मानसिक रोगी के अपशब्द कहने पर की थी दो युवकों ने हत्या

मानसिक रोगी के अपशब्द कहने पर की थी दो युवकों ने हत्या
Mentally speaking abused word, Two youths killed

vikram ahirwar | Publish: May, 20 2017 11:41:00 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

- गुलाबशाह बाबा की दरगाह से कुछ आगे खेत में बनी झोपड़ी में मिले शव की हत्या का मामला


रतलाम
माणकचौक पुलिस ने रतनलाल के खेत में बनी झोपड़ी में मिले शव की हत्या के मामले में दो युवकों को शनिवार को गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि मानसिक रोगी उनकी छत पर सोने की जिद कर रहा था, उसे रोका तो अपशब्द कहना शुरू किया और आक्रोश में लाठी से वार कर घायल कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। साक्ष्य छुपाने के लिए पत्थर से चहेरे पर वार किया और शव को झोपड़ी में छुपाया। पुलिस ने दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर मामले की तस्दीकी के लिए दो दिन के रिमांड पर लिया है।

      पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने बताया कि 16 मई को रतनलाल माली के खेत पर बनी टापरी में अज्ञात शव मिलने की सूचना माणक चौक थाना को मिली थी। शिनाख्त मथुरी निवासी फूल सिंह के रूप में हुई थी। पुलिस ने हत्या में प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की थी। पुलिस को मौके पर मिली लाठी, जांच की तो इस तरह की लाठी दीपक के घर पर होना मालूम पड़ा। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की और अन्य साक्ष्य जुटाए। जिसके बाद उसने हत्या कबूल की।

यूं हुई हत्या
सीएसपी विवेक सिंह चौहान ने बताया कि 16 मई की रात दीपक राठौर के खेत पर बने भैंस के तबेले की छत पर शराब पी रहे थे। रात करीब 11.30 बजे फूलसिंह आया और दीपक को बोला कि छत पर ही सोऊंगा। दोनों ने उसे भगाया, तो फूलसिंह अपशब्द कहने लगा। इस पर मयूर राठौर को बाइक के पीछे बिठाकर फूलसिंह का पीछा किया। फूलसिंह को पकड़कर सिर व हाथ पर ल_ से वार किए। मयूर ने पत्थर सिर पर मारा। साक्ष्य छुपाने के उद्देश्य से लाश को रतनलाल के खेत में बनी टापरी में छुपा दिया। पुलिस ने मामले में आरोपी दीपक (22) पिता राजेश राठौर और औसवाल नगर निवासी मयूर (25) पिता राजकुमार राठौर को धारा 302, 201 व 34 आईपीसी में प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार किया है।

टीम को किया दस हजार से पुरस्कृत
हत्या की गुत्थी को सुलझाने के मामले में टीम के थाना प्रभारी नरेंद्र यादव, पीएसआई जितेंद्र चौहान, एएसआई विनोद कटारा, कमाल सिंह बामनिया, आरक्षक राहुल जाट, हिमांशु यादव, हिम्मतसिंह, नीरज त्यागी, अभिषेक पाठक, करण आस्के, राकेश डाबर, रोनक पोरवाल, बद्रीलाल चौधरी, हेमंत निम्बोदिया, रणजीत सिंह, पप्पू बाघेला व दीनदयाल नगर थाने के धर्मेंद्र जाट का सराहनीय सहयोग रहा है। पुलिस अधीक्षक ने इन्हें दस हजार रुपए के इनाम से पुरस्कृत करने की घोषणा की है।


MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned