निगम की लापरवाही रहवासियों पर थोपी: जर्जर भवन खाली नहीं करा पा रहा निगम

निगम की लापरवाही रहवासियों पर थोपी: जर्जर भवन खाली नहीं करा पा रहा निगम

Yggyadutt Parale | Publish: Jun, 23 2019 05:44:17 PM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

निगम की लापरवाही रहवासियों पर थोपी: जर्जर भवन खाली नहीं करा पा रहा निगम

रतलाम. शहर में शुक्रवार को हुई झमाझम बारिश के बाद निगम आयुक्त की नींद टूट गई। अति वृष्टि के दौरान उत्पन्न होने वाली आपदा से निपटने के लिए नगर निगम आयुक्त एसके सिंह ने शनिवार को टीमे गठित की। उन्होने जीर्ण-शीर्ण व खतरनाक भवनों को चिन्हित कर भवन स्वामी को नोटिस देने की बात कहीं। निगम ने इस मामले में ये कहते हुए अपने हाथ भी झटक लिए है कि यदि उनके निर्देश के बाद भी कोई भवन खाली नहीं करता है और उक्त भवन में कोई हादसा हो जाता है, तो उसके लिए भवन में रहने वाले लोग ही जिम्मेदार होंगे।

आयुक्त ने क्षतिग्रस्त पुलियाओं को चिन्हित कर रेडियम लगाने के साथ आपदा प्रबंधन एवं राहत कार्य के लिए नियंत्रण कक्ष स्थापित कर फोन नंबर 07412-270563 जारी किया है। बारिश में किसी प्रकार की जनहानि न हो इसके लिए निगम ने जीर्ण-शीर्ण, कच्चे खतरनाक भवनों में खाली करने की हिदायत दी और उक्त भवनों को तत्काल गिरा देने के निर्देश दिए है। इसके साथ ही आमजन को अपने आसपास के ऐसे भवनों की जानकारी देने की बात कही है। यदि इसके बाद भी कोई व्यक्ति या परिवार ऐसे भवनों का उपयोग करता है तो वहां पर होने वाली किसी भी जनधन हानि के लिए स्वंय जवाबदार रहेगा।

 

खुले न रहे चैंबर व नाले-नाली के ढक्कन
आयुक्त ने जल प्लावन रोकने व पानी के बहाव में अवरोध उत्पन्न करने वाले नाले व नालियों के अतिक्रमण चिन्हित कर हटाए जाने व शहर के नाले नालियों व वाल के चेबरों पर लगे ढक्कन व फ र्सी खुली न रहे इसकी जिम्मेदारी लोक निर्माण विभाग व कर्मशाला विभाग को सौंपी है। जल भराव वाले क्षेत्र में रहने वाले लोगों को राहत पहुंचाने के लिए आठ आश्रय स्थल भी बनाए है। इसमें गांधीनगर कयुनिटी हॉल, ईश्वर नगर विद्यालय, शैरानीपुरा जमातखाना, अंबेडकर मांगलिक भवन पोलोग्राउण्ड, अलकापुरी कयुनिटी हॉल, धीरजशाह नगर रॉयल हॉल, भवन निर्माण कला केंद्र बिरियाखेड़ी व श्री जैन उ.मा.विद्यालय सागोद रोड है।

 

patrika

अब होगा आंकलन

आपदा प्रबंधन के उपयोग में आने वाली आवश्यक सामग्री एवं संसाधनों का आंकलन की याद भी निगम को अब आई है। आयुक्त ने उसके भंडारण की जिम्मेदारी भंडार रक्षक को सौंपी है। बारिश में शुद्ध जल की उपलब्धता व वितरण के लिए जरूरी रसायनों की व्यवस्था व उपलब्धता तथा पानी निकालने के लिए पम्प आदि की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी प्रभारी कार्यपालन यंत्री सत्यप्रकाश आचार्य को सौंपी है।

किसी भी जगह जमा न हो पानी
आयुक्त ने जल की समुचित निकासी व व्यवस्थित बहाव के लिए अलग से दल गठित किया। नगर के विभिन्न क्षेत्रो में छोटे एवं बड़े नाले-नालियों की वर्षा पूर्व सफ ाई व जल एक स्थान पर एकत्रित न हो इसकी व्यवस्था करवाई जाकर आवश्यक संसाधन, कीटनाशक आदि की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी एवं स्वच्छता निरीक्षकों को सौंपी। इसके अलावा प्रकाश हेतु टार्च, पेट्रोमेक्स, तैराक इत्यादि की व्यवस्था के भी निर्देश संबंधित को दिये है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned