भाजपा के सर्वे को भीड़ ने दी चुनौती, माहौल भांपकर मुख्यमंत्री ने इस विधायक को दे दिया आशीर्वाद

भाजपा के सर्वे को भीड़ ने दी चुनौती, माहौल भांपकर मुख्यमंत्री ने इस विधायक को दे दिया आशीर्वाद

Sachin Trivedi | Updated: 17 Jul 2018, 03:55:24 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

भाजपा के सर्वे को भीड़ ने दी चुनौती, माहौल भांपकर मुख्यमंत्री ने इस विधायक को दे दिया आशीर्वाद

रतलाम. महाकाल की नगरी उज्जैन से जनआशीर्वाद यात्रा लेकर रतलाम शहर और रतलाम ग्रामीण विधानसभा में जनता से समर्थन मांगने आए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के एक कदम ने पार्टी के आंतरिक सर्वे को ही चुनौती दे दी है। भाजपा के सर्वे में रतलाम ग्रामीण से वर्तमान विधायक मथुरालाल डामर का परफॉर्मेंस कमतर बताया गया है और संभावित कटने वाले टिकट की सूची में भी उनका नाम है, लेकिन सर्वे के बाद मुख्यमंत्री जब जनता के बीच पहुुंचे तो विधायक डामर को रथ पर सवार कर आशीर्वाद दे गए।

तीन विधानसभा में पार्टी का जनाधार कम
भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश में एंटी इनकमबैंसी से पार पाने के लिए कमजोर प्रदर्शन वाले विधायकों का टिकट काटने का ऐलान किया है। इसके लिए संगठन स्तर पर कई तरह के सर्वे कराए गए है। पार्टी अपने जमीनी कार्यकर्ताओं से भी फीडबैक ले रही है। ऐसे ही कुछ सर्वे के आधार पर रतलाम जिले की तीन विधानसभा में पार्टी का जनाधार कम मिला है और वर्तमान विधायकों के खिलाफ जनता की नाराजगी सामने आई है।

विधानसभा में विधायक ही चेहरा

इनमें रतलाम ग्रामीण से विधायक मथुरालाल डामर, सैलाना से विधायक संगीता चारेल का नाम शामिल है। बताया जा रहा है कि पार्टी इनको फिर से दोहराने के मूड में नहीं है। रतलाम ग्रामीण विधायक डामर उम्र की गाइड लाइन के फेर में भी आ रहे है, लेकिन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान जनता से पार्टी प्रत्याशी और खुद के लिए वोट मांगने के दौरान विशेष रथ पर विधायक डामर को बैठा कर पार्टी की समीकरणों को ही चुनौती दे दी है। हालांकि राजनीति के जानकारों का तर्क है कि फिलहाल पार्टी का विधानसभा में विधायक ही चेहरा है, इसलिए उनको साथ लिया गया।

भीड़ ने पार्टी सर्वे के आंकलन को दी चुनौती
रतलाम ग्रामीण विधानसभा में मुख्यमंत्री ने बिरमावल में आमसभा की। करीब 4 घंटे की देरी से आने के बावजूद इस सभा में भारी भीड़ उमड़ी। विशेषक महिलाओं व युवा वर्ग में उत्साह दिखाई दिया। यही नहीं धार जिले के बदनावर से आने के दौरान सुजलाना फंटा पर तो ग्रामीण 3 घंटे तक सड़क किनारे बैठे रहे। इसके बाद सातरूंडा में जमा भीड़ देख खुद मुख्यमंत्री उत्साहित हो गए। मूंदड़ी और करमदी-तितरी में भी खासी भीड़ जुटी।

70 उम्र पार की गाइड लाइन पर पार्टी के पाले में गेंद
मुख्यमंत्री ने रतलाम सर्किट हाऊस पर मीडिया से चर्चा की। उन्होंने साफ कर दिया है कि पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में 70 उम्र पार के नेताओं को टिकट देने या नहीं देने पर फैसला करेगी। कमजोर प्रदर्शन वाले विधायकों के सवाल पर भी उन्होंने पार्टी फोरम से ही निर्णय होने की बात कह दी, लेकिन राजनीतिक हलचल तेज हो गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned