"आधार" के नाम पर दुकानदार कर रहे अवैध वसूली

"आधार" के नाम पर दुकानदार कर रहे अवैध वसूली

रतलाम। शासकीय दरों पर जो मशीन जावरा नगर पालिका में लगाई गई थी, उसे बंद कर दिया है, ऐसे में एक बार फिर से आधार पर नाम कुछ लोग अवैध वसूली करने लगे हैं। दो बैंको में आधार पंजीयन सेंटर बनाए गए है, लेकिन इसके बाद भी लोगों से अवैध वसूली जारी है।

नगर पालिका में शासकीय दरों पर आधार कार्ड में करेक्शन तथा नवीन आधार कार्ड बनाने के लिए कलेक्टर के आदेश पर मशीन लगाई गई, लेकिन राजनैतिक उठापटक के चलते उक्त मशीन बंद कर दी गई। नपा में नए व्यक्ति को तैनात किया गया, लेकिन वर्तमान में उक्त सेंटर भी बंद पड़ा है। हालाकि शहर के दो बैंकोंं में आधार कार्ड पंजीयन सेंटर बनाया गया है, लेकिन वहां भी कुछ लोगो की मिली भगत से अवैध वसूली जारी है। बैंक में जब उक्त आवेदनकर्ता पहुंचता है और अपने आधार में सुधार करवाता है, तो यहां भी उस आवेदनकर्ता से रुपए लिए जाते है, ऐसे में एक ही आधार कार्ड में सुधार के लिए आवेदनकर्ता को दो जगह रुपए देना पड़ रहे है।

बुधवार को ऐसा ही एक मामला अनुविभागीय अधिकारी राहुल नामदेव धोटे तक पहुंचा, जिसमें फरियादी विक्रमसिंह यादव ने बताया कि वे कोर्ट परिसर स्थित दुकान पर आधार कार्ड में जन्म दिनांक सुधार के लिए थे, जहा से उन्है एक आवेदन फार्म भरकर दिया और उनसे 50 रुपए लिए। रसीद मांगी तो दुकानदार ने देने से मना कर दिया। आवेदन लेकर चौपाटी स्थित ग्रामीण बैंक में भेज दिया, जब ये चौपाटी स्थित बैंक पर पहुंचे और अपना आधार कार्ड अपडेट करवाया तो वहां भी उनसे 50 रुपए लिए गए, ऐसे में निर्धन वर्ग के लोगों के साथ आधार कार्ड बनाने तथा अपडेट करवाने के नाम पर सरे आम लूट चल रही है।

शिकायत मिली है, होगी कार्रवाई
आधार कार्ड अपडेट करवाने के लिए महज 25 से 30 रुपए का शुल्क रखा गया है, लेकिन यदि इससे अधिक राशि लिए जाने की शिकायत मिली है। यदि अधिक राशि ली जा रही है तो उसकी शिकायत करें, तत्काल कार्रवाई
की जाएगी
- राहुल नामदेव धोटे, एसडीएम, जावरा

Akram Khan Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned