scriptmpeb latest hindi news | बिजली बिल : बन्द हो जाएंगे आना, अभी करें यह काम | Patrika News

बिजली बिल : बन्द हो जाएंगे आना, अभी करें यह काम

ग्रीष्मकाल में बढ़ जाता हैं सौर ऊर्जा का 20 से 30 फीसदी उत्पादन

रतलाम

Published: July 04, 2022 08:19:08 pm

रतलाम. मालवा और निमाड़ के शहर रतलाम, उज्जैन, इंदौर, धार, पीथमपुर में ग्रीन एनर्जी को बढ़वा देने के लिए नया काम हुआ है। यहां पर छतों से बिजली बनाने के लिए लोग आगे आ रहे है। इसी कारण हर माह लाखों यूनिट यानि चार से पांच करोड़ बाजार कीमत की बिजली तैयार होती है। गर्मी के चार माह मार्च, अप्रैल, मई, जून में घर, दुकान, दफ्तर और उद्योगों की छतों, परिसरों से करीब बीस करोड़ रूपए की बिजली तैयार की गई है।
mpeb latest news in hindi
mpeb latest news in hindi
मालवा और निमाड़ अंचल में नेट मीटर लगाकर अपने परिसर में सौर ऊर्जा से बिजली तैयार करने वालों की संख्या इस ग्रीष्मकाल में एक हजार बढ़ी है। यानि चार माह में हजार से ज्यादा और बिजली उपभोक्ता इस ग्रीन एनर्जी की ओर आकर्षित हुए है। जून अंत में इनकी संख्या 5333 हो गई है। इस वर्ष मार्च से जून की चार माह की अवधि में पूर्व की चार माह की अवधि की तुलना में लगभग तीस फीसदी बिजली ज्यादा बनी है, क्योंकि ग्रीष्मकाल में सूरज की किरणों की उपलब्धता 11 से 13 घंटे तक हो जाती है, जबकि अन्य माहों में यह समय कई बार 11 घंटे से भी कम हो जाता है। पूरे अंचल में नेट मीटर सोलर बिजली उत्पादन इंदौर शहर में ही सबसे ज्यादा हुआ है, यहां से बाजार भाव से लगभग दो करोड़ रूपए प्रतिमाह की बिजली तैयार हो रही है। इसके बाद उज्जैन और तीसरे क्रम में रतलाम शहर का नंबर आता है। जिलों की बात की जाए तो सबसे ज्यादा इंदौर जिले से नेट मीटर के माध्यम से बिजली तैयार हो रही है, जबकि सबसे कम आगर जिले से।
साढ़े तीन वर्ष में पूरी राशि वसूल
परिसरों में छतों पर सौर पैनल्स लगाने वालों के लिए बिजली बिल में राहत मिलती है। उन्हें मात्र अंतर यूनिट का बिल देना होता है। साढ़े तीन वर्ष में सौलर पैनल जितनी बिजली बनाती है, उसकी कीमत पैनल स्थापना के बराबर हो जाती है। इस तरह मात्र साढ़े तीन वर्ष में पैनल्स बिल्कुल फ्री हो जाती है। वर्तमान में एक किलो वाट की पैनल्स की स्थापना 60 से 70 हजार रू में संभव है।
ग्रीन एनर्जी को दे रहे बढ़ावा


इंदौर, उज्जैन, रतलाम में छतों व अन्य परिसरों पर नेट मीटर सोलर पावर जनरेशन का कार्य बहुत ही तारीफे काबिल है। कंपनी के अधिकारी उपभोक्ताओं की इस दिशा में तत्परता से मदद करते है, ताकि ग्रीन एनर्जी को बढ़ावा मिले। यह भविष्य के लिए बहुत जरूरी है।

- अमित तोमर, प्रबंध निदेशक, मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर

२४ घंटे में मिलीं बिजली की १२५० शिकायतें

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें Listबिहार कैबिनेट में अगड़ी जातियों का दबदबा खत्म, भूमिहार से 2 तो ब्राह्मण से मात्र 1 मंत्री, यादव से सबसे अधिक 8 मंत्रीगुजरात में कांग्रेस को बड़ा झटका, 6 MLA बीजेपी में हो सकते हैं शामिलTarget Killing In Kashmir: 'मोदी सरकार कश्मीरी पंडितों की हिफाजत करने में हुई फेल', AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसीJammu-Kashmir: शोपियां में नाम पूछकर आतंकियों ने कश्मीरी पंडितों पर बरसाईं गोलियां, एक की मौत, लश्कर फ्रंट ने ली जिम्मेदारीशर्मनाक हरकत : शव को अस्पताल ले जाने मांगी मदद, तो नगर पंचायत ने भेज दी कचरा गाड़ीJammu-Kashmir: पहलगाम में 39 ITBP जवानों को ले जा रही बस खाई में गिरी, 7 जवान शहीद, अमित शाह ने जताया दुखKejriwal Press Conference: केजरीवाल ने बताया कैसे बनेगा देश का हर गरीब अमीर, इन 4 बड़े कामों पर दिया जोर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.