scriptmadhya pradesh ats latest news in hindi | तो क्या राजस्थान की इन जेल में रची जा रही थी जयपुर को दहलाने की साजिश? | Patrika News

तो क्या राजस्थान की इन जेल में रची जा रही थी जयपुर को दहलाने की साजिश?

पिंक सिटी जयपुर को आरडीएक्स से दहलाने की साजिश के तार अब जेल तक पहुंच गए है। मध्यप्रदेश के रतलाम में राजस्थान की एटीएस आई थी, वो जांच करके राजस्थान पहुंच गई है।

रतलाम

Updated: April 07, 2022 07:18:02 am

रतलाम. पिंक सिटी जयपुर को आरडीएक्स से दहलाने की साजिश के तार अब जेल तक पहुंच गए है। मध्यप्रदेश के रतलाम में राजस्थान की एटीएस आई थी, वो जांच करके राजस्थान पहुंच गई है। जयपुर को विस्फोटकों से दहलाने की साजिश के तार अब प्रतापगढ़ व भैरवगढ़ जेल से भी जुड़ रहे हैं। मंगलवार को रतलाम आई राजस्थान एटीएस बुधवार की देरशाम को वापस लौट गई। टीम में करीब 30 से ज्यादा जांचकर्ता और सुरक्षाकर्मी शामिल थे। एक टीम सुबह के समय रवाना हुई तो दूसरी टीम दो जगहों पर पूछताछ के बाद लौटी। एटीएस ने मुख्य साजिशकर्ता इमरान के पोल्ट्री फार्म से करीब 4 बोरों में शंकास्पद सामग्री भी जब्ती में ले ली है, इसकी जयपुर में जांच कराई जाएगी। उधर, अलसूफा से जुड़े तीन अन्य संदिग्धों की तलाश भी तेज कर दी गई है, एटीएस को पूछताछ के दौरान इनके इस घटना में शामिल होने का इनपुट मिला है, हालांकि इन संदिग्घों को लेकर फिलहाल कोई खुलासा नहीं किया जा रहा है, लेकिन जांचकर्ताओं की नजर जेल में बंद कुछ सूफा सदस्यों पर भी है, संभवत: वे जेल से ही मदद कर रहे थे।
Two cars collided hard, four people burnt, three injured
दो कारों में जोरदार भिंडत,चार लोग जले, तीन घायल
निंबाहेड़ा में 30 मार्च को 12 किलो विस्फोटक सामग्री के साथ धराए रतलाम के तीन आरोपियों असजद, जुबेर और सेफुल्ला के साथ इमरान व अन्य 2 आरोपियों को लेकर राजस्थान एटीएस ने रतलाम में दो दिन तक जांच की है। बुधवार को एटीएस के दोनों ही दल वापस लौट गए। एटीएस ने रतलाम में जांच और तलाशी के दौरान दो महत्वपूर्ण इनपुट हासिल किए हैं। मास्टरमाइंड इमरान के पोल्ट्री फार्म से विस्फोटक कार में रखा गया था, जांच के दौरान एटीएस ने पोल्ट्री फार्म से शंकास्पद सामग्री भी जब्त की है। इनके सैंपल जांच के लिए विशेष प्रयोगशाला भेजे जाएंगे, साथ ही पूर्व में बरामद विस्फोटक के सैंपलों की जांच रिपोर्ट से मैच भी किए जा सकते हैं। वहीं, एक अन्य इनपुट यह भी मिला है कि इस साजिश में प्रतापगढ़ व उज्जैन जिले के भैरवगढ़ जेल में बंद कुछ अलसूफा सदस्य भी शामिल हो सकते है, अब इनके कनेक्शन को तलाशा जा रहा है। उधर, रतलाम में अलसूफा से जुड़े तीन संदिग्धों की तलाश भी तेज कर दी गई है। बताया जा रहा है कि इनमें एक सूफा का संस्थापक एवं दो अन्य उसके साथी है। रतलाम के कपिल हत्याकांड के कुछ आरोपी प्रतापगढ़ की जेल में बंद है तो कुछ आरोपियों को उज्जैन के भैरवगढ़ जेल में रखे जाने की बात कही जा रही है।
#rime जयपुर दहलाने की साजिश के तार पहुंचे राजस्थान की जेल तक
IMAGE CREDIT: patrika
छह जिलों पर नजर

राजस्थान और मध्यप्रदेश एटीएस विस्फोटक बरामदगी मामले में मध्यप्रदेश व राजस्थान के छह जिलों में जांच कर रही है। मध्यप्रदेश के रतलाम, उज्जैन के साथ राजस्थान के चित्तौढगढ़़, जयपुर, प्रतापगढ़ और टोंक क्षेत्र में जांच चल रही है। निंबाहेड़ा पुलिस ने पूरा प्रकरण राजस्थान एटीएस को सौंप दिया है, लेकिन एक टीम अब भी जांच में जुटी हुई है। वहीं, मध्यप्रदेश में एटीएस के साथ ही भोपाल, इंदौर और रतलाम पुलिस जांच कर रही है। गृहमंत्रालय सीधे मामले पर हर जांच और गतिविधि की रिपोर्ट भी ले रहा है।
मकान मालिक की जिम्मेदारी की तय

रतलाम से आतंकी कनेक्शन होने संबंधी तथ्य के बाद स्थानीय पुलिस अपनी सर्तकता दिखा रही है। अब पुलिस मकान मालिकों से किराएदारों की जानकारी दिए जाने का अभियान चला रही है। पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी ने जिलेभर के लिए आदेश जारी किए है, जिसमें बताया गया है कि यदि आप मकान मालिक है और आपके मकान में किराएदार है या फिर दुकान पर कर्मचारी है, तो उसके संबंध में जानकारी संबंधित थाने में निर्धारित प्रारूप में भरकर देना होगी। रतलाम पुलिस ने इसके लिए अभियान शुरू किया है। निर्देशों का पालन नहीं करने पर संबंधित मकान मालिक के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की बात भी कही है। पुलिस ने जानकारी एकत्र करने के संबंध में एक प्रोफार्मा भी तय किया है, जिसके तहत जानकारी उपलब्ध कराना होगी। जानकारी नहीं दिए जाने पर धारा 188 के तहत कार्रवाई की कार्रवाई की जा सकती है।
जब्त विस्फोटक की जांच कर रही विशेष लैब

उधर, निंबाहेड़ा में कार से जब्त विस्फोटक की जांच के संबंध में जयपुर एफएसएल के मुताबिक, राजस्थान एटीएस ने टाइमर बम की जांच करवाने के लिए मौखिक संपर्क किया था, लेकिन बाद में विस्फोटक सामग्री की जानकारी ली तो पाउडर था, जिसकी राजस्थान एफएसएल में जांच की जा सकती है। राजस्थान एटीएस ने मंगलवार को विस्फोटक सामग्री का सैंपल एफएसएल में जमा करवाया। एफएसएल के निदेशक डॉ. अजय शर्मा ने कहा कि पाउडर के रूप में विस्फोटक सामग्री जमा करवाई है। जांच के बाद पता चलेगा, कौनसा विस्फोटक है। गौरतलब है कि इतना गंभीर मामला है। इसके बावजूद आज तक विस्फोटक कौनसा है, इसकी जानकारी नहीं हो सकी।
#rime जयपुर दहलाने की साजिश के तार पहुंचे राजस्थान की जेल तक
IMAGE CREDIT: patrika

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकाअजमेर की ख्वाजा साहब की दरगाह में हिन्दू प्रतीक चिन्ह होने का दावा, पुलिस जाप्ता तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.