कुंदन कुटीर आश्रम के प्रांगण से मिला डेंगू का लार्वा

कुंदन कुटीर आश्रम के प्रांगण से मिला डेंगू का लार्वा

By: Akram Khan

Published: 27 Nov 2019, 05:39 PM IST

रतलाम। गंदगी से पटी पिपलौदा रोड़ की अवैध कॉलोनियों में मलेरिया के साथ ही जमा होने वाले साफ पानी में जहंा डेंगू जैसी घातक बिमारियों लार्वा भी जमा होने के बाद आम आदमी से लेकर डॉक्टर के परिवारों तक पहुंची डेंगू की बिमारी के बाद अब जिले का स्वास्थ अमला जागा और बुधवार को जिला मलेरिया दल ने जावरा पहुंचकर पिपलौदा रोड़ पर निवास करने वाले दोनो डाक्टरों के घर के साथ ही आसपास का सर्वे किया। सर्वे के दौरान कुछ पिपलौदा रोड़ पर स्थित चर्चित रहे कुंदन कुटीर बालिका आश्रम के प्रांगण से दल को डेंगू का लार्वा मिला, जिसे दल ने दवा का छिडकाव कर नष्ट किया।
शहर प्रभारी ने बताया कि यहीं से डेंगू का लावा उठा था और आसपास के रहवासियों को अपनी चपैट में लिया है, वर्तमान में कुंदर कुटीर बालिका गृह परिसर में किराए पर रहने वाली एक बालिका को बुखार है, जिसकी स्लाईड जिला मलेरिया दल ने ली है।

जावरा के सरकारी अस्पताल में पदस्थ शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ घनश्याम पाटीदार की पत्नी संगीता पाटीदार तथा निजी दंत रोग चिकित्सक डॉ नेहा वर्मा के डेंगू पाजीटिव होने तथा स्वयं डॉक्टरों द्वारा इसकी पुष्टी किए जाने के बाद भी जहां जिला स्वास्थ विभाग के अधिकारियों द्वारा इसको लेकर अनभिज्ञत जताई गई, उसके बाद भी जब मामले ने तुल पकड़ा तो मंगलवार को जिला मलेरिया विभाग के इंस्पेक्टर बाबुलाल मुनिया, सुपरवाईजर सुरेश रघुवंशी ने शहर प्रभारी तथा बीईई दिनेश उपाध्याय के साथ दोनो डॉक्टों के घरों के साथ ही प्रताप नगर तथा प्रताप नगर एक्सटेंशन के करीब 75 घरों का सर्वे किया।

शहर प्रभारी तथा बीईई उपाध्याय ने बताया कि सर्वे के दौरान पिपलौदा रोड़ स्थित कुंदर कुटीर बालिका गृह के प्रांगण में जमा साफ पानी में डेंगू का लार्वा पाया गया। जिसे टेमाफास का स्प्रे कर नष्ट किया गया। इसको लेकर सर्वे के साथ ही लेागों को जागरुक किया। इस दौरान शैलेन्द्र दवे, अनिल पटेल बीसीएम, राधारमण, जालमसिंह, जीवन नाहर, दिनेश खरे, गोवर्धन लाल, अनिता मकवाना आशा कार्यकर्ता आदि मौजूद रहे।

Akram Khan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned