आज से आंगनवाड़ी के बच्चों को नहीं मिलेगा निवाला

पिपलौदा में मध्यान्ह भोजन के स्व सहायता समूहों ने की घोषणा

By: Yggyadutt Parale

Published: 18 Feb 2020, 06:06 PM IST

रतलाम। आंगनवाड़ी में बच्चों को मिलने वाले मध्याह्न भोजन पर जल्द ही ब्रेक लगना है। इसके पीछे शासन द्वारा राशि नहीं बढ़ाने की बात कही जा रही है। बच्चों को भोजन परोसने वाले स्व सहायता समूह संचालकों ने अब योजना के तहत दर बढ़ाने की मांग को लेकर मोर्चा खोल दिया है। उनका कहना है सालों पुरानी दरों पर भोजन बनाना अब संभव नहीं है।
शालाओं में दिए जाने वाले मध्यान्ह भोजन के स्व सहायता समूहों ने 19 फरवरी से काम बंद किए जाने की घोषणा की है। इससे जनपद क्षेत्र की शालाओं तथा आंगनवाडिय़ों में बच्चों को मध्यान्ह भोजन नहीं मिल पाएगा। इस संबंध में इन समूहों ने संयुक्त हस्ताक्षर से मुख्यमंत्री, विधायक, कलेक्टर, एसडीएम, जिला पंचायत सीईओ तथा जनपद पंचायत व परियोजना अधिकारी महिला बाल विकास विभाग को ज्ञापन सौंप कर समस्याओं का निराकरण नहीं किए जाने तथा विभिन्न मांगों को नहीं माने जाने तक काम नहीं करने की घोषणा की है। समूहों में एक माह पूर्व कलेक्टर को दिए ज्ञापन पर विचार नहीं किए जाने से असंतोष है।

जनपद क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों में आंगनवाडिय़ों तथा शालाओं में स्व सहायता समूहों के माध्यम से मध्यान्ह भोजन तथा पोषण आहार बच्चों को दिया जाता है। इन समूहों के संचालकों का कहना है कि अगस्त 2017 से खाद्यान्न तथा राशि में कटौती की गई है, लेकिन आवश्यक सामग्री दरे मंहगी हो गई है। इन दरों में कोई संशोधन शासन ने नहीं किया है। इसके साथ ही विभिन्न पर्वों तथा राष्ट्रीय त्यौहारों पर विशेष मध्यान्ह भोजन का आदेश दिया जाता है, लेकिन कोई अतिरिक्त राशि इसके लिए नहीं दी जाती है। भोजन बनाने के लिए पेयजल तथा सफाई की व्यवस्था भी समूहों को करना पड़ती है। इन समस्याओं को लेकर कलेक्टर को 4 जनवरी को ज्ञापन सौंप कर अवगत करवाया गया था, लेकिन 1 माह से अधिक समय हो जाने के बाद भी समस्याओं का न तो निराकरण किया गया तथा न ही समूहों को इस संबंध में चल रही कार्यवाही से अवगत करवाया गया। इससे समूहों में रोष है।

................................

Yggyadutt Parale Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned