सैलाना में पूर्व विधायक व कांग्रेस नेता हर्षविजय को घर खाली करने का नोटिस

सैलाना में पूर्व विधायक व कांग्रेस नेता हर्षविजय को घर खाली करने का नोटिस

Sourabh Pathak | Publish: Oct, 14 2018 12:13:55 PM (IST) | Updated: Oct, 14 2018 12:13:56 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

सैलाना में पूर्व विधायक व कांग्रेस नेता हर्षविजय को घर खाली करने का नोटिस

रतलाम। चुनावी शंखनाद होते साथ ही चुनावी शिकायतों से जुड़ा दौर भी शुरू हो गया है। इसके तहत आचार संहिता लगने के बाद से अब तक आधा दर्जन शिकायते चुनाव आयोग के पास पहुंची है। इसमें एक शिकायत सैलाना में पूर्व कांग्रेस विधायक के पुत्र हर्षविजय गेहलोत के खिलाफ है, जबकि अन्य शिकायतें कर्मचारियों द्वारा चुनाव प्रभावित किए जाने से जुड़ी है, जो कि रतलाम शहर, ग्रामीण व सैलाना विधानसभा क्षेत्र की है। निर्वाचन आयोग से यह शिकायत हकरू मऊजी ने की।

 

इसमें बताया कि सैलाना के तत्कालीन विधायक प्रभुदयाल गेहलोत को वर्ष १९६९ में नगर पंचायत ने शासकीय भवन किराए पर दिया था। उनके स्वर्गवास के बाद से इस भवन में उनका पुत्र हर्षविजय गेहलोत निवास कर रहा है, जो कि उक्त आवास से चुनावी गतिविधियां संचालित करता है। एेसे में उनसे यह शासकीय आवास खाली कराया जाना चाहिए। शिकायत के बाद आयोग ने इसकी जांच के लिए नगर पंचायत सैलाना को शिकायत भेजी, जिस पर वहां से हर्षविजय को भवन खाली करने के लिए नोटिस भी जारी कर दिया गया है।

हर्षविजय ने दिया जवाब
वहीं नोटिस मिलने के बाद मामले में हर्षविजय ने अपने जवाब में कहा कि भवन उनके पिताजी को १९६९ में जारी हुआ था, तब से उनका परिवार इस आवास में रहता है। इस दौरान वह इसका किराया भी चुकाते है। वर्तमान में सितंबर माह तक का किराया जमा कराया जा चुका है, रही बात चुनावी गतिविधियों के संचालन की तो वे फिलहाल की स्थिति में तो किसी भी पार्टी से उम्मीदार नहीं है। फिर वह यहां से कांग्रेस के लिए कैसे चुनावी गतिविधियां संचालित कर सकते है।

बाबू का हुआ तबादला
वहीं एक अन्य शिकायत जनजातिय कार्य विभाग में पदस्थ बाबू विजेंद्र मोदी की हुई थी। शिकायत मुबारिक खान नाम के व्यक्ति ने की थी, जिसमें बताय था कि उक्त बाबू लंबे समय से रतलाम में है और वह यहां पर रहकर चुनाव प्रभावित कर सकता है। शिकायत की जांच के लिए संबंधित विभाग को भेजी थी, जहां से बाबू का तबादला रतलाम से सैलाना कर दिया गया है। इसी प्रकार अन्य विभाग से जुड़े कुछ अधिकारी व कर्मचारियों की शिकायतें भी हुई है, जिन्हे जांच के लिए संबंधित विभाग को प्रेषित कर दिया गया है।

इनका कहना है
आधा दर्जन शिकायते पहुंची
- आचार संहिता लगने के बाद से अब तक करीब आधा दर्जन शिकायतें मिली है। इनमें एक शिकायत सैलाना में हर्षविजय के खिलाफ है, शेष शिकायते कर्मचारियों द्वारा चुनाव प्रभावित करने से जुड़ी है, जिनके संबंध में जांच कर कार्रवाई के लिए उन्हे संबंधित विभाग को भेजा जा चुका है।
रविंद्र जैन, शिकायत निराकरण अधिकारी जिला निर्वाचन

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned