scriptek vivah aisa bhi | एक विवाह ऐसा भीः ना बैंडबाजा ना ही बाराती | Patrika News

एक विवाह ऐसा भीः ना बैंडबाजा ना ही बाराती

जो गो-सेवा व ऐसे लोगों को समर्पित होगा जिन्हें एक समय का भोजन नसीब नहीं होता

रतलाम

Published: May 12, 2022 06:47:38 pm

रतलाम. वर्तमान दौर में जहां शादी ब्याह पर लाखों रुपए खर्च कर अपने को बड़ा दिखाने की होड़ लगी है। अनेक पकवान बनाए जा रहे हैं। लाखों का डेकोरेशन, धूमधड़ाका होता है। इनमें खाना आदि का अपव्यय होता है। इन सबके बीच नगर का राजपूत बोर्डिंग कॉलोनी निवासी जैन पगारिया परिवार व छजलानी परिवार दाहोद में अनोखे विवाह का आयोजन करने जा रहे है। विवाह में न बैंड-बाजे होंगे, न बराती, न पत्रिका, न स्नेह भोज होगा। फिजूलखर्ची को रोकने व अन्य लोगों के हिस्से के दु:खों के देखते हुए स्वयं के सुख को कम कर उस स्थिति में खुशी का अनुभव प्राप्त करने के उद्देश्य को लेकर इस विवाह में दोनों परिवार के सदस्य शामिल होंगे। इसमें सिर्फ सात फेरे व कन्यादान होगा।

एक विवाह ऐसा भीः ना बैंडबाजा ना ही बाराती
एक विवाह ऐसा भीः ना बैंडबाजा ना ही बाराती
यह निर्णय भूगोल में बड़ौदा की प्रोफेसर बिंदु भट्ट के मार्ग दर्शन में पीएचडी कर रहे रतलाम के युवक लखन पगारिया जैन ने लिया है। इसके लिए उन्होंने अपने ससुराल वालों को राजी कर लिया। जबकि उनके परिवार में 40 साल बाद लड़की के विवाह का योग बना।
आचार्य लाप्रभुपाद व लाल बहादुर शास्त्री के जीवन वृत्तांत से प्रभावित
लखन जैन ने बताया कि उन्हें यह प्रेरणा महासती जैन साध्वी मधुबाला श्रीजी से मिली। साथ ही इस्कान फाउंडर आचार्य लाप्रभुपाद व पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री के जीवन वृत्तांत से प्रभावित होकर लिया है। यह शादी कोरोना काल में शहीद डॉक्टरों व मरीजों के साथ ही रूस व युक्रेन युद्ध में शहीद जवानों के साथ ऐसे लोगों को समर्पित है जिन्हें एक समय का भोजन नहीं मिल पाता है।
जरूरतमंद बच्चों की पढ़ाई का खर्च उठाएंगे
12 मई को दाहोद में सात फेरे व कन्यादान होगा। 13 मई को रतलाम में कालिका माता सेवा ट्रस्ट, अन्नक्षेत्र, ईशप्रेम बस्ती, निर्मला भवन काटजू नगर, त्रिवेणी तट , विरियाखेड़ी स्थित वृद्धाश्रम में रहने वालों को मिष्ठान युक्त भोजन कराया जाएगा। 1५ मई को गोपाल गोशाला, जैन दिवाकर गोशाला, बकराशाला त्रिवेणी के सामने, बरबड़ हनुमान मंदिर गोशाला, खेतलपुर स्थित गोशाला में लापसी व हरी घास खिलाया जाएगा। इसके साथ ही ऐेसे जरूरतमंद बच्चे जो आर्थिक स्थिति कमजोर होने नहीं पढ़ पाते हैं। उन्हें गोद लेकर कक्षा छह से ग्रेज्युएशन तक पढ़ाई का खर्च उठाएंगे।
दोनों परिवारों में ये लोग शामिल
लखन के पिता महेंद्र कुमार जैन मप्र पश्चिम क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी में अधीक्षण यंत्री कार्यालय में सहायक यंत्री है। माता संगीता जैन गृहिणी है। बड़ी बहन नीमच निवासी जहिता पलास मोदी है। छोटी बहन रक्षिता जैन इतिहास में पीएचडी कर रही है। दाहोद निवासी वधू श्रुति जैन ने बी-फार्मा तक शिक्षा ग्रहण की है। उनके पिता ऋषभ छजलानी इलेक्ट्रिक सामान के विक्रेता है। माता ममता छजलानी गृहिणी है। भाई सुपन जैन एलएलबी में अध्ययनरत है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, एक्सक्लूसिव रिपोर्ट सिर्फ पत्रिका के पास, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट में...BOXER Died in Live Match: लाइव मैच में बॉक्सर ने गंवाई जान, देखें वायरल वीडियोBRICS Summit: ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर, उठाया आतंकवाद का मुद्दासीएम मान ने अमित शाह से मुलाकात के बाद कहा-पंजाब में तैनात होंगे 2,000 और सुरक्षाकर्मीIPL 2022, RCB vs GT: Virat Kohli का तूफान, RCB ने जीता मुकाबला, प्लेऑफ की उम्मीदों को लगे पंखVirat Kohli की कप्तानी पर दिग्गज भारतीय क्रिकेटर ने उठाए सवाल, कहा-खिलाड़ियों का समर्थन नहीं कियादिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रिया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.