scriptchandan ped chori | मध्यप्रदेश के रतलाम में चंदन चोर सक्रिय | Patrika News

मध्यप्रदेश के रतलाम में चंदन चोर सक्रिय

रेलवे कॉलोनी में जिस रात गश्त नहीं, उसी रात कटे तीन चंदन पेड़, डीजलशेड के मंडल इंजीनियर सहित तीन के यहां काटे, चौथे में आरी चलाई, बाइक आती दिखी तो भाग गए चोर, आरपीएफ को मिले अहम सुराग

रतलाम

Updated: January 11, 2022 08:44:45 pm

रतलाम. मध्यप्रदेश के रतलाम में चंदन पेड़ के चोर सक्रिय हो गए है। रतलाम रेल मंडल के अंतर्गत आने वाली रेलवे कॉलोनी में लगातार चोरियों की वारदात हो रही है। बड़ी बात यह है कि जीआरपी इन मामलों को हल करने में फिसड्डी साबित हो रही है।
chandan ped chori
chandan ped chori
रेलवे कॉलोनी में एक वरिष्ठ अधिकारी के बंगले सहित तीन रेल आवास में चंदन चोरों ने रविवार - सोमवार की रात तीन चंदन पेड़ काट चोरी कर लिए। एक और आवास में चोर गए, लेकिन बाइक आती देख भाग गए। बड़ी बात यह जहां यह घटना हुई, वहां हर रात आरपीएफ की गश्त रहती है, बस जिस रात चोरी हुई, उसी रात आरपीएफ इसलिए मौजुद नहीं थी, क्योंकि इनके चार जवान कोरोना पॉजिटीव आ गए। दावा किया जा रहा है कि आरपीएफ-जीआरपी को अहम सुराग मिले है। बता दे इसके पूर्व 29 दिसंबर को भी चंदन पेड़ की चोरी की वारदात हुई थी।
यहां हुई चोरी


आरपीएफ से मिली जानकारी के अनुसार राजधानी ट्रेन के चालक दुर्गाशंकर के पुरानी रेल कॉलोनी, रोड नंबर १० पर चंदन का एक पेड़ काटकर अज्ञात चोर चोरी कर ले गए। दुर्गाशंकर के करीब ही रहने वाले एक अन्य रेल कर्मचारी के यहां भी चंदन पेड़ चोरी की घटना हुई। इन दो रेल आवास के साथ - साथ डीजलशेड में पदस्थ रेल मंडल में मैकेनिकल इंजीनियर दीपक अहिरवार के बंगले से भी चोर चंदन पेड़ ले गए।
सूचना के बाद हड़कंप

चोरी की घटना के बारे में सोमवार सुबह रेल कर्मचारियों को पता तब चला जब वे सुबह सोकर उठे। इसके बाद जीआरपी व आरपीएफ को सूचना दी गई। चंदन पेड़ चोरी की जानकारी मिलने के बाद हड़कंच मच गया। सूचना मिलने के बाद जीआरपी व आरपीएफ के आला अधिकारी पहुंचे व रेल कर्मचारियों के बयान लिए है। फिलहाल चोरी का कोई सुराग जीआरपी व आरपीएफ को नहीं लगा है।
जब जवान नहीं, उसी रात चोरी

चोरी की इस घटना ने कई सवाल खड़े कर दिए है। रेलवे कॉलोनी की रोड नंबर 10 से लेकर 12 नंबर पर जहां चंदन पेड़ चोरी हुए है, वहां प्रतिदिन रात में आरपीएफ की गश्त रहती है। शनिवार - रविवार को चार जवानों के कोरोना संक्रतिम होने से रविवार - सोमवार रात आरपीएफ की गश्त ड्यूटी नहीं थी। ऐसे में सब सवाल उठ रहे है, चंदन चोरों को इस बारे में कैसे पता चला की गश्त नहीं है।
हर साल चार से पांच बार चोरी

रेलवे कॉलोनी में सबसे अधिक चंदन पेड़ है। हर साल चार से पांच बार चंदन पेड़ की चोरी होती है, लेकिन अब तक एक बार भी चोर तक पुलिस नहीं पहुंच पाई है। इतना ही नहीं, रेलवे कॉलोनियों में 2020 से लेकर अब तक जितनी अन्य चोरियां हुई, उस मामले में भी जीआरपी के हाथ खाली ही है।
सघन तलाश जारी

चंदन पेड़ चोरी की घटना को जीआरपी ने गंभीरता से लिया है। चोरों की सघनता से तलाश जारी है। कुछ सूराग मिले है, जल्दी खुलासा किया जा सकता है।

- निवेदिता गुप्ता, एसआरपी इंदौर
railway news
IMAGE CREDIT: patrika

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

2 बच्चों के पिता और 47 साल के मर्द पर फ़िदा है ‘पुष्पा’ की 25 साल की एक्ट्रेस, जाने कौन है वोशादी के बाद पत्नी का ये रुप देखकर बढ़ गई पति और ससुर की टेंशन, जान बचाने थाने भागे100-100 बोरी धान लेकर पहुंचे थे 2 किसान, देखते ही कलक्टर ने तहसीलदार से कहा- जब्त करोNew Maruti Wagon R : अनोखे अंदाज में आ रही है आपकी फेवरेट कार, फीचर्स होंगे ख़ास और मिलेगा 32Km का माइलेज़फरवरी में मकर राशि में ग्रहों का महासंयोग, मेष से लेकर मीन तक इन राशियों को मिलेगा लाभMaruti Brezza CNG इस महीने होगी लॉन्च, नए नाम के साथ मिलेगा 26Km से ज्यादा का माइलेज़फरवरी में इन राशियों के जातक अपने प्रेम का कर सकते हैं इजहार, लव मैरिज के शुभ योगराजस्थान में यहां JCB से मिलाया 242 क्विंटल चूरमा, 6 क्विंटल काजू बादाम किशमिश डाले

बड़ी खबरें

दर्दनाक हादसा- नदी में समा गई 14 लोगों से भरी जर्जर नाव; कई बच्चे लापताइजरायल के साथ भारत की 'Pegasus डील' की रिपोर्ट आधारहीन- सरकारी सूत्रों का दावारीट पेपर लीक होने से पहले बाजार में लगी थी बोली, मिला उसे जिसने लगाए सबसे ऊंचे दामरीट पेपर लीक मामलाः डीपी जारोली पर गिरी गाज, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से किया बर्खास्तमहाराष्ट्र: गांधीधाम पुरी एक्सप्रेस में लगी आग, यात्रियों में हड़कंपBudget 2022: दोनों सदनों में 31 जनवरी और 1 फरवरी को नहीं होगा शून्यकाल, जानें वजहUttarakhand Assembly Elections 2022: दो दशक में पहली बार हरक सिंह रावत को नहीं मिला टिकट, जानें क्योंये है भारत की सबसे अमीर राजनीतिक पार्टी, जानें बीजेपी, सपा, बसपा व कांग्रेस के पास है कितनी संपत्ति
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.