election 2018 चुनाव से पहले रहेगा पीले चावल का महत्व, यहां पढे़ं क्या है ये पूरा मामला

election 2018 चुनाव से पहले रहेगा पीले चावल का महत्व, यहां पढे़ं क्या है ये पूरा मामला

Ashish Pathak | Publish: Oct, 14 2018 11:22:15 AM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

election 2018 चुनाव से पहले रहेगा पीले चावल का महत्व, यहां पढे़ं क्या है ये पूरा मामला

रतलाम। विधानसभा चुनाव 28 नवंबर को होना है। चुनाव से पहले पीले चावल का महत्व हो गया है। असल में चावल ने चुनाव से पहले अपना कद बढ़ा लिया है। चुनाव से पहले भाजपा महिला मोर्चा घर-घर चावल पहुंचाएगी। ये चावल उन घर में भी जाएंगे, जहां इसका उपयोग भले नामतात्र का होता हो। भाजपा महिला मोर्चा ने योजना बनाई है कि जिले में महिलाओं का मतदान प्रतिशत सुबह 10 बजे पूर्व तक बेहतर हो जाए। मतदान केंद्र पर महिला मतदाता सुबह 10 बजे पहले आए, इसके लिए घर-घर पीले चावल बांटने की योजना बनाई गई है।

जिला भाजपा महिला मोर्चा का सम्मेलन शुक्रवार को हुआ था। इसमे नेताओं के भाषण के बाद बैठक भी हुई थी। इस बैठक में ये तय किया गया है कि जिले में दीपावली के बाद महिला मोर्चा मंडल व बूथ स्तर पर पीले चावल बांटेगी। इसके लिए अभियान चलाया जाएगा। महिला मोर्चा के अनुसार इस अभियान की शुरुआत 10 नवंबर से करने की योजना है। 10 नवंबर से 15 नवंबर तक बूथ स्तर पर पीले चावल बांटने के बाद 18 नवंबर से महिलाएं घर-घर पर बूथ स्तर पर जाकर जनसंपर्क करेगी। इसमे महिलाओं व बेटियों के मतदान के प्रतिशत को बढ़ाने पर विशेष ध्यान रहेगा।

 

पहले मतदान फिर घर का काम

इस अभियान के लिए महिला मोर्चा ने स्लोगन भी तैयार किया है। इसमे पहले मतदान-फिर घर का काम शब्द कहा गया है। मोर्चा की महिलाओं के अनुसार सुबह से लेकर रात तक महिलाएं घर के कार्य में व्यस्त रहती है। एेसे में कई घर से तो महिलाए घरेलू कार्य के चलते ही मतदान के लिए नहीं आती है। इसलिए पुरुषों का मतदान का प्रतिशत तो अधिक रहता है, लेकिन महिलाओं की जब इस मामले में बात होती है, तब उनका प्रतिशत पुरुष मतदाताओं के मुकाबले कम होता है। इसलिए ही इस बार पीला चावल देने की योजना बनाई गई है।

इस तरह करेंगे ये कार्य


बूथ स्तर पर जाने के लिए मोहल्ले की टोलिया बनाई जाएगी। विधानसभा अनुसार महिला प्रभारी इसमे शामिल होगी। इसके अलावा एक मंडल में अगर एक ही दिन में एक से अधिक आयोजन है तो इसके लिए मोर्चा की अन्य महिला नेत्रियों को भेजा जाएगा। मोर्चा के अनुसार योजना को अंतिम रुप दिया जा रहा है।

 

महिला जागरुक तो पुरुष खुद जाग जाएगा

मोर्चा महिला मतदाताओं को जागरुक करने के लिए घर-घर पीले चावल बांटने के लिए अभियान चलाएगी। महिला मतदाता जाग गई तो पुरुष को तो वो मतदान करवा ही देगी। हमारा उद्देश्य महिलाओं से सुबह १० बजे पूर्व अधिक से अधिक मतदान करवाना है।


- पदमा जायसवाल, जिलाध्यक्ष, भाजपा महिला मोर्चा

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned