डांट-फटकार से आसान लगी मौत, फंदा लगाकर जान देने का बालक व महिला ने किया प्रयास

डांट-फटकार से आसान लगी मौत, फंदा लगाकर जान देने का किया बालक व महिला ने प्रयास

By: harinath dwivedi

Published: 24 Jul 2018, 05:20 PM IST

स्कूल नहीं जाने पर पिता की फटकार पर बालक ने लगाई फांसी
रतलाम। शिवगढ़ कस्बे के हरिजन बस्ती समीप अंबेडकर मोहल्ले निवासी एक १३ वर्षीय बालक ने स्कूल नहीं जाने पर पिता की फटकार से क्षुब्ध होकर घर पर छत के कड़े से फंदा लगा लिया। जिसे उसकी मां ने चीख कर आस-पड़ौसी की मदद से तुरंत उतारकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया। बालक की हालत में शाम तक सुधार आ गया है।
पुलिस ने बताया कि शिवगढ़ अंबेडकर मोहल्ला निवासी दिनेश बामनिया के १३ वर्षीय बेटे ज्ञानेश्वर ने दोपहर साढे १२ बजे घर पर ही पिता की डांट फटकार के बाद फंदा लगा लिया। उसकी मां रामीबाई व आस-पड़ौस के लोगों ने तुरंत फंदे से उतारा और जिला अस्पताल में भर्ती कराया। परिजनों ने बताया कि दिनेश पढ़ाई में अच्छा है। कक्षा आठवी में पैटलावद स्थित उत्कर्ष स्कूल में उसका दाखिला हुआ है। वह शनिवार को छुट्टी पर घर आया था और दादी से कह रहा था कि उसका वहां मन नहीं लगता है। वह वहां पर पढऩे नहीं जाएगा। दादी ने यह बात घर वालों को नहीं बताई थी। सोमवार सुबह स्कूल नहीं जाने पर पिता ने डांट फटकार लगा दी थी। उस बात से क्षुब्ध होकर बालक ने फंदा लगा लिया था। ज्ञानेश्वर से एक साल बड़ा भाई आदित्य भी उसके साथ ही कक्षा आठवी में पढ़ता है, लेकिन उसका वहां पर दाखिला नहीं हो पाया था। उससे छोटा भाई कार्तिक कक्षा छठी में पढ़ता है।

पति की डांट फटकार पर महिला फंदे पर झूली

रतलाम। जिला धार के बदनावर कस्बे में पति की डांट-फटकार से क्षुब्ध महिला ने फंदा लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया। पति ने शाम को घर पहुंचकर पत्नी को फंदे से उतारकर बदनावर से रैफर होने के बाद जिला अस्पताल रतलाम में गंभीर हालत में भर्ती कराया है।
अस्पताल चौकी प्रभारी अशोक शर्मा ने बताया कि बदनावर निवासी गौरी पति दिनेश प्रजापत उम्र ३० वर्ष फंदा लगाने के कारण बदनावर अस्पताल से रैफर होकर गंभीर हालत में जिला अस्पताल में रात दस बजे भर्ती हुई है। उसके परिजनों ने बताया कि गौरी से उसके पति ने बेटी के स्कूल नहीं जाने की बात पर पत्नी की डांट-फटकार लगाई थी। जिससे दोनों के बीच विवाद हुआ था। पति झगड़ा कर घर से बाहर चला गया था। वह शाम करीब साढे सात बजे घर लौटा तो अंदर से दरवाजा बंद था। काफी खटखटाने पर नहीं खोलने पर छत के रास्ते घर में घुसा। इस दौरान पत्नी को बल्ली से फंदा लगाकर झूलता देखकर फंदे से उतारकर आस-पड़ौस की मदद से बदनावर अस्पताल में भर्ती कराया। वहां पर उसकी हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल रतलाम रैफर कर दिया गया। यहां उसका आईसीयू में उपचार चल रहा है।

अर्थिंग से लगा करंट और किशोर की मौत

रतलाम। सरवन थाना क्षेत्र के खंखई गांव में खेत में घास काट रहे १७ वर्षीय किशोर को मकान के अर्थिंग तार से छू जाने पर करंट लगने से जिला अस्पताल लेकर परिजन पहुंचे। डॉक्टर ने रविवार रात को मृत घोषित कर दिया।
पुलिस ने बताया कि खंखई गांव निवासी रजनीकांत पिता थारवरचंद पारगी उम्र १७ घर के बाहर ही खेत में घास काट रहा था। खेत में बने मकान की अर्थिंग पीछे ही दे रखी थी। घास काटते समय अर्थिंग तार को छू जाने से करंट की चपेट में आ गया। उसे परिजन सरवन अस्पताल लेकर शाम को पहुंचे। वहां पर चिकित्सक नहीं होने पर वह उसे सैलाना अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल को रैफर कर दिया गया। जहां पर उसकी इलाज दौरान चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने सोमवार सुबह शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया।

एएसआई पचौरी की हार्ट अटैक से देर रात मौत

रतलाम। औद्योगिक थाने में पदस्थ एएसआई रामनरेश पचौरी की रविवार रात को तबीयत खराब होने पर परिजनों ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जिनकी इलाज दौरान मौत हो गई। डॉक्टर ने हार्ट अटैक से मौत होना प्राथमिक रूप से बताया है। वहीं सोमवार सुबह एसपी गौरव तिवारी ने पहुंचकर मौत के सही कारण स्पष्ट होने के चलते शव का पीएम कराकर परिजनों को सौंपा।
एएसआई गिरधारीलाल परमार ने बताया कि कस्तूरबा नगर निवासी रामनरेश (५७) पिता रामसेवक पचौरी औद्योगिक थाने में एएसआई पद पर पदस्थ थे। उनकी रविवार रात को घर पर ही तबीयत बिगडऩे पर पत्नी ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। देर रात इलाज दौरान मौत हो गई। प्राथमिक रूप से चिकित्सक ने हार्ट फेल होने से मौत होना बताया है। सोमवार सुबह एसपी गौरव तिवारी सहित पुलिस अधिकारी जिला अस्पताल पहुंचे थे। मौत के सही कारण स्पष्ट करने हेतु शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया है। वहीं मृतक के एक ही पुत्र शुभम पचौरी (२६) है, वह भी पुलिस में आरक्षक पद पर उज्जैन महाकाल चौकी में पदस्थ है।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned