक को बिजली नहीं दे सकते हैं।

एमएल बारसे, सचिव कृषि उपज मंडी, समिति रतलाम

patrika
Gourishankar Jodha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned