दूसरे दिन बिका 16 हजार 952 कट्टे प्याज

Nilesh Trivedi

Publish: May, 18 2018 02:50:02 PM (IST)

Ratlam, Madhya Pradesh, India
दूसरे दिन बिका 16 हजार 952 कट्टे प्याज


400 से अधिक प्याज से भरी ट्रॉलियों को अपनी बारी का इंतजार

 

रतलाम. कृषि उपज मंडियों मंे बुधवार से भावांतर भुगतान योजना में शुरु हुए प्याज की खरीदी के दूसरे दिन गुरुवार को भी प्याज की बंपर आवक रहे। अकले रतलाम शहर की मंडी में 250 ट्रॉली में भरकर आया 16 हजार 952 कट्टे प्याज नीलाम हुआ। इसके अलावा करीब 400 ट्रॉलियां जो प्याज लेकर आई, उन्हें उपज मंडी प्रांगण में रोका गया। वहां से 100-100 ट्रॉलियां टोकन के आधार पर छोड़ी जा रही है। जिनका नीलाम हो रहा है। भावांतर के प्याज से मंडी प्रांगण बोना साबित हो रहा है। दो दिन की आवक से मंडी और यहां के इंतजाम मानों हाफ गए हो। जिले की जिस मंडी में भी प्याज की नीलामी हो रही है, वहां यहीं आलम है। मंडी के अंदर से लेकर बाहर तक प्याज से भरी ट्रॉलियों की लंबी कतारें लगी हुई है और प्याज लिए किसान अपनी बारी का इंतजार कर रहा है। समर्थन गेहूं से निपटते ही किसान भावांतर पर प्याज बेचने के लिए मंडी पहुंचा है।

बंपर आवक के चलते मंडी में आई प्याज की ट्रॉलियों को अन्यत्र खड़ा करवाना पड़ रहा है। प्याज खरीदी का दौर जरुर शुरु हो गया, लेकिन अब स्थिति स्पष्ट नहीं हो पा रही है कि भावांतर में प्याज का इस बार निर्धारित मूल्य क्या तय हुआ है और अंतर की कितनी राशि सरकार किसानों को देगी, लेकिन पंजीयन के आधार पर किसान अपना प्याज भावांतर के तहत बेच रहा है। पूर्व में निर्धारित दर को ही अब तक आधार माना जा रहा है। ३० जून तक भावांतर योजना में प्याज खरीदी का दौर चलेगा। मंडी आवक के चलते फूल हुई तो प्रशासन ने मंडी के बाहर खड़ी प्याज से भरी ट्रॉलियों को और अंदर मौजूद ट्रॉलियांे के प्याज नहीं बिकने तक की स्थिति में आने वाली ट्रॉलियों को आंबेडकर मैदान में खड़ा करवाया था। जहां से रात मंे ही किसानों को फोरलेन पर स्थित उपज मंडी प्रांगण में पहुंचाया गया। अब वहां से टोकन के आधार पर वहां से सैलाना बस स्टैंड के समीप स्थित सब्जी मंडी मंे जहां प्याज की नीलामी हो रही है वहां के लिए छोड़ा जा रहा है।

पहले दिन 600 तो दूसरे दिन 400 ट्रॉलियां पहुंची

जानकारी के अनुसार पहले ही दिन भावांतर में प्याज बेचने के लिए किसानों ने उत्साह दिखा और अनेक किसान प्याज लेकर मंडी पहुंचे। आलम यह था कि करीब 600 से अधिक ट्रैक्टर-ट्रॉलियां व लोडिंग वाहन प्याज से भरे होकर मंडी पहुंचे। एेसे में मंडी का प्रांगण छोटा पड़ गया और वाहन वाहन खड़े हो गए। दूसरे दिन भी दिनभर में 250 ट्रॉली प्याज बिका लेकिन 400 से अधिक ट्रॉलियां बाहर ही खड़ी है। दो दिन में १ हजार से ज्यादा प्याज से भरी ट्रॉलियां मंडी पहुंच चुकी है और जिले की अन्य सभी मंडियों में भी प्याज की इसी तरह बंपर आवक हो रही है।


30 जून तक चलेगी खरीदी

प्रभारी सचिव राजेंद्र व्यास ने बताया कि भावांतर मंे प्याज की खरीदी का 30 जून तक चलेगा। इसके बाद १ अगस्त से 30 अगस्त तक भी भावांतर मंे प्याज खरीदी का काम होगा। दिनभर में 250 ट्रॉली प्याज बिका है। टोकन से ट्रॉलियों को मंडी मंे लिया जा रहा है। प्याज मंे न्यूनतम में 140 और अधिकतम में 724 का भाव रहा।


फैक्ट फाईल

250 ट्रैक्टर प्याज की हो सकी नीलामी
दूसरे दिन प्याज की आवक 16 हजार 952 कट्टे रही

न्यूनतम 140 और अधिकतम 724 रहा प्याज का भाव
लहसुन की 8705 कट्टों की हुई नीलामी

न्यूनतम 180 और अधिकतम 2301 रहा भाव।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned