शिकायत के बाद भी नहीं हो रही सुनवाई

- जावरा के बर्डिया गोयल से आई महिला ने कलेक्टोरेट सभाकक्ष के बाहर मचाया हंगामा, पीडि़ता का आरोप नकल का आवेदन करने के बाद भी जिम्मेदार नहीं दे रहे नकल

रतलाम। जिले में प्रशासनिक अधिकारियों की मनमानी के चलते आमजन की परेशानियां लगातार बढ़ती जा रही है। स्थानीय स्तर पर सुनवाई नहीं होने पर लोगों को शिकायत लेकर कलेक्टर कार्यालय के चक्कर काटना पड़ रहे है, लेकिन यहां से भी मिल रही है, तो सिर्फ तारीख। काम नहीं होने से परेशान लोगों का गुस्सा अब फुटने लगा है। एेसा ही एक नजारा मंगलवार को कलेक्टोरेट सभाकक्ष के बाहर देखने को मिला। यहां नकल नहीं मिलने की शिकायत लेकर आई महिला की सुनवाई नहीं होने पर वह सभाकक्ष में बाहर रोते-बिलखते हुए अधिकारियों को और जनसुनवाई को कौसती नजर आई।

जावरा क्षेत्र के बर्डिया गोयल निवासी मंगलबाई को उसके खेत की नकल के लेने के लिए आवेदन करने के बाद भी अब तक नहीं मिल सकी है। इस बात से परेशान होकर मंगलवार को कलेक्टर से मिलने जनसुनवाई में पहुंची थी। पीडि़ता की माने तो यहां भी उसकी ठीक से सुनवाई नहीं हुई और उसे बाहर कर दिया गया। पीडि़ता ने बताया कि उसे नकल देने के नाम पर परेशान किया जा रहा है। उसे कलेक्टर से सुनवाई की उम्मीद थी, लेकिन यहां भी उसकी बात नहीं सुनी गई और

उसे बाहर कर दिया।

नहीं मिल रहा योजनाओं का लाभ

जन सुनवाई में आए शमीम ने बताया कि वह गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करता है, लेकिन उसे शासन की किसी योजना का लाभ नहीं मिला है। इस पर कलेक्टर ने आवेदक को समझाइश देकर स्वयं का रोजगार स्थापित करने की सलाह दी और मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत के माध्यम से स्वरोजगार संबंधी योजना में लोन देकर लाभांवित करने के निर्देश दिए।

लोन के नाम पर मांग रहे रिश्वत

ग्राम खारवाकलां निवासी रीना कल्याणे ने बताया कि वे बारहवीं के बाद नर्सिंग कॉलेज में नर्सिंग का प्रशिक्षण ले रही है। शिक्षा लोन के लिए उसने आवेदन बैंक में दिया है, लेकिन बैंक प्रबंधक लोन स्वीकृत करने के नाम पर २५ हजार रुपए मांग रहा है। एक अन्य मामले में ग्राम सुखेड़ा निवासी पर्वतलाल ने बताया कि उन्होंने एसबीआई बैंक से बीस साल पहले टै्रक्टर खरीदने के लिए लोन लिया था। लोन चुकाने के बाद भी बैंक मूल कागज नहीं दे रही है। कलेक्टर ने दोनों मामलों में एलडीएम को कार्रवाई के निर्देश दिए।

bhuvanesh pandya
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned