धनतेरस पर भूलकर मत खरीदना यह पांच चीजें, गोल्ड खरीदने का है ये बेहतर समय

धनतेरस पर बाजार से खरीदी का महत्व है। इस दिन हर च्यक्ति अपनी क्षमता अनुसार खरीदी करता है। कहते है कि इस दिन की गई खरीदी से माता महालक्ष्मी प्रसन्न होती हैए लेकिन इस बात को जरूर याद रखना चाहिए कि क्या खरीदा जाए व क्या नहीं। भूलकर भी पांच चीजें या वस्तुएं नहीं खरीदना चाहिए। इसके अलावा इस दिन गोल्ड खरीदने का बेहतर समय शाम को बन रहा है।

रतलाम। धनतेरस पर बाजार से खरीदी का महत्व है। इस दिन हर च्यक्ति अपनी क्षमता अनुसार खरीदी करता है। कहते है कि इस दिन की गई खरीदी से माता महालक्ष्मी प्रसन्न होती हैए लेकिन इस बात को जरूर याद रखना चाहिए कि क्या खरीदा जाए व क्या नहीं। भूलकर भी पांच चीजें या वस्तुएं नहीं खरीदना चाहिए। इस दिन गोल्ड खरीदने का बेहतर समय शाम को बन रहा है। यह बात रतलाम के प्रसिद्ध ज्योतिषी वीरेंद्र रावल ने रतलाम में धनतेरस पर क्या खरीदे व क्या नहीं विषय पर बोलते हुए कही।

धनतेरस के त्योहार पर खरीददारी करने की मान्यता

रतलाम के प्रसिद्ध ज्योतिषी वीरेंद्र रावल ने बताया कि दिवाली या दीपावली से दो दिन पहले धनतेरस के त्योहार पर खरीददारी करने की मान्यता है। कहा जाता है कि इस दिन नया सामान खरीदने से घर में लक्ष्मी का आगमन होता है। लोग इस दिन अपने घर में नए बर्तन और नयी चीजें खरीद कर लाते हैं। सिर्फ यही नहीं धनतेरस के दिन मां लक्ष्मी की पूजा करना भी बेहद शुभ माना जाता है। अश्विनी के बाद कार्तिक महीने के शुरू होते ही त्योहारों का मौसम शुरू हो जाता है। पुराणों के अनुसार दिवाली वाले दिन ही भगवान श्रीरामए लकांपति रावण का वध करके अयोध्या वापिस आए थे। इसी वजह से लोगों ने इस दिन अपने घरों में दीये जलाए थे। तभी से दिवाली का ये पावन पर्व हर साल मनाया जाता है।

अमृत कलश लेकर आए थे
रतलाम के प्रसिद्ध ज्योतिषी वीरेंद्र रावल ने कहा कि दिवाली से पहले कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी को मनाया जाने वाले धनतेरस को लेकर भी काफी मान्यताएं हैं। इस साल धनतेरस 25 अक्टूबर को मनाया जाना है। माना जाता है कि इसी दिन समुद्र मंथन के दौरानए अमृत का कलश लेकर धन्वन्तरी प्रकट हुए थे। इसीलिए इस दिन धन्वन्तरि देव की उपासना भी की जाती है। धनतेरस के दिन कुछ चीजों को खरदीना शुभ जरूर होता है मगर कुछ चीजों को खरीदना वर्जित होता है। आइए आपको बताते हैं धनतेरस पर वो 5 चीजें जो बिल्कुल भी नहीं खरीदना चाहिए।

नेलकटर या चाकू
रतलाम के प्रसिद्ध ज्योतिषी वीरेंद्र रावल ने धनतेरस के दिन महालक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए खरीदी की जाती है। इस दिन चाकूए नेलकटर आदि नहीं लिया जाता है। यह सामान तोडऩे का कार्य करता हैए जबकि त्योहार जोडऩे का कार्य करते है। इसलिए खरीदी के समय बेहद सावधानी रखना चाहिए।

लोहे का कोई भी सामान
ज्योतिषी रावल ने बताया कि धनतेरस पर लोहे का सामान खरीदना अशुभ माना जाता है। इस दिन आप सोने काए चांदी का अन्य किसी भी धातु को खरीद सकते हैं मगर भूलकर भी इस दिन लोहे के किसी भी सामान को ना खरीदें। ये आपके लिए अशुभ हो सकता है।

काले.भूरे रंग का सामान
ज्योतिषी रावल ने कहा कि हिन्दू धर्म में काले और भूरे रंग को नकारात्मकता से जोड़ा जाता है। इसीलिए किसी भी शुभ समय पर काले या भूरे रंग को नहीं इस्तेमाल किया जाता। आप भी धनतेरस के दिन काले या भूरे रंग को ना पहनें ना इसका इस्तेमाल करें।

नुकीली या धारदार चीजें
ज्योतिषी रावल ने बताया कि किसी भी शुभ काम में नुकीली या धारदार चीजों के इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। धनतेरस के दिन भी आप भी किसी नुकीली या धारदार चीज जैसे चाकू या कैंची आदि को ना खरीदें। ऐसा करना अशुभ हो सकता है।

काले रंग के कपड़े
ज्योतिषी रावल ने बताया कि धनतेरस के दिन भी काफी लोग नए वस्त्र खरीदते है। इस दिन भूलकर भी काले रंग के कपड़े नहीं खरीदना चाहिए। हिंदू पंचांग में काला रंग को अशुभ माना गया है। इसलिए खरीदारी के समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए।

धनतेरस पर पूजा का शुभ मुहूर्त
ज्योतिषी रावल ने बताया 25 अक्टूबर को शाम 7 बजकर 8 मिनट से रात 8 बजकर 31 तक खरीदी का बेहतर समय रहेगा। शाम को 5 बजकर 58 मिनट से 6 बजकर 31 मिनट तक प्रदोष काल रहेगा। जबकि वृषभ लग्न शाम को 9 बजकर 7 मिनट से रात 9 बजकर 2 मिनट तक रहेगा। हिंदू पंचांग के अनुसार धनतेरस की शुरुआत 25 अक्टूबर को शाम 7 बजकर 8 मिनट से होगी व यह 26 अक्टूबर की दोपहर 1 बजकर 46 मिनट तक रहेगा।

खरीददारी करने की सही तिथि
ज्योतिषी रावल ने बताया कि सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त 25 अक्टूबर को शाम 6 बजकर 42 मिनट से शाम 7 बजकर 8 मिनट तक रहेगा। इस मुहूर्त में यदि आप सोना खरदीते हैं तो उसे बेहद शुभ माना जा सकता है। वहीं आप अन्य सामान भी इसी समय पर खरीद सकते हैं। माना जाता है कि धनतेरस के दिन सोना खरीदने से घर में लक्ष्मी प्रवेश करती हैं। इस दिन झाडू खररीदने का भी रिवाज मालवा सहित मध्यप्रदेशा में है।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned