कर्नाटक चुनाव के बाद कांग्रेस कटोरा लेकर मांगेगी भीख... कैसे हुआ यह फैसला... पढ़ें पूरी खबर

कर्नाटक चुनाव के बाद कांग्रेस कटोरा लेकर मांगेगी भीख... कैसे हुआ यह फैसला... पढ़ें पूरी खबर

harinath dwivedi | Publish: May, 18 2018 02:30:54 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

कर्नाटक चुनाव के बाद कांग्रेस कटोरा लेकर मांगेगी भीख.... कैसे हुआ यह फैसला... पढ़ें पूरी खबर

रतलाम. कर्नाटक में पॉलिटिकल हाई ड्रामे के बीच मध्यप्रदेश में भी पॉलिटिकल वोल्टेज बढऩे लगा है। यहां विधानसभा चुनाव नजदीक हैं। भाजपा के साथ कांग्रेसी भी चुनावी तैयारी को लेकर कमर कसने लगे हैं। राजनीति का प्रयोगशाला बने मंदसौर में जहां पिछले साल किसानों के प्रदर्शन के दौरान गोली कांड में 6 किसानों की की मौत हो गई थी। उसी मंदसौर में फिर से धरने-प्रदर्शन की शुरुआत हो गई है। इधर कांग्रेस विरोध स्वरूप एक कटोरा यात्रा निकालने की तैयारी कर रही है। यह विरोध भाजपा नीत नगर पालिका में बजट पेश नहीं होने के विरोध में है। जिसमें यहां की नगर निगम बजट नहीं पेश कर पा रही है और उसे स्थानीय विधायक की मदद से अपने काम चलाने पढ़ रहे हैं।

दरअसल पिछले दिनों मध्यप्रदेश के रतलाम शहर में पानी की भारी किल्लत हो गई। यहां के पंपिंग सिस्टम खराब हो गए और नगर निगम कुछ कर भी नहीं पा रहा था। इससे जनता को राहत दिलाने के लिए स्थानीय विधायक चेतन काश्यप ने अपने निजी खर्चे पर 13 लाख रुपए की मोटर खरीदकर नगर निगम को दान दे दी। यह दान होते ही यहां की कांग्रेस पार्टी विरोध में उतर गई, उसने ऐलान कर दिया कि हम इस व्यवस्था के खिलाफ और नगर निगम के खिलाफ और भाजपा सरकार के खिलाफ कटोरा यात्रा निकालेंगे।

karnataka election news

शहर के पूर्व महापौर पारस सकलेचा ने बताया कि यह जनता के साथ खिलवाड़ है। जब नगर निगम इसी पानी से एक साल में 10 से 12 करोड़ रुपए की वसूली करता है तो क्या 10-20 लाख रुपए का मोटर भी खरीदने में सक्षम नहीं है। यह तो भारी भ्रष्टाचार है और जनता की बेइज्जती है।

इधर महिदपुर की पूर्व विधायक कल्पना परुलेकर भी भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोल चुकी हैं। दो दिन पूर्व उनकी कांग्रेस में वापसी हुई। कांग्रेस में वापसी होते ही उन्होंने मंदसौर के पिपलिया मंडी में धरने पर बैठ गई। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार किसानों के हित को कुचल रही है और जब तक किसानों के दमन का कुचक्र बंद नहीं किया जाता है वह धरने पर बैठी रहेंगी, भले ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाए। उन्होंने अभी 15 दिन का क्रमिक धरने का ऐलान किया है और धीरे-धीरे अपनी पैठ बनाने में लगी हैं।

karnataka election newskarnataka election news

गौरतलब है कि मंदसौर जिले में किसानों की नाराजगी दूर करने के लिए 24 मई को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह आ रहे हैं, वे यहां बड़ी घोषणाएं कर सकते हैं। इसी तरह किसान गोली कांड की बरसी पर 6 जून को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी मंदसौर पहुंच रहे हैं वह यहां श्रद्धांजलि सभा कर सकते हैं इसको लेकर भारी हंगामे के आसार हैं।

 

 


सरकारी संस्था इंटेलिजेंस ब्यूरो ने अलर्ट जारी किया है कि मंदसौर में किसान एकजुट हो रहे हैं वह सरकार के खिलाफ हैं और यहां भारी हंगामा कर सकते हैं । यहां हिंसा की आशंका भी जताई गई है। प्रशासन की कोशिश है कि सब कुछ शांतिपूर्ण तरीके से निपट जाए।

Ad Block is Banned