scriptMurder and attempt to murder created sensation throughout the year | हत्या और हत्या के प्रयास ने पूरे साल मचाई सनसनी | Patrika News

हत्या और हत्या के प्रयास ने पूरे साल मचाई सनसनी

तीन साल के तुलनात्मक आंकड़ों के अनुसार इस साल हुई ३३ हत्याओं में आधे से ज्यादा हत्याएं पारिवारिक विवाद में हुई

रतलाम

Published: December 25, 2021 11:59:16 am

रतलाम।
2020 का साल कोरोना की भेंट चढ़ गया तो आपराधिक वारदातों और दुर्घटनाओं में भी काफी हद तक अंकुश लग गया था किंतु जैसे ही नया साल 2021 लगा और लॉक डाउन में पहले शिथिलता और बाद में इसके खत्म होते ही हत्या, अपहरण और अन्य वारदातों में एकदम इजाफा देखने को मिला। हालांकि जिले में पिछले तीन सालों के मुकाबले कुछ अपराधों में कमी भी दर्ज की गई है लेकिन जिन मामलों में इसका ग्राफ बढ़ा है वे गंभीर प्रवृत्ति के अपराधों में शामिल हैं। इससे साल भर पुलिस के सामने चुनौती बने रहे।

हत्या और हत्या के प्रयास ने पूरे साल मचाई सनसनी
हत्या और हत्या के प्रयास ने पूरे साल मचाई सनसनी
इस साल सबसे ज्यादा हत्याएं
वर्ष 2021 का साल हत्याओं के मामले में पिछले तीन सालों की तुलना में खराब रहा है। 1 जनवरी 2021 से लेकर 15 दिसंबर तक के आंकड़ों के अनुसार जिले में 33 लोगों की हत्याएं हुई हैं। इसके पहले 2020 में 58 और 2019 में 24 लोगों की हत्याएं हुई थी। इस साल हुई हत्याओं में अहम बात यह है कि आधे से ज्यादा यानि 16 हत्याएं पारिवारिक विवाद में परिजनों ने ही की हैं।
सर्वाधिक केस धारा 188 के
पिछले साल कोरोना की वजह से प्रतिबंध लगाए हुए थे। इनमें भीड़भाड़ नहीं करना, जुलूस निकालना, बिना अनुमति आयोजन करने सहित अन्य प्रतिबंध होने की वजह से वर्ष 2021 में प्रतिबंधात्मक धारा 188 में सबसे ज्यादा 300 केस पंजीबद्ध किए गए हैं। दूसरी तरफ इस साल आपराधिक गतिविधियों वाले ९८ अपराधियों को जिलाबदर करते हुए सात पर रासुका की कार्रवाई की गई है।
भारतीय दंड संहिता के मामले
वर्ष - हत्या - हत्या का प्रयास - डकैती - डकैती का प्रयास - लूट - चेन स्नेचिंग - अपहरण - घर में चोरी - वाहन चोरी - छेड़छाड़
2021 - 33 - 36 - 01 - 01 - 12 - 01 - 236 - 146 - 274 - 145
2020- 28 - 35 - 01 - 01 - 11 - 03 - 145 - 104- 163 - 170
2019- 24 - 44 - 01 - 00 - 13 - 04 - 170 - 145 - 210 - 215
-----------
तुलनात्मक आंकड़़ों का विश्लेषण कर रहे
वर्तमान साल के साथ ही इन आंकड़ों का पिछले दो सालों के मुकाबले तुलनात्मक विश्लेषण किया जा रहा है। कुछ मामलों में बढ़ोतरी हुई है तो कुछ मामले घटे हैं। बढ़े हुए मामलों में संबंधित थाना प्रभारियों को हिदायत देकर अगले साल कम करने के लिए प्रयास किया जाएगा।
गौरव तिवारी, पुलिस अधीक्षक, रतलाम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

हार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैंधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजप्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टEye Donation- बेटी को जन्म दे, चल बसी मां, लेकिन जाते-जाते दो नेत्रहीनों को दे गई रोशनीयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

क्या सच में बुझा दी गई अमर जवान ज्योति? केंद्र सरकार ने दिया जवाबVideo: बॉम्बे हाई कोर्ट के जज के चैंबर में मिला 5 फीट लंबा सांप, वन विभाग की टीम ने किया रेस्क्यूदिल्ली उपराज्यपाल ने आप सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, वीकेंड कर्फ्यू हाटने और प्रतिबंधों में ढील से इनकारUP Assembly Elections 2022 : एकाएक राजनीति में उतरकर इन महिलाओं ने सबको चौंकाया, बटोरी सुर्खियांभारत के इलेक्ट्रिक वाहन बाजार में Adani Group की हो सकती है धमाकेदार एंट्री, कंपनी ने ट्रेडमार्क किया दायरDriving License पर पता बदलने के लिए अब नहीं पड़ेगी RTO के चक्कर लगाने की जरूरत, मिनटों में समझे प्रोसेसइंडिया गेट पर जहां लगेगी सुभाष चंद्र बोस की मूर्ति, जानिए वहां पहले किसकी थी प्रतिमाIND vs SA: ऋषभ पंत हुए 'ब्रेन फेड' का शिकार, केएल राहुल ने बीच मैदान दिखाई आंख
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.