दुनियाभर के युवाओं को मात देकर 74 साल की उम्र में जीता 3 गोल्ड

दुनियाभर के युवाओं को मात देकर 74 साल की उम्र में जीता 3 गोल्ड

Ashish Pathak

September, 2010:29 AM

रतलाम। उनकी उम्र पोते-पोतियों को खिलाने की है, लेकिन वो खुद मैदान में खेलते है। जब उनको कोई मैदान में खेलते हुए देखता है तो आश्चर्य से भर जाता है। उन्होंने स्वीडन, स्पेन, इराक आदि जगह रहकर खेल में अपनी विशिष्ठ पहचान बनाई है। हाल ही में चर्चा में तब आए जब जापान, मलेशिया के साथ-साथ रशिया के खिलाडि़यों को हराकर उन्होंने भारत के लिए टेबल टेनिस में एक या दो नहीं, तीन स्वर्णपदक जीते। ये कमाल उन्होंने किस तरह किया, देखें पूरा वीडियो।

मलेशिया में आयोजित एशिया पेसेफिक मास्टर गेम्स टेबल टेनिस स्पर्धा में रतलाम के 74 वर्षीय खिलाड़ी ने लगातार तीन गोल्ड मेडल जीत इतिहास रच दिया। रतलाम के इंद्रेशचंद्र पुरोहित ने मलेशिया में 7 से 14 सितंबर तक आयोजित स्पर्धा में भाग लिया गया था। इसमें सिंगल, डबल व टीम इवेंट में बेहतर प्रदर्शन कर तीनों में गोल्ड पर कब्जा जमाया। इंद्रेश सोमवार को रतलाम लौटे तो उनसे जुड़े लोगों ने जोरदार स्वागत किया।

चलाते थे राजधानी

इंद्रेश रेलवे से सेवानिवृत्त हुए है, उनके द्वारा पहले एशिया पेसेफिक मास्टर गेम्स में भाग लिया गया था। मलेशिया के पैनांग में आयोजित हुई स्पर्धा में सिंगल में बेहतर प्रदर्शन कर 3-1 से जीत दर्ज की थी। इसके बाद डबल में भी गुजरात के सूरत में रहने वाले नाजमी के साथ बेहतर खेल खेलते हुए 3-0 से विरोधी टीम को हराया था और फिर टीम इवेंट के निर्णायक मुकाबले में मेजबान जापान को 3-1 से हराकर स्पर्धा का तीसरा गोल्ड जीता।

81 देशों से आए थे खिलाड़ी

इंद्रेश ने बताया कि स्पर्धा में 81 देशों के 2500 खिलाडिय़ों ने विभिन्न खेल स्पर्धाओं में भाग लिया था। इसमें टेबल टेनिस में 19 देशों के खिलाड़ी भाग लेने के लिए पहुंचे थे। उसमें उक्त खेल में भारत की तरफ उनके साथ गुजरात के साथी ने देश का प्रतिनिधित्व किया था, जिसमें बेहतर प्रदर्शन कर उनके द्वारा ये मुकाम हासिल किया गया है। उनका लक्ष्य अब अगली स्पर्धा में बेहतर प्रदर्शन कर गोल्ड के सिलसिले को बरकरार रखना है।

 

रोज तीन घंटे अभ्यास

इंद्रेश ने नौकरी में रहते हुए खेल से जुडक़र कई राष्ट्रीय स्पर्धाओं में भाग लेकर पदक जीते है। वर्तमान में वह अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में अंपायरिंग कर रहे है। 74 की उम्र में भी वह रोज सुबह-शाम करीब तीन घंटे अभ्यास करते है। अपने खेल में फूर्ति बनी रहे उसके लिए वह डाइट पर विशेष तौर रूप से ध्यान देते है। शहद, दही, ड्रायफू्रट, दूध, चवनप्राश,फल, भोजन में हरी सब्जी व दाल का सेवन करते है। वहीं सुबह खेलकर आने के बाद चाय व पोहे उनकी डाइट में शामिल है।

 

Ashish Pathak
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned