अब एमआर के लिए प्रशासन नहीं लेगा माता-पिता की अनुमति, पढ़ें क्यो?

अब एमआर के लिए प्रशासन नहीं लेगा माता-पिता की अनुमति, पढ़ें क्यो?

Sachin Trivedi | Publish: Feb, 25 2019 02:00:50 PM (IST) | Updated: Feb, 25 2019 02:00:51 PM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

अब एमआर के लिए प्रशासन नहीं लेगा माता-पिता की अनुमति, पढ़ें क्यो?

वीरियाखेड़ी स्थित स्वास्थ्य विभाग के प्रशिक्षण केंद्र में कलेक्टर रुचिका चौहान ने की मीजल्स रूबेला की समीक्षा

रतलाम। जिले में मीजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान के अंतर्गत शतप्रतिशत टीकाकरण कराने के उद्देश्य से स्वास्थ्य विभाग के जिला प्रशिक्षण केंद्र वीरियाखेड़ी में कलेक्टर रुचिका चौहान ने समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि स्कूलों में टीकाकरण का प्रतिशत कम है। इसके लिए आप लोगों को अभिभावकों की अनुमति की प्रतीक्षा नहीं करना है। आप अपना अभियान जारी रखे और स्कूल में आने वाले नौ माह से 15 साल के हर एक बच्चे को यह टीका अनिवार्य रूप से लगाएं। गौरतलब है कि स्कूल वाले बच्चों को मीजल्स रूबेला टीकाकरण करवाने से पहले बच्चों के अभिभावकों से सहमति ले रहे थे। कई अभिभावकों ने सहमति देने से इनकार कर दिया जिससे कम टीकाकरण हुआ है।
78 फीसदी हुआ टीकाकरण

 

जिले में अब तक 78 फीसदी बच्चों का टीकाकरण

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रभाकर नानावरे ने समीक्षा बैठक में बताया कि जिले में अब तक 78 फीसदी बच्चों का टीकाकरण किया गया है, किंतु अभी स्कूलों के 45293 एवं आंगनवाड़ी केंद्रों के 57404 बच्चों को टीका लगाया जाना शेष है। बैठक में सहायक कलेक्टर राहुल धोटे ने सभी विकासखंड को दो दिवस में कुल लक्ष्य की 10 फीसदी उपलब्धि प्राप्त कर ने के निर्देश दिए। उन्होंने बैठक के दौरान ही आगामी 2 दिनों की कार्य योजना तैयार कर इस काम को पूरा करने को कहा। समीक्षा में जिन क्षेत्रों में अधिक संख्या में बच्चों का टीकाकरण किया जाना शेष है उनमें आगामी दो दिवस में लगभग 46000 बच्चों का टीकाकरण करने को कहा गया।

बिलपांक क्षेत्र में लगेगी 38 टीमें

टीकाकरण के लिए विकासखंडवार क्षेत्रों का चिन्हांकन कर लिया गया है। संबंधित क्षेत्र में एएनएम, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं आशा कार्यकर्ता की नाम नामजद जिम्मेदारी तय की गई। रतलाम ग्रामीण एसडीएम रतलाम सिराली जैन ने बीएमओ बिलपांक के साथ समन्वय कर आगामी दो दिवस में 38 टीम द्वारा कार्य कराया जाना तय किया। बैठक को संयुक्त कलेक्टर एवं प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास लक्ष्मी गामड़, जिला शिक्षा के प्रभारी परियोजना समन्वयक आरके त्रिपाठी, विकासखंड चिकित्सा अधिकारी, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. वर्षा कुरील, डब्ल्यूएचओ कि सर्विलेंस मेडिकल ऑफीसर स्वाति मित्तल, महिला बाल विकास विभाग के प्रेरणा तोगडे तथा अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned