अमित शाह के आने से पहले भाजपा नेताओं को बांड-ओवर नोटिस

अमित शाह के आने से पहले भाजपा नेताओं को बांड-ओवर नोटिस

Sachin Trivedi | Publish: Oct, 06 2018 01:27:57 PM (IST) | Updated: Oct, 06 2018 01:27:58 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

अमित शाह के आने से पहले भाजपा नेताओं को बांड-ओवर नोटिस

रतलाम. मालवा में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के आने से पहले पार्टी में हड़कंप मच गया है। नीमच जिले के जावद विधानसभा क्षेत्र में प्रशासन ने भाजपा नेताओं के नाम बांड-ओवर नोटिस जारी कर दिए है। इसे भाजपा की अंदरूनी राजनीति से भी जोड़ा जा रहा है, विशेषकर भाजपा विधायक ओमप्रकाश सखलेचा विवाद में आ गए है। मालूम हो कि भाजपाध्यक्ष शाह रतलाम जिले के जावरा में आज अपरान्ह 4 बजे संभागीय किसान सम्मेलन को संबोधित करने आ रहे है। उनके साथ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान भी होंगे और इसमें रतलाम सहित संभाग की सभी 29 विधानसभा सीटों से जुड़े किसानों को लाने का दावा किया गया है, सभा कॉलेज मैदान पर होना है।

13 लोगों पर बांड-ओवर नोटिस की कार्रवाई विवादों के घेरे में आ गई

चुनावी तैयारियों के दौर में पुलिस-प्रशासन ने कानून व्यवस्था का हवाला देकर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई शुरू की है, लेकिन जावद में राजनीतिक दलों व सामाजिक संगठनों से जुड़े १३ लोगों पर बांड-ओवर नोटिस की कार्रवाई विवादों के घेरे में आ गई है। कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताया जा रहा है और विधायक पर भी आरोप लगाए गए हैं। हालांंंकि विधायक ने कार्रवाई में खुद की भूमिका से इंकार किया है। महत्वपूर्ण यह भी है कि जिन लोगों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई हुई हैं उनमें से अधिकांश भाजपा के पदाधिकारी रहे हैं या वर्तमान में भी हैं। थाना प्रभारी जावद ओपी मिश्रा ने थाना क्षेत्र के 13 नागरिकों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए न्यायालय कार्यपालिक दंडाधिकारी परगना जावद जिला नीमच के समक्ष इस्तगासा क्र्रमांक 1400, १९-9-2018 पेश किया है। इसमें बताया कि करणी सेना व सपाक्स के अध्यक्ष, कार्यकर्ता विगत करीबन 2 माह से कस्बा जावद एवं आसपास के क्षेत्र में एससी-एसटी एक्ट के विरुद्ध रैली, प्रदर्शन व जुलूस निकालकर अपना विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। जिससे जावद एवं आसपास के क्षेत्र में शांति भंग होने की पूर्ण संभावना है। शांति एवं सुरक्षा की दृष्टि से इनके विरुद्ध धारा 107,116 (३) जाब्ता फौजदारी का इस्तगासा तैयार कर जमानत मुचलके लिए जाकर बांड ओवर किए जाने के लिए प्रेषित है।

भाजपा विधायक की भूमिका पर संदेह, लगाए आरोप
मामले में तहसीलदार जावद ने प्रकरण क्रमांक 48 9,2018 अंतर्गत धारा 111 जा.फो. में करणी सेना के गिरिराजसिंह पिता हरिसिंह राजपूत निवासी आकली, चेत्रपालसिंह पिता गोरधनसिंह निवासी आकली, प्रतापसिंह पिता हरिसिंह राजपूत, शक्तिसिंह पिता हरिसिंह राजपूत निवासी रूपपुरा एवं सपाक्स के विजय पिता भगवानदास मुछाल, दिलीप पिता बद्रीलाल बांगड़, जिनेन्द्र पिता धनपाल बागडिय़ा, सुनील पिता मन्नालाल बिकानेरिया, राजेश पिता झमकलाल बिकानेरिया, जितेंद्र पिता कमल ग्वाला, बलराम पिता मोहनलाल मूलचंदानी, सतीश पिता भवरलाल चोपड़ा सभी निवासी जावद एवं सुखलाल पिता बंशीलाल सेन निवासी तारापुर के खिलाफ कार्रवाई की गई है। आरोप लगाया जा रहा है कि इस कार्रवाई के पीछे विधायक ओमप्रकाश सकलेचा की भूमिका है। हालांकि विधायक ने इससे साफ इंकार किया है।

भाजपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष व पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष को भी नोटिस
जिन 13 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है उनमें से अधिकांश भारतीय जनता पार्टी में विभिन्न पदों पर कार्य रहे हैं या कर चुके हैं। इनमें सुखलाल सेन भाजपा के जिला महामंत्री रहे हैं और वर्तमान में मुख्यमंत्री जन कल्याण प्रकोष्ठ के जिला संयोजक हैं। सेन समाज के जिलाध्यक्ष भी रहे हैं। विजय मुछाल पूर्व में भाजपा के जिला उपाध्यक्ष रह चुके हैं। वर्तमान में वैश्य समाज के तहसील अध्यक्ष व सपाक्स के तहसील संरक्षक एवं लक्ष्मीनाथ मंदिर के ट्रस्टी हैं। सुनील बिकानेरिया जावद नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं। वर्तमान में जैन तेरापंथ समाज जावद के अध्यक्ष हैं। सतीश चोपड़ा पूर्व में भाजयुमो के तहसील कोषाध्यक्ष रह चुके हैं। वर्तमान में समाजसेवा के क्षेत्र में सक्रिय हैं। जिनेंद्र बागडिय़ा दिगंबर समाज के प्रमुख कार्यकर्ता हैं। वर्तमान में सरस्वती शिशु मंदिर जावद एवं आर्य समाज एवं संस्कार केंद्र जावद के सचिव हैं। दिलीप बांगड़ माहेश्वरी समाज जावद के अध्यक्ष व लक्ष्मीनाथ मन्दिर के ट्रस्टी हैं। बलराम मूलचंदानी भारत विकास परिषद जावद के कार्यकर्ता हैं। राजेश बिकानेरिया एवं जितेंद्र ग्वाला भी जावद में समाज सेवा में हैं। गिरिराजसिंह राजपूत, चेत्रपालसिंह राजपूत, प्रतापसिंह राजपूत, शक्तिसिंह राजपूत ये सभी किसान परिवार से होकर करणी सेना के सक्रिय कार्यकर्ता हैं। भाजपा या सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों पर अचानक की गई प्रतिबंधात्मक कार्रवाई लोगों के गले नहीं उतर रही है। इस कार्रवाई से आक्रोश भी पनप रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned