Election 2018 : ये हैं रतलाम शहर के चेंजमेकर और भाजपा-कांग्रेस दावेदार, देखें क्या है इनकी प्राथमिकताए

Election 2018 : ये हैं रतलाम शहर के चेंजमेकर और भाजपा-कांग्रेस दावेदार, देखें क्या है इनकी प्राथमिकताए

harinath dwivedi | Publish: Oct, 11 2018 10:29:09 PM (IST) | Updated: Oct, 11 2018 10:29:10 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

ये हैं रतलाम शहर के चेंजमेकर और भाजपा-कांग्रेस दावेदार, देखें क्या है इनकी प्राथमिकताए

रतलाम। विधानसभा चुनाव के दौरान स्वच्छ राजनीति, बदलाव के नायक और पत्रिका चेंजमेकर अभियान के अंतर्गत आज हम रतलाम शहर के पत्रिका के चेंजमेकर और भाजपा तथा कांग्रेस के विधानसभा के संभावित दावेदारों को आपके सामने रख रहे हैं। इन चेंजमेकर और दोनों प्रमुख दलों के संभावित दावेदारों की शहर को लेकर प्राथमिकताएं क्या है। इसे हम यहां बताने जा रहे हैं।

पत्रिका चेंजमेकर

राधावल्लभ खंडेलवाल

शहर की सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता शिक्षा, स्वास्थ्य और भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन होना चाहिए। यही हमारी प्राथमिकता है कि हर सरकारी स्कूल में उच्चस्तर की शिक्षा प्रदान होना चाहिए। वर्तमान में शिक्षा का स्तर इतना कमजोर है कि आम व्यक्ति भी अपने बच्चे को निजी स्कूल में दाखिला दिलाना चाहता है। हमारा प्रयास होगा कि शहर के सभी सरकारी स्कूलों में नैतिक और व्यवहारिक शिक्षा प्रदान की जाए। स्वास्थ्य का जहां तक सवाल है तो जिला अस्पताल में घंटों इंतजार के बाद भी लोगों को इलाज नहीं मिलता है। मिलता भी है तो वह केवल काम चलाऊ होता है। आए दिन मेंटेनेंस के नाम पर की जाने वाली अघोषित बिजली कटौती से निजात दिलाई जाएगी। जहां आवश्यक होगा वहीं कटौती कराएंगे। सब गलत कामों की जड़ भ्रष्टाचार है। सरकारी दफ्तरों में भ्रष्टाचार चरम पर है। इसे बंद करवाना और समय सीमा में हर काम करवाना पहली प्राथमिकता होगी। चुनावों में धनबल और बाहुबल को खत्म किया जाएगा जिससे भ्रष्टाचार पर भी अकुंश लगेगा।

 

प्रदीप छिपानी

पत्रिका के चेंजमेकर और बदलाव के नायक रतलाम शहर के प्रदीप छिपानी का मानना है कि रतलाम शहर के लिए छोटे बडे उद्योग खोले जाएं। शहर में सेव, सोना, डेयरी, मावा उद्योग स्थापित किए जाना चाहिए जिससे इन प्रमुख वस्तुओं में अब तक रतलाम का नाम आगे रहा है वह नाम और आगे बढ़े। सरकारी हास्पिटल मे सुविधा बढाई जाए जिससे गरीब लोगों को ज्यादा से ज्यादा स्वास्थ्य सेवाएं मिल सके। इसके अलावा कई और महत्वपूर्ण सुविधाएं मिलना चाहिए जिससे रतलाम का विकास हो सके। कालिका माता, झाली तालाब, हनुमान ताल और अमृत सागर तालाब के लिए नया विजन तैयार किया जाए जिससे यहां पर्यटन को बढ़ावा मिल सके। प्रत्येक घर में प्रतिदिन मीठा पानी मिले यह प्रयास होना चाहिए। हम चेंजमेकर के माध्यम से इसे आगे बढ़ाएंगे।

ये हैं भाजपा से दावेदार

चेतन्य काश्यप

वर्तमान विधायक और राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष चेतन्य काश्यप का मानना है कि वे अभी से कुछ भी नहीं कहेंगे क्योंकि उम्मीदवार तय करना पार्टी का काम है। इसलिए अभी से किसी तरह की प्राथमिकता तय करना ठीक नहीं है। पार्टी की गाइड लाइन से हटकर अभी कुछ नहीं है। उनका मानना है कि वे वर्तमान में विधायक है और पिछले कार्यकाल में जो काम हुए हैं वे सारी प्राथमिकता में शामिल थे। इसी तरह का विजन आगे भी शहर के लिए उनका रहेगा।

 

हिम्मत कोठारी

पार्टी में टिकट के लिए कभी दावेदारी नहीं की है। पार्टी ने जब भी टिकट दिया है तब पूरी ताकत से काम किया है। पार्टी जो काम सौंपेगी वह प्राथमिकता से किया जाएगा। यूं शहर को लेकर जो प्राथमिकताएं हैं उनमें सबसे पहले फिर से शहर के उद्योगों के लिए सी श्रेणी में शामिल करवाना है जिससे नए उद्योग लगे और रोजगार के अवसर बढ़े। शहर को उद्योगों की दृष्टि से सी श्रेमी में लाकर अल्कोहल प्लांट की जमीन को अधिगृहित करके वहां नए उद्योग लगाने का रास्ता साफ करना है। उद्योग लगे तो उसके लिए पानी की आपूर्ति पहली जरुरत है। कनेरी जलाशय की स्वीकृति के काफी प्रयास किए और अब स्वीकृत हो चुका है तो इसका पानी उद्योगों के साथ ही शहर के उन क्षेत्रों में पहुंचाना है जहां जनता को पानी नहीं मिल पा रहा है। स्वच्छता अभियान जो चल रहा है उसे निरंतर करके शहर के लोगों की आदत में इसे शुमार किया जाना है जिससे शहर स्वच्छता के मामले में एक आदर्श बन सके। एजुकेशन के बेहतर संस्थान और अवसर बनाना जरुरी है जिससे शहर के युवाओं को बेहतर शिक्षा मिल सके। इसके अलावा आडिटोरियम, खेल मैदानों का विकास, शहर की वैध और अवैध कॉलोनियों के लिए राशि लाकर जनता को बेहतर सुविधाएं देना प्राथमिकता है।

 

शैलेंद्र डागा

शहर के पूर्व महापौर शैलेंद्र डागा का मानना है कि शहर को मूलभूत सुविधाएं मिले यह प्रयास है। शिक्षा, व्यापार, उद्योगों की स्थापना और शहर के पुराने वैभव को फिर से लौटाना ही प्राथमिकता में है। इसके साथ ही नई टेकनालॉजी के साथ शहर के युवाओं को जोड़कर आगे बढ़ाकर देश-दुनिया के बड़े शहरों की तरह शहर को आगे ले जाना पहली प्राथमिकता है। पुरानी चीजों को नई टेकनालॉजी के साथ समन्वय करके आगे बढ़ाना भी जरुरी है इसलिए आधुनिक शिक्षा की तरफ भी कदम बढ़ाएंगे। उन्होंने महापौर कार्यकाल के दौरान शहर के सभी प्रवेश द्वारों पर जो गेट लगाए जिससे शहर की सुंदरता बढ़ी है। इसी तरह के और भी ऐसे प्रयोग और कार्य होंगे जिससे शहर का नाम आगे बढ़ सके। नाली, सड़क, पानी और बिजली जैसी अत्यंत जरुरी आवश्यकताएं तो हमेशा ही प्राथमिकता में रहती है और होना चाहिए।

 

विष्णु त्रिपाठी

रतलाम नगर निगम के पूर्व सभापति और आरडीए के पहले अध्यक्ष विष्णु त्रिपाठी भी विधानसभा चुनावों को लेकर पार्टी की तरफ से दावेदारों की कतार में हैं। उनका मानना है कि शहर की सबसे बड़ी जरुरत है रोजगार की। जिस तरह से शहर की आबादी बढ़ती जा रही है उससे बेरोजगारी भी बढ़ रही है। इसे दूर करने के लिए उद्योगों को स्थापित करने, बढ़ावा देना पहली प्राथमिकता में शुमार है। कृषि आधारित उद्योग लगाने से भी बेरोजगारी को दूर करने में काफी सहयोग मिलेगा। बड़े शहरों की तर्ज पर यहां एजुकेशन हब बनाया जाना चाहिए क्योंकि संभाग का पहला सरकारी मेडिकल कॉलेज शुरू हो चुका है तो शिक्षा के अन्य संस्थानों को भी यहां लाया जाना चाहिए। स्वास्थ्य सेवाओं के मामले में भी जिला अस्पताल के हालात खराब है। यहां सुविधाएं और संसाधन बढ़ाया जाना जरुरी है जो हम प्राथमिकता से करेंगे।

 

आशा मौर्य

भाजपा से दावेदारी को लेकर कुछ नहीं कह सकते हैं क्योंकि पार्टी केडर के अनुसार जिसे टिकट मिलता है उसके लिए सभी पार्टीजनों को काम करना होता है। यही हमारा अनुशासन और पार्टी की लाइन है। जहां तक प्राथमिकता का सवाल है तो शहर की जनता को जो मूलभूत सुविधाएं मिलना चाहिए उसे प्राथमिकता से पूरा करने में ज्यादा ध्यान देना है। आमतौर पर युवाओं में रोजगार को लेकर बड़ा संकट है जिसके निराकरण के लिए लघु और कृषि आधारित उद्योग लगाना जरुरी है। इसके अलावा न केवल शहर की प्रमुख सड़कें वरन हर कॉलोनी की सड़क को बेहतर बनाना हमारी प्राथमिकता में है। मेरा मानना है कि इससे शहर विकास में काफी सहुलियत होगी। पेयजल, स्वच्छता और बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं ही किसी शहर की सबसे सर्वोच्च प्राथमिकता होती है जो हमारी प्राथमिकता में शामिल है।

 

ये हैं कांग्रेस की तरफ से दावेदार

अदिति दवेसर

पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही और इस बार फिर से कांग्रेस से टिकट की दावेदार अदिति दवेसर का मानना है कि चाहे मेडिकल कॉलेज शहर में खुल गया है किंतु जिला अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाओं की जो स्थिति है वह किसी भी स्थिति में अच्छी नहीं कही जा सकती है। इसे सुधारना और बेहतर बनाकर आम जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराना जरूरी है, यही हमारी प्राथमिकता है। आठ या दस वार्डों के बीच एक डिस्पेंसरी होना चाहिए। पर्यावरण और रूफ वाटर हार्वेस्टिंग की तरफ आज किसी का ध्यान नहीं है। आज जो हालात हैं उससे आगामी वर्षों में निश्चित रूप से बहुत खराब स्थिति बनना है। पर्यावरण संरक्षण और पानी बचाने के लिए जो प्रयास होना चाहिए वह नहींं हो रहे हैं। मेरा मानना कि अन्य जरुरतों की पूर्ति होना चाहिए किंतु इन बिंदुओं की तरफ प्राथमिकता से ध्यान देने की जरुरत है।

 

प्रेमलता दवे

हमारा सबसे पहली प्राथमिकता में जो काम होंगे वह यह है कि हम आम जनता से उनकी राय जानकर शहर विकास का मॉडल तैयार करेंगे। इससे हम हर वर्ग तक पहुंचेंगे और उनकी जरुरत के हिसाब से ही सारे कार्य कराए जाएंगे। इसमें चाहे किस क्षेत्र का विकास हो, उद्योग धंधों की स्थापना, लघु उद्योग लगाना, बेरोजगारी दूर करने के उपायों को लागू करना, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुविधाएं उपलब्ध कराना शामिल होगा। शहर में महिलाओं की सुरक्षा और वृद्धजनों के लिए काफी काम किया जाना है क्योंकि जिस तरह का माहौल है उससे यह बहुत बड़ी जरुरत है शहर के लिए। सड़़क, बिजली और पानी की जरुरत आम जनता के लिए वह तो प्राथमिकता में होगी ही।

 

राकेश झालानी

शहर को मच्छर और बीमारी रहित बनाना हगारी प्राथमिकता में रहेगा। खराब सड़कें और कमजोर स्वास्थ्य सेवाएं लोगों के बीमारी का प्रमुख कारण है। शहर में क्रमबद्ध तरीके से आदर्श वार्ड और मोहल्ले तैयार करके पूरे शहर को आदर्श बनाया जाएगा। हमारा लक्ष्य है कि शहर को एजुकेशन हब के रूप में विकसित करें जिससे बाहर के १० से २० हजार युवा शहर में पढऩे आएं तो रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। बड़े शैक्षणिक संस्थान शहर में आएंगे तो रोजगार के अवसर बहुत बड़ी मात्रा में पैदा होंगे इससे न केवल युवाओं को रोजगार मिलेगा वरन यहां का व्यापार भी बढ़ेगा। रतलाम रेलवे के मामले में जंक्शन है जिससे इसका सबसे ज्यादा फायदा मिलेगा और इंदौर व कोटा से भी ज्यादा अच्छा विकास हो पाएगा। उद्योगों की स्थापना से भी रोजगार बढ़ाएंगे। उद्योगों के लिए आवश्यक पानी की आपूर्ति माही के डेम से की जाएगी। बाजना क्षेत्र में वर्षों पहले तीन राज्यों की बार्डर पर सेना की छावनी स्वीकृत हुई थी उसकी फाइल आगे बढ़ाकर इसे धरातल पर उतारा जाएगा। नगर निगम में भवन अनुमति में लोगों को परेशानी हो रही है उसे दूर करके आम जनता को राहत दिलाएंगे।

 

निमिष व्यास

शहर में बेहतर खेल मैदानों और खेलों की स्थिति अच्छी नहीं है। एकमात्र खेल मैदान है जहां से अब तक राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभाएं नहीं निकल पा रही है। खेल मैदानों और खेल को बढ़ावा देना पहली प्राथमिकता में है जिससे रतलाम का नाम प्रदेश, देश और में ख्यात हो सके। दूसरा हमारे शहर में पर्यावरण प्रदूषण की दृष्टि से काफी खराब हालत हैं। हर व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य के लिए प्रदूषण मुक्त सड़कें, धूल, मिट्टी से निजात दिलाना और रोजगार के अवसर बढ़ाना ही हमारी प्राथमिकता में हैं। पिछले कई सालों से शहर में रोजगार को लेकर कोई कार्य नहीं हुए हैं। इससे लगातार बेरोजगारी बढ़ रही है। यह किसी भी शहर के लिए अच्छी बात नहीं कही जा सकती है कि वहां बेरोजगार बढ़ें। इससे मुक्ति दिलाना हमारी पहली प्राथमिकता होगी क्योंकि रोजगार बढ़ेंगे तो युवा सशक्त होगा और इससे शहर आगे बढ़ेगा।

 

यास्मिन शैरानी

शहर में गरीबों की हालत बहुत खराब है और इस वर्ग के लिए काम करना सबसे पहली प्राथमिकता होगी। गरीबों को पर्याप्त घर मिले और उन्हें शासन की योजनाओं का लाभ दिलाया जाए जिससे उनका जीवनस्तर सुधर सके। शासन की योजनाओं के बावजूद शहर में कुपोषण की स्थिति काफी बदतर है। वास्तविकता में कुपोषण दूर करना हमारे समाज के लिए जरुरी है। यही नहीं आम गरीबों को जिला अस्पताल में कोई सुविधा नहीं मिल पाती है जबकि सरकारी अस्पतालों की सुविधा गरीबों के लिए ही सरकार चलाती है। यह हकीकत है कि उन्हें ही इसका लाभ नहीं मिल पाता है। अब तक चुनिंदा क्षेत्रों में ही सड़कें बनी है जो सही नहीं है। हमारा प्रयास होगा कि शहर के हर क्षेत्र में बेहतर सड़कें बने जिससे लोगों को सुविधा मिल सके।

 

पारस सकलेचा

विधानसभा चुनाव में दावेदार पारस सकलेचा का कहना है कि उनकी पांच प्राथमिकता हैं जो वे सबसे पहले पूरा करेंगे। उनकी प्राथमिकता में औद्योगिक क्षेत्र का विकास और नए उद्योगों की स्थापना प्रमुख रहेगी जिससे बेरोजगारी को दूर करने में मदद मिलेगी। साथ ही उत्तम और बेहतर तथा रोजगारोन्मुखी शिक्षा को बढ़ावा देना है। सकलेचा का कहना है कि श्रेष्ठ और सस्ती चिकित्सा सुविधा मिलना हर किसी का हक है और इसे पूरा करने के लिए वे जिले से लेकर प्रदेशस्तर पर प्रयास करके उपलब्ध कराएंगे। शहर को बिग स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने के लिए उनका विजन है जो वे चुनाव के वक्त सबके सामने लाएंगे। शहर में ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर कैसे बढ़े और इसके लिए क्या किया जाए इसे लेकर भी वे अपना विजन रखते हैं जिससे बेरोजगारी दूर हो सके।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned