केंद्रीय कर्मचारियों ने नारेबाजी कर कार्यालयों में लगाए ताले

देशव्यापी हड़ताल के तहत केंद्र सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों का जताया विरोध, 21 सूत्रीय मांग पत्र पर

By: vikram ahirwar

Published: 17 Mar 2017, 05:41 PM IST


रतलाम। केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ केंद्रीय कर्मचारियों ने गुरुवार को अपने-अपने कार्यालय में ताले लगाकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। एक दिन की हड़ताल भी रखी गई जिससे इन कार्यालयों का कार्य बुरी तरह प्रभावित हुआ।

डाक-तार विभाग, आरएमएस के साथ ही आयकर विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों ने यह प्रदर्शन किया। इस दौरान कर्मचारी नेताओं ने हड़ताली अधिकारियों व कर्मचारियों को संबोधित कते हुए कहा कि सरकार दमनकारी नीतियां अपनाती है तो सभी कर्मचारियों को मैदान में आना पड़ेगा।

डाक विभाग

मुख्य डाकघर पर सुबह कर्मचारियों व अधिकारियों ने ताले लगाकर जमकर नारेबाजी की। कर्मचारियों का कहना था कि सरकार कर्मचारियों का अहित करने की नीतियां अपना रही है। केंद्र सरकार वादाखिलाफी करके इन नीतियों पर चल रही है जिससे कर्मचारी जगत में आक्रोश है। पीटीसी बड़ौदरा में भी कर्मचारी हड़ताल पर रहे। यहां टीआर मारु के नेतृत्व में कर्मचारियों ने हड़ताल की। इधर मुख्य डाकघर के बाहर प्रदर्शन करने वालों में एलके मि_नखेड़ीवाला, निरंजन गिरी, आरके तिजारे, डीके जायसवाल, आईएल पुरोहित, जेसी निनामा, एसएस निगम सहित बड़ी संख्या में कर्मचारी मौजूद थे।

Central employees Sloganeously Offices Locks in

आयकर विभाग

केंद्रीय कर्मचारियों की समनन्वय समिति की देशव्यापी हड़ताल के आह्वान पर आयकर कार्यालय के अधिकारी व कर्मचारी हड़ताल पर रहे। यहां आयकर कर्मचारी महासंघ, आयकर राजपत्रित अधिकारी संघ के सभी अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे। इनमें विनयकुमार राय, विवेक सिरपुरकर, एआर डाबिया, बीएल वर्मा, शांतिलाल शर्मा, सत्यदेव शर्मा, यूके प्रधान, नीरजकुमार निपु, अमित वाजपेयी, विनयकुमार, मुकेशकुमार आसुदानी, एचएन जोशी, अश्विनी शर्मा, आईएल पुरोहित आदि मौजूद रहे। कर्मचाािरयों का कहना था कि सरकार प्रताडऩा की नीतियां बंद करे।
vikram ahirwar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned