फर्जी दस्तावेजों से करवा लिया भूमि का नामांतरण

Akram Khan

Publish: Jul, 13 2018 05:52:31 PM (IST)

Ratlam, Madhya Pradesh, India
फर्जी दस्तावेजों से करवा लिया भूमि का नामांतरण

फर्जी दस्तावेजों से करवा लिया भूमि का नामांतरण

रतलाम। (जावरा) शहर में स्थित सम्पत्तियों के नामांतरण में नगर पालिका में लम्बे समय से फर्जीवाड़ा चला रहा हैं। यहां के अधिकारी व बाबू चंद रुपयों लालच में फर्जी व झूठे दस्तावेजो के आधार पर नामांतरण कर देते हैं, जिसका खामियाजा बहुत सारे लोगों को चुकाना पड़ता हैं।

ऐसे कई मामले में नपा में उजागर हो चुके हैं, ऐसा ही एक और फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नामांतरण करने का मामला प्रकाश में आया हैं जिसमें पुस्तैनी सम्पत्ती को एक ने फर्जी दस्तावेज के आधार से खुद के नाम पर नामांतरण कराया और सम्पत्ति को बेच भी दिया। जब इस बात का पता परिवार के अन्य सदस्यों को लगा तो उन्होंने नपा में हुए फर्जीवाड़े की शिकायत सीएमओं के साथ सीएम हेल्पलाइन तक की। जिस पर नपा ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर नामांतरण करवाने वाले के खिलाफ ४२० में प्रकरण दर्ज करवाने का सूचना पत्र जारी किया हैं।

नगर के काटजू नगर निवासी भैरुलाल खटीक पिता स्व. नंदराम खटीक ने जिलाधीश तथा सीएम हेल्पलाईन पर खटीक पुरा स्थित मकान नम्बर ४७ जो कि स्व. नंदराम पिता डुगाजी के नाम पर चला आ रहा था, जिसके करीब आठ वारिस हैं। इन आठ वारिसों मे से रामचन्द्र पिता नंदराम खटीक ने धोखाधड़ी पूर्वक फर्जी दस्तावेज के आधार पर स्वयं अकेले के नाम पर उक्त मकान का नामांतरण करवा लिया। जिसका नामांतरण प्रमाण-पत्र नपा द्वारा ०७ अप्रेल १८ को जारी कर दिया गया। इसी फर्जी नामांतरण प्रमाण पत्र के आधार पर रामचन्द्र ने उक्त पेतृक मकान को बेच दिया। इसकी जानकारी मिलने पर २ जुलाई १८ को नपा में आपत्ती प्रस्तुत की गई। जिस पर उन्हें जानकारी मिली कि उक्त मकान का नामांतरण तो अप्रेल में ही रामचन्द्र के नाम कर दिया हैं।

जवाब आने पर होगी कार्रवाई
इस मामले में नपा सीएमओ एपीएस गहरवार ने बताया कि अप्रेल माह में रामचन्द्र के हम में नामांतरण प्रमाण पत्र जारी होने की आपत्ती के बाद रामचन्द्र को एक सूचना पत्र भेजकर फर्जी व गलत जानकारी देकर नामांतरण किए जाने पर धारा ४२० के तहत प्रकरण दर्ज करने के लिए लिखा हैं। नोटिस का जवाब आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।
-------


सर्पदंश से महिला की मौत
सुखेड़ा। गांव से एक किमी दूर गाव काबुलखेडी में बुधवार रात राजकुंवर पति मांगूसिंग (50) की सर्पदंश से मृत्यु हो गई। बुधवार को रोज की तरह राजकुंवरबाई अपने कमरे में सोई हई थी। रात एक बजे राजकुंवर का पति जो पास के कमरे में सोया हुआ था पानी पीने के लिए पास के कमरे में गया जहां पत्नी तड़प रही थी उसने बताया की मुझे किसी जहरीले जानवर ने काट लिया है। इसी दौरान एक सांप बील में जाता दिखाई दिया। मांगूसिंह ने अपने पुत्र धारासिंग को उठाया व राजकुंवर को सुखेडा डॉ. आर सी वर्मा को दिखाया, जहां पर डॉ. वर्मा ने उसे मृत घोषित कर दिया। गुरुवार को सुबह सुखेडा पुलिस चौकी पर सूचना दी गई।

Ad Block is Banned