मिली एक्सपायरी डेट दवाई-बीज, तीनों कृषि फर्मो के लायसेंस निलंबित

मिली एक्सपायरी डेट दवाई-बीज, तीनों कृषि फर्मो के लायसेंस निलंबित

Gourishankar Jodha | Publish: Sep, 08 2018 12:52:49 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

मिली एक्सपायरी डेट दवाई-बीज, तीनों कृषि फर्मो के लायसेंस निलंबित

 

रतलाम। आखिरकार तीनों कृषि फर्मों के लायसेंस निलंबित कर दिए गए, मामला जुलाई माह में कलेक्टर के निर्देश पर कृषि विभाग की बगैर जानकारी में लाए जिला प्रशासन की टीम में शहर की तीन प्रमुख कृषि फर्मों पर अचानक दबिश दी और बड़ी मात्रा में एक्सपायरी डेट की दवाई और बीज बरामद किए। माल जब्त की कार्यवाही पूरे दिन चली, जिसमें एसडीएम, तहसीलदार ने मौके से सामग्री एकत्रित करवाई, फिर कृषि अधिकारियों को सूचना देकर पंचनामें पर हस्ताक्षर करवाने के लिए बुलाया था।
हम बात कर रहे है रतलाम जिले की जहां पर जिला कलेक्टर रूचिका चौहान के निर्देश पर 18 जुलाई को एसडीएम, तहसीलदार सहित अधिकारियों ने शहर की तीन प्रमुख कृषि फर्मों पर दबिश देकर बड़ी मात्रा में एक्सपायरी डेट की दवाई और बीज जब्त किए थे। फर्मों पर कई अनियमितताएं पाए जाने पर तीनों फर्मों शहर सराय की किसान एजेंसी 09, सर्वादय एजेंसी तथा वल्लभ मार्ग पावर हाउस रोड़ की कृषक एग्रो टेक इंडिया प्रा.लि फर्मों के लायसेंस निलंबित किए गए हैं। फर्मो के लायसेंस जांच के दौरान अनियमितताएं पाई जाने पर निलंबित कर दिए गए हैं। यह कार्यवाही उपसंचालक किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग तथा लायसेंस अथॉरिटी रतलाम जीएस मोहनिया द्वारा की गई है।

पौध संरक्षण अधिनियम 1968 के तहत कार्रवाई
उल्लेखनीय है कि पत्रिका ने 31 अगस्त को पेज नंबर 14 पर 'तीनों कृषि फर्मों पर 45 दिन बाद भी कार्रवाई तय नहीं Ó शीर्षक से खबर को प्रमुखता से प्रकाशित कर जिम्मेदारों को ध्यानाकर्षण करवाया था। बताया गया है कि तीनों कृषि फर्मों पर पौध संरक्षण अधिनियम 1968 के तहत अनियमितताओं जैसे स्टाक बुक संधारित नहीं करने, अपूर्ण पाये जाने, बिलबुक अपूर्ण पाये जाने, एक्सपायरी तिथि की औषधियां पाई जाने, लायसेंस व भावसूची का प्रदर्शन नहीं किए जाने पर शहर सराय की किसान एजेंसी 09, सर्वादय एजेंसी तथा वल्लभ मार्ग पावर हाउस रोड़ की कृषक एग्रो टेक इंडिया प्रालि फर्मों के लायसेंस निलंबित किए गए हैं।

18 जुलाई को की थी जिला प्रशासन की टीम ने कार्रवाई
उल्लेखनीय है कि जिला कलेक्टर के निर्देश पर गत 18 जुलाई को एसडीएम शिराली जैन, तहसीलदार रश्मि श्रीवास्तव सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने अलग-अलग दल बनाकर तीनों कृषि फर्मों पर दबिश एक्सपायरी डेट की दवाई और बीज जब्त किए थे। इसके बाद कृषि विभाग को मामला सुपुर्द किया था। विभाग ने नोटिस देकर सात दिन में जवाब देने के लिए कहा था, लेकिन समय बित जाने के बाद भी तीनों फर्मों से कोई जवाब नहीं आया था।

Ad Block is Banned