मध्यप्रदेश के इन मंत्री के सामने पीएम से लेकर सीएम तक यहां रहे गायब, नप गई छात्रावास अधीक्षक

मध्यप्रदेश के इन मंत्री के सामने पीएम से लेकर सीएम तक यहां रहे गायब, नप गई छात्रावास अधीक्षक

Ashish Pathak | Publish: Apr, 17 2018 02:37:00 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

मध्यप्रदेश के इन मंत्री के सामने पीएम से लेकर सीएम तक यहां रहे गायब, नप गई छात्रावास अधीक्षक

रतलाम। मध्यप्रदेश के मंत्री लालसिंह आर्य जिले के दौरे पर रहे तो वे अचानक छात्रावास में निरीक्षण करने पहुंच गए। यहां देखा की प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री व महामहिम राष्ट्रपति की तस्वीर नहीं हैं। इसके बाद छात्रावास अधीक्षक को निलंबीत कर दिया गया। मामला सैलाना के आदिवासी छात्रावास का है।

किसानों को प्रोत्साहन राशि बांटने राज्य के मंत्री आर्य आए थे। वे अचानक जिले के आदिवासी क्षेत्र सैलाना चले गए। यहां पर स्थित एकलव्य छात्रावास पहुंचे। निरीक्षण के दौरान मंत्री आर्य ने सवाल किया कि नियम अनुसार प्रधानमंत्री परेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान सहित महामहिम की तस्वीर रहना चाहिएं। क्यों नहीं हैं। इस पर अधीक्षक बागड़ी जवाब नहीं दे पाई। इसके बाद निलंबन की घोषणा कर दी गई। विद्यार्थियों ने मंत्री को बताया कि तय मीनू अनुसार भोजन नहीं मिलता है। यहां तक की सब्जियां उनको लाना होती हैं। मंत्री के साथ जावरा विधायक डॉ. राजेंद्र पांडे, सैलाना विधायक संगीता चारेल आदि साथ थे। विद्यार्थियों ने अनेक प्रकार की गड़बड़ी मंत्री आर्य को बताई।

इस पर मंत्री हुए जमकर नाराज

निरीक्षण के दौरान बालिका छात्रावाास में पेयजल, स्वच्छता आदि की जमकर समस्या सामने आई। खेल मैदान देखने गए तो वह उबड़-खाबड़ मिला। इसी प्रकार की समस्या छात्रों के प्री मेट्रिक छात्रावास में सामने आई। यहां तो छात्रों ने मंत्री को बताया कि देर रात को बाहरी लोगों की आवाजाही रहती है। गर्मी के समय मच्छरों की भरमार है, लेकिन मच्छरदानी नहीं हैं। गंदगी आदि समस्या देखकर मंत्री नाराज हुए।

 

पूर्व में चले हैं यहां पर चाकू

मंत्री ने बताया कि पूर्व में छात्रावास के बाहर चाकूबाजी तक हुई थी। इसको गंभीरता से लिया गया। इसी के चलते निरीक्षण के लिए आया हूं। मन्त्री आर्य ने सीसीटीवी कैमरे चालू करने के भी निर्देश दिए। बाद में तीनों छात्रावास के आय व्यय-पत्रक का भी अवलोकन किया। विद्यार्थियों ने खेल सामग्री, छात्रवृत्ति समय पर नहीं मिलने, पेयजल व्यवस्था नही ंहोने, खेल सामग्री नहीं मिलने और खेल नही होने, मीनू अनुसार भोजन नहीं मिलने की शिकायत की। सहायक आयुक्त आदिवासी विभाग जीएस डामोर को इस पर मंत्री ने व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए।

 

Ad Block is Banned