scriptIf you do not apply by June 30, you will be deprived of this scheme | #Important news : 30 जून तक आवेदन नहीं किया तो रह जाएंगे इस योजना से वंचित | Patrika News

#Important news : 30 जून तक आवेदन नहीं किया तो रह जाएंगे इस योजना से वंचित

आरटीई में प्रवेश की प्रक्रिया शुरू, 30 जून तक हो सकेंगे आवेदन, इस बार राज्य शिक्षा केंद्र ने सत्र शुरू होने के साथ शुरू की प्रवेश प्रक्रिया, 15 दिन तक कर सकेंगे आवेदन

रतलाम

Published: June 16, 2022 11:34:48 am

रतलाम. अनिवार्य एवं बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत राज्य शिक्षा केंद्र ने निजी स्कूलों में निर्धन वर्ग के बच्चों को प्रवेश दिलाने की प्रक्रिया नया शिक्षा सत्र शुरू होने के साथ ही शुरू कर दी है। राज्य शिक्षा केंद्र ने इस बार यह प्रक्रिया देरी से शुरू की है। आरटीई प्रवेश प्रक्रिया के शेड्युल के अनुसार 30 जून तक आवेदन और त्रुटि सुधार किया जा सकता है। रेंडम पद्धति से लॉटरी की प्रक्रिया 5 जुलाई को होगी।

#Important news : 30 जून तक आवेदन नहीं किया तो रह जाएंगे इस योजना से वंचित
#Important news : 30 जून तक आवेदन नहीं किया तो रह जाएंगे इस योजना से वंचित
दो चरणों में होंगे प्रवेश
राज्य शिक्षा केंद्र ने इस बार आरटीई में प्रवेश प्रक्रिया को दो चरणों में पूरा करने की समय सारिणी तय की है। पहले चरण में आवेदन, लॉटरी और प्रवेश, दूसरे चरण में बचे हुए बच्चों के नाम प्रदर्शित करके लॉटरी निकाली जाएगी। समय साारिणी के अनुसार राज्य शिक्षा केंद्र 5 अगस्त तक यह सारी प्रक्रिया पूरी कर लेगा।

यह है समय सारिणी
- पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन व त्रुटि सुधार - 15 से 30 जून
- आवेदन के पश्चता पावती और दस्तावेज वेरिफिकेशन - 20 से 1 जुलाई
- रेंडम पद्धति से ऑनलाइ लाटरी व एसएमएस से सूचना - 5 जुलाई
- स्कूल आवंटन और पोर्टल पर सूची प्रदर्शित होने के बाद आवंटन पत्र डॉउनलोड कर स्कूल में प्रवेश के लिए उपस्थित होना - 6 से 16 जुलाई
- दूसरे चरण के प्रवेश के लिए रिक्त सीट प्रदर्शित करना - 20 जुलाई
- दूसरे चरण की ऑनलाइ च्वाइस अपडेट करना - 20 से 25 जुलाई
- दूसरे चरण की ऑनलाइन लॉटरी - 28 जुलाई
- दूसरे चरण में आवंटित स्कूल का पत्र डॉउनलोड करना, स्कूल में उपस्थिति होना, एडमिशन रिपोर्टिंग करना - 28 जुलाई से 5 अगस्त

ये है पात्रता


वंचित समूह

- अजा वर्ग का बच्चा हो

- अजजा वर्ग का परिवार हो

- वनभूमि पट्टाधारी परिवार

- विमुक्त जाति का परिवार

- निश:क्त बच्चे (मेडिकल बोर्ड से जारी प्रमाण पत्र आधार) कमजोर वर्ग
- गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवार के बच्चे

- अनाथ बच्चे (राज्य शासन द्वारा अनाथ बच्चों को कमजोर वर्गमें शामिल किया गया)

- कोविड - 19 में माता-पिता/अभिभावक की मृत्यु के कारण अनाथ हुए बच्चे

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीउदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांडः कानपुर से आतंकी कनेक्शन, एनआईए की टीम जल्द जा कर करेगी छानबीनAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.