सेतुु निर्माण विभाग के ब्रिज की हाइट को लेकर बढ़ा विरोध

सेतुु निर्माण विभाग के ब्रिज की हाइट को लेकर बढ़ा विरोध

Akram Khan | Publish: Jun, 15 2019 05:38:11 PM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

सेतुु निर्माण विभाग के ब्रिज की हाइट को लेकर बढ़ा विरोध

रतलाम। जावरा के मध्य बहने वाले पीलिया खाल पर रपट रोड़ स्थित पुलिया के जर्जर होने के बाद इसे तोड़कर नवीन पुल का निर्माण किया जाना प्रस्तावित था, लेकिन विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव की आचार संहिता तथा नगर पालिका द्वारा ब्रिज पर डली पेयजल पाइप लाइन शिफ्ट नहीं होने के चलते ब्रिज निर्माण खटाई में पड़ गया था। नपा ने पखवाड़े भर पहले पाइप लाइन शिफ्ट की, फिर ब्रिज का निर्माण कार्य प्रारंभ किया।

शुक्रवार को क्षेत्र के कुछ रहवासियों ने ब्रिज की हाईट अधिक होने को लेकर मौके पर पहुंचे ओर विरोध दर्ज कराया। मौके पर ठेकेदार ही मौजूद था, सेतु विभाग के अधिकारी ओर विधायक से भी रहवासियों ने मोबाईल पर चर्चा की तो उन्होने भी ब्रिज निर्माण को सही ठहराते हुए किसी भी प्रकार की ब्रिज पर आवागमन में परेशानियां आमजनों को नहीं होना का आश्वासन दिया, हालांकि विरोध के बावजूद ब्रिज निर्माण कार्य ठेकेदार ने जारी रखा।

रपट रोड़ स्थित पुलिया जो कि काफी पुरानी होकर जर्जर अवस्था में पहुंच गई थी, वहीं पुलिया ने काफी नीचे होने से बारिश के दिनों में आए दिए पूल पर पानी होने की दशा में आवागमन अवरुद्ध हो जाता था, जिससे रपट के आसपास बने मालीपुरा क्षैत्र के रहवासियों को खासी परेशानी होती थी, रहवासियो की इस परेशानी को दूर करने के लिए शासन ने करीब 2 करोड़ 79 लाख 38 हजार रुपए की लागत से सेतु विकास विभाग द्वारा रपट रोड़ पर बने पुराने ब्रिज को तोड़कर उसके स्थान पर नया ब्रिज प्रस्तावित किया।
हालांकि ब्रिज निर्माण का कार्य विधानसभा चुनाव की आचार संहिता से पहले होना था, लेकिन पुराने ब्रिज पर नपा की पेयजल पाइप लाइन से काम शुरू नहीं हो पाया था। अब काम शुरू हुआ तो हाईट अधिक को लेकर रहवासी विरोध दर्ज करा रहे हैं, रहवासियों का कहना है कि ब्रिज की 16 फीट की हाइट दी जा रही है जिसे 2 फीट कम किया जाए। 55 मीटर के इस पुल पर 3 मीटर पर ढलान दिया जा रहा है। इस ढलान पर तीन रास्ते बड़ा मालीपुरा, नया मालीपुरा और जुलाहीपुरा की आवाजाही रहेगी, तीनों ही रास्ते ढलान के कारण प्रभावित होंगे।

नहीं आएगी समस्या
रहवासियों से जानकारी प्राप्त होने के बाद ब्रिज मामले में सेतु विभाग के अधिकारी से विस्तृत से चर्चा हुई है। मार्ग की सुगमता, आने-जाने का रास्ता, सभी बिन्दुओं पर विभाग के अधिकारियों से चर्चा की है। सभी सामान्य तरीके से अच्छा रहेगा। ब्रिज निर्माण का कार्य डिजाईनिंग के आधार पर ही किया जा रहा है ओर उसमें इस प्रकार की कोई कठिनाई नही आएगी, जिससे की आवगमन बाधित हो अर्थात किसी का प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से कोई अहित हो।
- डॉ. राजेन्द्र पाण्डेय, जावरा विधायक

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned