रेरा की जांच पर टिकी आवंटियों की नजर

रेरा की जांच पर टिकी आवंटियों की नजर

Sourabh Pathak | Updated: 25 Jun 2018, 11:29:16 AM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

- हाउसिंग बोर्ड में पहली बारिश में ही नालियां हो गई जाम, रेरा की कब लगेगी बेंच उपभोक्ताओं ने मेल कर पूछा

रतलाम। हाउसिंग बोर्ड की गंगा सागर कॉलोनी की गुणवत्ता पर एक बार फिर सवाल उठने लगे है। मौसम की पहली जोरदार बारिश शनिवार रात हुई जिससे कॉलोनी की सड़क तालाब में तबदील हो गई। यहां की कुछ सड़कों पर जमा पानी सुबह तक नहीं उतरा, जिसके बाद क्षेत्र में प्लाट व भवन आवंटियों द्वारा एक बार फिर से यहां हुए निर्माण कार्य पर सवाल खड़े किए जाने लगे है।

 

आवंटियों द्वारा किए जा रहे उनके इन सवालों का जवाब फिलहाल हाउसिंग बोर्ड के पास भी नहीं है। यहीं कारण है कि पूर्व में जांच के लिए यहां आए अधिकारी भी अब तक उनकी शिकायतों का निराकरण नहीं कर सके है, जिसके चलते मजबूर होकर आवंटियों को रेरा में मंडल की शिकायत दर्ज कराना पड़ी है। मंडल की इस कॉलोनी में भवन व प्लाट लेने वाले 55 से अधिक आवंटियों ने यहां हुई निर्माण कार्यों के साथ उनकी गुणवत्ता पर सवाल खड़े करते हुए और मंडल की मनमानी के खिलाफ रेरा में शिकायत दर्ज कराई है।

37 उपभोक्ताओं ने मांगी जानकारी
रेरा में शिकायत के बाद वहां के न्यायाधीशों द्वारा प्रकरण की सुनवाई के लिए रतलाम में बेंच लगाने की बात कही थी। उसके बाद से अब तक बेंच को लेकर कोई तारीख का निर्णय नहीं होने से बीते दो दिनों में 37 आवंटियों ने रेरा में मेल करके यह पूछा कि रतलाम में बेंच लगाए जाने के लिए कौन सी तारीख तय की गई है। सभी लोग जल्द ही मामले की सुनवाई चाह रहे है, जिससे कि उन्हे राहत मिल सके और मंडल के लापरवाह अधिकारी व कर्मचारियों पर उचित कार्रवाई हो सके।

कॉलोनी में लगा पोस्टर
आवंटियों की माने तो हाउसिंग बोर्ड ने उनमें आपस में फूट डाले जाने के लिए पूर्व का एक फ्लैक्स भी लगा दिया है, जिससे आपस में विरोधाभास उत्पन्न हो। रहवासियों की माने तो बोर्ड की मनमानी उनके आगे नहीं चल सकेगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned