Loksabha Elecation: इन आंकड़ों ने बढ़ा दी भाजपा और कांग्रेस की धड़कन

आंकड़ों ने बदल दी दावों की कहानी, वोट तो बढ़े लेकिन गांव रहे आगे

By: sachin trivedi

Published: 21 May 2019, 02:05 PM IST

रतलाम. लोकसभा चुनाव के भारी मतदान के बाद राजनीतिक रणनीतिकारों के गणित गड़बड़ा गए है। हालांकि दावा अब नए आंकड़ों को अपने अपने पक्ष में बताकर जीत का किया जा रहा है, लेकिन चुनावी जानकारों की माने तो इस मतदान ने सीट का परिणाम पूरी तरह खुला कर दिया है। रतलाम, झाबुआ और आलीराजपुर की कुछ विधानसभाओं में बीते विधानसभा चुनाव की अपेक्षा वोटों की घट-बढ़ हुई है, ये किसके पक्ष में जाएगी यह तो 23 मई को परिणाम ही बताएंगे, लेकिन पूर्वानुमान नफा-नुकसान बता रहे है। रतलाम-झाबुआ-आलीराजपुर जिले में मतदान का आखिरी आंकड़ा जारी हो गया है। रतलाम संसदीय सीट 75.19 फीसदी मतदान हुआ है तो रतलाम जिले में 79.76 प्रतिशत व झाबुआ जिले में 75.57 और आलीराजपुर जिले में 68.43 प्रतिशत मत डाले गए है। लोकसभा चुनाव 2014 और विधानसभा चुनाव 2018 की अपेक्षा संसदीय सीट की 8 विधानसभाओं में से 5 पर मतों का धु्रवीकरण हुआ है, तीन पर अपेक्षाकृत कमी रही है। इन आंकड़ों को लेकर रणनीतिकार पूर्वानुमान में नफा और नुकसान का आंकलन कर रहे है। भाजपा मोदी के मैजिक की बात कह रही है तो कांग्रेस का भी अपना दावा है।

patrika

आंकड़ों ने बदल दी दावों की कहानी
रतलाम शहर विधानसभा में वोट तो बढ़े लेकिन गांव रहे आगे
- रतलाम शहर विधानसभा को भाजपा की परंपरागत सीट माना जाता है। यहां करीब 73.14 प्रतिशत वोट पड़े है, यह विधानसभा के आंकड़े 71.82 फीसदी से ज्यादा है। शहर भाजपा के साथ जाता है, लेकिन इसी विधानसभा के गांव में भी वोट बढ़ गया है। मथुरी जैसे गांव में सबसे ज्यादा 91.64 फीसदी वोटिंग चौंकाने वाली रही है तो करमदी गांव में 90.83 प्रतिशत की वोटिंग शहरी बूथों की अपेक्षा ज्यादा रही है। शहर के 257 मतदान केन्द्रों मेें से 131 मतदान केन्द्रों पर 70 प्रतिशत से ज्यादा मत डाले है तो करीब ६५ मतदान केन्द्र ऐसे है जहां, 65 से 68 प्रतिशत तक वोटिंग की गई है।

ये है शहर सीट के टॉप-3 बूथ
- बूथ क्रमांक 250मथुरी: 91.64 प्रतिशत
- बूथ क्रमांक 253 करमदी: 90.83 प्रशित
- बूथ क्रमांक 146 हाकीमवाड़ा: 89.80 प्रतिशत।

 

patrika

रतलाम ग्रामीण विधानसभा में वोटिंग कम हो गई
- विधानसभा चुनाव में कमल खिलाने वाली रतलाम ग्रामीण विधानसभा में लोकसभा चुनाव में वोटिंग कम हुई है। लोकसभा चुनाव में ग्रामीण सीट पर करीब 83.56 प्रतिशत वोट पड़े है तो विधानसभा में ये आंकड़ा 85.10 प्रतिशत था। इस लिहाज से दावों की कहानी बदल सकती है। ग्रामीण विधानसभा के उन गांव में वोट प्रतिशत कम हुआ है, जहां विधानसभा चुनाव के दौरान जीतने वाले प्रत्याशी के पक्ष में ज्यादा वोट आए थे। विधानसभा के 252 बूथों में से 21 में 90प्रतिशत से ज्यादा मतदान दर्ज किया गया है। ग्रामीण विधानसभा के कलौलीकला में सबसे ज्यादा 93.56 प्रतिशत मतदान दर्ज हुआ।
----
ये है ग्रामीण के टॉप-3 बूथ
- बूथ क्रमांक 154 कलौकलां: 93.56 प्रतिशत
- बूथ क्रमांक 87 हल्दुखाली: 93.32 प्रतिशत
- बूथ क्रमांक 131 कुआंझागर: 93.39 प्रतिशत

 

sachin trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned