जांच कराई.... भ्रष्टाचार उजागर हुआ, नहीं की कार्रवाई

bhuvanesh pandya

Publish: Sep, 17 2017 12:12:57 (IST)

Ratlam, Madhya Pradesh, India
जांच कराई.... भ्रष्टाचार उजागर हुआ, नहीं की कार्रवाई

दो साल से भोपाल में दबी ड्रिप स्प्रिंकलर में वितरण में हुए भ्रष्टाचार की जांच रिपोर्ट

 

रतलाम। प्रदेशभर में फर्जी तरीके से ड्रिप स्प्रिंकलर बांटे जाने की शिकायत पर जिले में हुई जांच में भ्रष्टाचार उजागर होने के बाद भी अब तक दोषियों पर कार्रवाई नहीं हुई है। शिकायत पर शासन ने जांच तो कराई लेकिन जब गड़बड़ी उजागर हुई तो जिम्मेदारों पर कार्रवाई करने के बजाए जांच रिपोर्ट ही दबाकर बैठ गए है। इतना ही नहीं जिस जांच में लाखों रुपए का भ्रष्टाचार उजागर हुआ था, वह सिर्फ एक विकासखंड की थी, यदि सभी विकासखंडों की जांच होती ये भ्रष्टाचार करोड़ों में पहुंच जाता।

 

ड्रिप में फर्जीवाडे़ की शिकायत के बाद प्रदेश के सभी जिलों के एक-एक विकासखंड में जिला पंचायत को जांच का जिम्मा सौपा था। इस पर रतलाम जिले के पिपलौदा विकासखंड की जांच के निर्देश मिले थे, जिस पर तात्कालीन जिपं सीईओ हरजिंदरसिंह ने जांच दल गठित कर जांच कराई थी। इस जांच में पिपलौदा विकासखंड के करीब चार हजार किसानों को शासन की योजनानुसार ड्रिप स्प्रिकंलर का वितरण किए जाने की बात सामने आई थी।

भौतिक सत्यापन में खुली पौल
जिपं की जांच के दौरान जब किसानों का भौतिक सत्यापन कराया गया तो ४६० से अधिक किसान फर्जी पाए गए थे। ये वह किसान थे जिनके नाम से लाखों रुपए के ड्रिप स्प्रिकंलर कृषि व उद्यानिकी विभाग ने जारी तो किए है, लेकिन इनमें से एक भी किसान पूरे विकासखंड में जांच दल को कहीं नहीं मिला। ये सभी कागजों पर दर्शाए गए वह किसान थे, जिनमें नाम से लाखों रुपए का फर्जीवाड़ा हुआ है और जांच के बाद यह दब गया है।

भोपाल में जांच रिपोर्ट
पिपलौदा विकासखंड में उजागर हुए भ्रष्टाचार की जांच के बाद दोषियों पर अब तक कार्रवाई नहीं हुई है। इतना ही नहीं दोषी कौन है यह भी अब तक तय नहीं किया गया है। दरअसल शासन ने जांच के बाद रिपोर्ट मांगी थी, जो जिला पंचायत ने शासन को भेजी दी थी। एेसे में कार्रवाई भी शासन स्तर से किए जाने की बात कही गई थी, लेकिन आज तक न तो किसी जिम्मेदार पर दोषसिद्ध हुआ है और न किसी पर कार्रवाई हुई है।

भोपाल भेजी रिपोर्ट
- जांच करने पर जो जानकारी सामने आई थी, उसे भोपाल भेज दिया गया था। आगे की कार्रवाई भोपाल से ही होना थी।
दिनेश वर्मा, प्रभारी सीईओ, जिला पंचायत, रतलाम

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned