Big News: मध्यप्रदेश में संघ पदाधिकारी का बेटा चल रहा था नकली पाइप फैक्ट्री

भाजपा शासन वाले हिमाचल प्रदेश की कंपनी की शिकायत पर दबिश

By: sachin trivedi

Published: 13 Jul 2019, 01:27 PM IST

रतलाम. रतलाम जिले के जावरा औद्योगिक थाना पुलिस ने रतलाम नाका स्थित औद्योगिक क्षेत्र में संचालित जेके रबर फैक्ट्री पर छापामार कार्रवाई की है। फैक्ट्री में भाजपा की सरकार वाले राज्य हिमाचल प्रदेश में बनने वाले सुरक्षा एलपीजी होज पाइप की नकल करके पाइप तैयार किए जा रहे थे। यहां से बड़ी मात्रा में हौज पाइप, मशीनें तथा कच्चा माल मिला है। फैक्ट्री से करीब 50 लाख रुपए का माल जब्त किया गया है। पुलिस ने फैक्ट्री को सील कर मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया। फैक्ट्री का मालिक संघ के पदाधिकारी का बेटा कपिल पटेल है और वह फरार है।

गोदाम और फैक्ट्री परिसर में दबिश
सीएसपी अगम जैन ने बताया कि वंश इन्ड्रस्ट्रीज, किशनपुरा बद्दी हिमाचल प्रदेश के जनरल मैनेजर मनोज कुमार साहू पिता प्रफुल्ल साहू ने औद्योगिक थाने पर आवेदन देकर बताया कि जावरा के औद्योगिक क्षेत्र में जेके रबर इंडस्ट्रीज के संचालकों द्वारा वंश इंडस्ट्रीज के नाम से नकली एलपीजी होज पाइप बनाए जा रहे हैं। इस पर कार्रवाई करते हुए थाना प्रभारी बीएल सोलंकी के नेतृत्व में उप निरीक्षक विजय सनस और मधु राठौर ने दल बनाकर फैक्ट्री व गोदाम पर दबिश दी। जहां पुलिस ने वंश इंडस्ट्रीज हिमाचल प्रदेश के नकली सुरक्षा एलपीजी होज पाइप बनते हुए मिले। पाइप पर नकली आईएसआई मार्का भी लगाया जा रहा था।

patrika

मैनेजर ने उगल दिए कई अहम राज
कार्रवाई के दौरान पुलिस ने मैनेजर अमृतलाल पाटीदार पिता मगनलाल पाटीदार निवासी रपट रोड़ को गिरफ्तार कर लिया। फैक्ट्री से नकली पाइप, पाइप बनाने की मशीन, पाइप बनाने की सामग्री, नकली पैक किए हुए एलपीजी होज पाइप सहित करीब पचास लाख रुपए का सामान जब्त किए। मैनेजर ने बताया कि उक्त फैक्ट्री का संचालक कपिल पटेल पिता शंकरलाल पटेल निवासी रपट रोड, जावरा है, जो पुलिस कार्रवाई के बाद से फरार है। कपिल के पिता शंकरलाल पटेल संघ के पदाधिकारी हैं। पुलिस ने आरोपी अमृतलाल पाटीदार को न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।

पिछले चार सालों से चल रहा कारोबार
सीएसपी जैन ने बताया कि इस नकली होज पाइप बनाने की फैक्ट्री आरोपियों द्वारा पिछले चार साल से चलाई जा रही है। फैक्ट्री से नकली पाइप के व्यापार संबंधी दस्तावेज भी जब्त हुए है, स्पष्ट होता है कि इनका कारोबार अन्य राज्यों में भी फैला हुआ है। संभवत: शहर की गैस एजेंसियों व अन्य दुकानों पर भी इनके बनाए नकली पाइप हो सकते है। इसके लिए भी विस्तृत जांच की जाएगी।

patrika

होगी अन्य फैक्ट्रियों की जांच
सीएसपी जैन ने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र में फैक्ट्री चलाने के लिए उद्योग विभाग ने किस वस्तु के निर्माण के लिए लाइसेंस जारी किया था, जिस जमीन पर फैक्ट्री संचालित थी, वह जमीन भी किसने नाम पर है इन सभी बिंदुओं पर पुलिस जांच करेगी। वहीं औद्योगिक क्षेत्र में संचालित होने वाली सभी फैक्ट्रियो की सूची मंगवाकर उन्हें सूचना पत्र भेजे जाएंगे।

sachin trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned