एसडीएम के अल्टीमेटम के बावजूद व्यवस्था में सुधार नहीं किया

एसडीएम के अल्टीमेटम के बावजूद व्यवस्था में सुधार नहीं किया

By: Akram Khan

Published: 19 Jan 2019, 05:35 PM IST

रतलाम। (जावरा) नगर के खाचरौद नाका पर स्थित डॉ. कैलाशनाथ काटजू कृषि उपज मंडी जो कि वर्तमान में लहसुन मंडी के रुप में काम आ रही है, यहां पिछले शुक्रवार को मंडी के भारसाधक अधिकारी और एसडीएम ने अवलोकन करते हुए मंडी में व्याप्त कमियों को दूर करने के निर्देश जारी करते हुए दो दिन का अल्टीमेटम दिया था, लेकिन आठ दिन बीतने के बाद भी मंडी अधिकारियों ने एक भी काम शुरु नहीं करते हुए एसडीएम के आदेशों की अवहेलना की है।

11 जनवरी को मंडी के एसडीएम एमएल आर्य ने खाचरौद नाका स्थित लहसुन मंंडी में किसानों की समस्याओं को लेकर निरीक्षण किया था, इस दौरान किसानों की शिकायतों पर मंडी में पहुंचे एसडीएम ने किसानों से चर्चा कि, चर्चा के दौरान किसानों के मंडी में टायलेट तथा सुलभ काम्पलेक्स को पुन: चालु करने की मांग की थी, जिस पर एसडीएम ने मंडी सचिव एसके मुनिया, इंजिनियर आरके रुनीज तथा लहसुन मंडी प्रभारी पुरुषोत्तम भावसार को दो दिनों में सुलभ शौचालय को दुरुस्त कर चालु करने के निर्देश दिए थे। साथ ही किसानों साफ और शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो, इसके लिए टंकी की सफाई कर उस पर तारीख अंकित करने तथा वाटर कूलर के साथ आरओ लगाने के लिए कहा था। साथ ही मंडी प्रांगण में संचालित केंटिन संचालक को भोजन की गुणवत्ता सुधारने के साथ ही केंटिन का रंग-रोगन करने के लिए कहा था, लेकिन हालत अब भी जस के तस है।

करेंगे कार्रवाई
आदेश के बाद भी काम नहीं होने पर मंडी सचिव और इजिनियर से चर्चा करने के बाद काम शुरु करवाते है, आदेश की अवहेलना करने पर कार्रवाई की जाएगी।
-एमएल आर्य, भारसाधक अधिकारी, कृषि उपज मंडी

निर्माण कार्यों की जांच के लिए समिति गठित
रिंगनोद। ग्राम कलालिया में गुणवत्ता विहीन निर्माण कार्यों की जांच के लिए समिति गठित की है। उसमें तहसीलदार, जनपद, सीईओ, पटवारी व इंजीनियरए को शामिल किया है। दल गांव पहुंच कर निर्माण कार्यों की जांच कर शीघ्र रिपोर्ट देगा। यह बात एसडीएम एमएल आर्य ने कही। उन्होंने बताया कि राशन दुकान की जांच में मिली अनियमितता के चलते सेल्समैन शांतिलाल पाटीदार को नोटिस जारी किया है। सेल्समैन शांतिलाल पाटीदार व संस्था के विरुद्ध मध्य प्रदेश सार्वजनिक वितरण प्रणाली नियंत्रण आदेश 2015 का उल्लंघन किए जाने के कारण आवश्यक वस्तु अधिनियम 1950 की धारा 3/7 के अंतर्गत प्रकरण पंजीबद्ध किया है। कलेक्टर रुचिका चौहान ने कलालिया का भ्रमण किया इस दौरान दुकान को सील करने के आदेश दिए थे। इसके बाद खाद्य विभाग की कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी वंदना बबेरिया द्वारा जांच की गई। इसमें शिकायत सही पाई गई।

Akram Khan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned