मकर संक्रांति: मंदिरों में दान-पुण्य...मैदानों पर गिल्ली डंडा

मकर संक्रांति: मंदिरों में दान-पुण्य...मैदानों पर गिल्ली डंडा

harinath dwivedi | Publish: Jan, 14 2018 12:50:54 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

मकर संक्रांति पर शहरवासियों ने पतंगबाजी के साथ तिलगुड़ का उठाया आनंद, पूरे दिन खेल मैदानों पर रही चहल पहल


रतलाम। मकर संक्रांति का पर्व आज शहर में भक्तिभाव और दानपुण्य कर मनाया। सुबह से शाम तक घरों पर तिलगुड़ से आवाभगत और खेल मैदान पर जहां गिल्ली डंडे की चहल पहल रही। शहर के कालिका माता मंदिर , बरवड़ हनुमान मंदिर, शनि मंदिर चिंगीपुरा, गोपाल गौशाला आदि स्थानों पर बड़ी संख्या में धर्मालु पहुंचे और दानपुण्य कर गायों को हरी घांस और मिष्ष्ठान के सेवन कराया।शहरवासियों ने मकानों की छतों से पतंगबाजी का भी लुत्फ उठाया जाएगा। ज्योतिषाचार्य संजय शिवशंकर दवे ने बताया कि १४ जनवरी को सूर्यदेव १ बजकर ४६ मिनट पर मकर राशि में प्रवेश किया। रविवार सूर्यवार होने से इसका महत्व बड़ा रहा है। इस दिन स्वर्णआभूषण, वस्त्र आदि की शुभ मुहूर्त में खरीदारी भी हुई।

अभ्यागत भोजन एवं जरुरतमंदों को वस्त्र वितरण

मलमास (धर्नुमास) की समाप्ति होगी, मलमास की समाप्ति से ही वैवाहिक मांगलिक कार्य प्रारंभ हो जाते हैं, लेकिन इस बार १६ दिसंबर से २ फरवरी तक शुक्र अस्त होने से वैवादिक मांगलिक कार्यों में विलंब रहेगा। मकर संक्रांति पर माणकचौक क्षेत्र के व्यापारियों द्वारा ५५ वर्षों से क्षेत्र में अभ्यागत भोजन एवं जरुरतमंदों को वस्त्र वितरण की सेवा की। दोपहर १२ से शाम ३ बजे तक आयोजित हुआ।
ज्योतिषाचार्यों के अनुसार पौष मास में जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है, तभी इस पर्व को मनाया जाता है। आज सूर्यदेव धनु राशि छोड़कर मकर राशि में प्रवेश किया। इस दिन किए गए से दान सौ गुना पुण्य प्राप्त होता है तथा घी, कंबल, गुड़़ व तिल के दान से मोक्ष की प्राप्ति होती है। आज के दिन तीर्थ स्नान से सभी पूर्वोक्त पापों का क्षमन भी होता है।


यहां रहेगी गिल्ली-डंडा धूम
शहर में प्रमुख रूप से कालिका माता मंदिर, गोपाल गौशाला, बरवड़ हनुमान मंदिर, शनि मंदिर में दानदाताओं पहुंचें। वहीं शहर के नेहरू स्टेडियम, पोलो ग्राउंड, बरवड़ क्षेत्र, शासकीय कला एवं विज्ञान महाविद्यालय, हनुमान ताल आदि क्षेत्रों सहित गली मोहल्लों में भी गिल्ली-डंडा खेलने वालों की धूम रही। दूसरी तरफ पतंगबाजी का भी लुत्फ उठाया।

 

राशि अनुसार करे दान
मेष-वृश्चिक- दाल, लाल वस्त्र, गुड़ का दान करे।
वृषभ-तुला- चावल, पाठ्यपुस्तक, मिष्ष्ठान।
मिथुन-कन्या- धनिया खड़ा, गुड़, लडड्डू, कॉपी पेन।
कर्क- दूध, घी, गौमाता को चारा, सफेद वस्त्र।
सिंह- तिल्ली-गुड़, मटर, मसूर दाल।
धनु-मीन- धार्मिक पुस्तक, पुजन पात्र।
मकर-कुंभ- पादुका, बर्तन, कंबल, चादर, ऊनी वस्त्र।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned