एसएसएनसीयु में शिशु की मौत पर अस्पताल में परिजनों को हंगामा

harinath dwivedi

Publish: Mar, 14 2018 01:09:22 PM (IST)

Ratlam, Madhya Pradesh, India
एसएसएनसीयु में शिशु की मौत पर अस्पताल में परिजनों को हंगामा

- तहसीलदार अजय हिंगे ने की समझाइश, सिविल सर्जन ने मौके से तुरंत नर्स को हटाया

 

रतलाम

जिला अस्पताल में स्थित नवजात गहन चिकित्सा ईकाई में इलाज दौरान चार दिन के शिशु की मौत हो जाने पर परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। इस पर पुलिस बल के साथ तहसीलदार अजय हिंगे मामले में समझाइश करने पहुंचे। इस दौरान परिजनों के आरोप की लिखित में शिकायत लेकर उन्हें निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया और मामले में शव का पैनल से पीएम कराने की हिदायत दी। वहीं सिविल सर्जन डॉ. आनंद चंदेलकर ने तत्कालिक इलाज में लापरवाही के चलते ड्यूटी नर्स को वहां से हटा दिया है।

 

 

मोहन नगर निवासी एजाज कुरैश पिता अनवर कुरैशी ने बताया कि दिनांक १० मार्च रात्रि को उनके पुत्र हुआ था। डॉक्टर ने यह कहकर आईसीयू में भर्ती कर दिया था कि इसके गले की नली में गंदा पानी जा चुका है। चूंकि 10 मार्च से 13 मार्च तक वह मासूम आईसीयू में भर्ती रहा तथा दिनांक १३ मार्च अर्थात मंगलवार की शाम करीब साढे चार बजे उनकी पत्नी को पुत्र नर्स ने दिया और कहा कि यह ठीक है। आज ही सांयकाल पांबजे उसकी नाक से पानी आने लगा, तब उसे दोबारा आईसीयू में ले गया तो डॉक्टर ने यह कहा कि शिशु को मरे हुए डेढ मिनट हो चुके हैं। अत: उसे पता नहीं कि बच्चे का इलाज कर रहे डॉक्टर का नाम क्या है। वह ट्रेनी डॉक्टर लग रहा था। चिकित्सा में लापरवाही के चलते उसने अपना पुत्र खोया है, एेसा किसी के साथ न हो इसके लिए डॉक्टर व नर्स स्टाफ पर कड़ी कार्रवाई की मांग की गई है।

 

गंभीर हालत थी बच्चे की
दस मार्च को जिला अस्पताल में ही बच्चे का जन्म हुआ था। प्रसव के दौरान उसके गले की नली में गंदा पानी चला गया था। जिससे उसकी तबीयत बिगड़ गई थी और वह एसएनसीयू में भर्ती था। शाम को साढे चार बजे मां के द्वारा दूध पिलाने के बाद वह सीरियस हो गया। चिकित्सक ने उसे मृत बताया। इस दौरान नर्स को डॉक्टर से पूछकर उसे दुध पिलाने के लिए सौंपना था। उसकी हालत बिगडऩे पर तुंरत डॉक्टर को सूचित करना था। नर्स की मामले में प्राथमिक रूप से लापरवाही सामने आई है, उसे यहां से हटा दिया गया है। वहीं शव का पोस्टमार्टम करने के बाद चिकित्सा में लापरवाही अन्य सामने आने पर जिम्मेदारों पर कार्रवाई की जाएगी।

- डॉ. आनंद चंदेलकर, सिविल सर्जन जिला अस्पताल।

 

करंट लगने से मजदूर युवक की मौत

औद्योगिक थाना क्षेत्र के घटला ब्रिज के पास रेत प्लांट पर लीडल बाइबेटर मशीन पर कार्य करते समय तार में कट होने पर मशीन ऑपरेटर करंट की चपेट में मंगवार शाम करीब साढे छह बजे चपेट में आ गया। जिसे साथी कर्मचारी लेकर अस्पताल पहुंचे। डॉक्टर ने चैकअप के दौरान मृत बताया। पुलिस ने शव को मुर्दाघर में रखवा दिया है। मृतक का बुधवार सुबह पोस्टमार्टम होगा।एएसआई राय सिंह रावत ने बताया कि राजीवनगर निवासी मोहसिन हुसैन (24) पिता अनवर हुसैन घटना ब्रिज के पास स्थित रेत फैक्ट्री में काम करता है। यहां गिट्टी से चूरी रेत बनती है। वह लीडल वाइब्रेटर मशीन से पत्थर तोड़ते समय तार में कट होने से हाथ में आने पर करंट की चपेट में आ गया। उसे तुरंत साथी कर्मचारी और उसके पिता उसे लेकर जल्द जिला अस्पताल पहुंचे। जहां पर चैकअप के दौरान उसे मृत बताया गया। पुलिस ने शव को मुर्दाघर में रखवा दिया है, मृतक का बुधवार सुबह पोस्टमार्टम होगा। हादसे की सुन फैक्ट्री मालिक मेहबूब अली भी अस्पताल पहुंचा। मृतक के पिता पर जवान बेटे की मौत की शिकन साफ दिख रही थी। लेकिन मृतक का भाई इरफान पिता को दिलासा दे रहा था।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned