रतलाम के जॉन ने सुलझाई हत्या की गुत्थी

रतलाम के जॉन ने सुलझाई हत्या की गुत्थी

Mukesh Mahawar | Publish: Jun, 16 2019 05:43:49 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

रतलाम के युवा बना रहे फिल्म सिटी में अपनी पहचान

रतलाम. रतलाम जैसे छोटे शहर से अब बडे़ किरदार निकलने लगे है। अब तक शहर में अपनी पहचान नहीं बना पाने वाले कुछ चेहरे अब फिल्म सिटी में पहुंच कर बेहतर किरदार निभाकर अपनी अलग छाप छोड़ रहे है। अपनी मेहनत के बूते इन कलाकारों को घर बैठे मुंबई की फिल्मी दुनिया के डायरेक्टर व प्रोड्यूस फोन कर वहां बुलाकर इनकी पर्सनलिटी के हिसाब से रोल भी दे रहे है। हालही में रतलाम के एक और युवा चेहरे को फिल्मी दुनिया में बेहतर किरदार निभाने का मौका मिला, जिसे बेहतर ढ़ंग से भुनाया। ये कहानी है रतलाम के गांधी नगर स्थित मीराकुटी निवासी जितेंद्र घावरी की जिसे लोग रतलाम में जॉन के नाम से पहचानते है। कॉलेज की पढ़ाई पूरी कर छोटा-मोटा काम करके रोजी रोटी कमाने जॉन को एक्टिंग का भी शौक है, जिसके चलते उसके द्वारा कई बार मुंबई तक की दौड़ लगाई जा चुकी है। अब तक टीवी सीरियलों में छोटे मोटे किरदार निभाने वाले जितेंद्र को पहली बार पर्दे पर एक बड़ा और गंभीर रोल मिला, जिसे उसने बेहतर ढ़ंग से निभाया भी है। इस रोल को करने के लिए जितेंद्र को मुंबई से दो माह पहले फोन आया तो जितेंद्र मुंबई पहुंचा और चार दिन वहां पर लॉज में रूककर अपना किरदार निभाकर लौट आया था।
थानेदार का मिला रोल
टीवी पर दंगल के नाम से शुरू हुए चैनल पर आने वाले क्राइम अलर्ट नाम के सीरियल में शुक्रवार रात को आए एेपीसोड में जॉन ने अहम भूमिका निभाई थी। इस सीरियल की कहानी दो हत्याओं से जुड़ी थी, जिसकी गुत्थी सुलझाने के लिए जॉन को पुलिस इंस्पेक्टर का रोल निभाने के लिए दिया था, जिसे उसने बखूबी बेहतर ढ़ंग से निभाया और दो हत्या कर चुके आरोपी को उसके घर से गिरफ्तार कर केस खत्म कर देता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned