खेतों में जाकर सोयाबीन फसल में अफलन की स्थिति को देखा

खेतों में जाकर सोयाबीन फसल में अफलन की स्थिति को देखा

By: Akram Khan

Published: 23 Aug 2019, 06:10 PM IST

रतलाम। आलोट विकासखंड के गांवों में सोयाबीन की फसल में अफलन की स्थिति निर्मित होने की जानकारी मिलने पर विधायक मनोज चावला व कृषि अधिकारियों ने क्षेत्र के ग्राम गुलबालोद एवं खासपुरा का संयुक्त भ्रमण किया।

जिसमें उप संचालक कृषि ज्ञान सिंह मोहनिया एवं कृषि विज्ञान केंद्र कालूखेड़ा के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉक्टर सर्वेश त्रिपाठी, डॉक्टर मनोज कुमार जाट, कीट वैज्ञानिक एवं उप परियोजना संचालक केशव सिंह गोयल, ग्राम के कृषक सत्यनारायण शर्मा, राजेश शुक्ला आदि ने कृषक के खेतों में जाकर अफलन की स्थिति को देखा। तथा कृषकों को सलाह दी गई कि सोयाबीन फसल की अवधि 50 से 55 दिन की है उन्हें एनपीके 0.52-34 का 320 ग्राम प्रति टंकी 16 लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव कर अफलन से बचाने की सलाह दी गई। साथ ही सोयाबीन के प्रमुख कीटों के नियंत्रण के लिए इंडोक्साकार्ब 14.5 एस सी 300 मिलीलीटर को 500 लीटर पानी में मिलाकर प्रति हेक्टेयर छिड़काव करें या प्लूबेंदामीड 39.35 एस सी 150मिली का छिड़काव करें।

बीते दिन हुई अति वर्षा से ग्राम में सोयाबीन की पूरी फसल में लगभग अफलन सी स्थिति निर्मित हो गई है। इस विषय में कुलदीप सिंह करवाखेड़ी ने कृषि विकास अधिकारी दामोदर को अवगत करवाया। इस मौके पर किसान कृष्णपाल सिंह, दिनेश प्रजापत, नागूलाल चौधरी, फूलचंद मालवीय, धर्मेंद्र चौधरी सहित कई किसान उपस्थित थे।

Akram Khan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned