अमृत निकालने जुटे रतलाम के श्रमदानी

अमृत निकालने जुटे रतलाम के श्रमदानी

Sachin Trivedi | Updated: 13 May 2018, 02:21:27 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

पत्रिका अभियान अमृतं जलम के माध्यम से जलस्रोतों की सफाई की शुरूआत

रतलाम. जल संरक्षण एवं जलस्रोतों को उनका खोया स्वरूप लौटाने वाले पत्रिका के अमृतम जलम अभियान की रविवार को रतलाम मेें शुरुआत हो गई। शहर की प्राचीन दो मुंह की बावड़ी पर शहरवासियों ने श्रमदान कर अभियान मेंं सहभागिता की। कई पार्षद व जनप्रतिनिधियों ने भी श्रमदान स्थल पर अपनी सहभागिता की। इस दौरान मंदिर समिति सदस्यों व ऑर्ट ऑफ लिविंग परिवार के सदस्यों ने सभी के साथ मिलकर अंदरूनी परिसर को साफ किया।

शहर के नगर निगम तिराहा रोड स्थित श्री अमरेश्वर महादेव मंदिर परिसर में रविवार सुबह ८.३० बजे से ही श्रमदान को लेकर शहरवासी जुटने लगे थे। ऐतिहासिक बावड़ी को सरंक्षित करने का संकल्प लिए क्षेत्रवासियों ने नियमित श्रमदान कार्य आरंभ किया। हाथों में गैती-पावड़ा और तगारी थामे क्षेत्रवासी एक-दूसरे का उत्साह बढ़ाते हुए सबसे पहले बावड़ी की सीढिय़ों पर सफाई मेंं जुटे। इसके बाद भीतरी परिसर और फिर दीवारों के आसपास का कचरा हटाया गया। इस दौरान मंदिर समिति सदस्यों व ऑर्ट ऑफ लिविंग परिवार के सदस्यों ने सभी के साथ मिलकर अंदरूनी परिसर को भी साफ किया।


कोठारी ने कहा, जागृत होगा समाज
श्रमदान के लिए वित्त आयोग के अध्यक्ष हिम्मत कोठारी भी पहुंचे। उन्होंने खुद बावड़ी में कदम रखते हुए सफाई कार्य किया। पार्षद सीमा टांक, एल्डमरैन प्रभु नेका, नासीर कुरेशी के नेतृत्व मेंं युवाओं की टोली ने उत्साह के साथ श्रमदान किया। इस दौरान दो दर्जन से ज्यादा संगठनों के प्रतिनिधि एवं शहरवासी और स्कूल-कॉलेज के छात्र और छात्राओं ने भी सफाई कार्य किया।


पत्रिका परिवार ने भी किया श्रमदान
बावड़ी सफाई के लिए पत्रिका रतलाम परिवार के सदस्य भी जुटे। सभी ने शहरवासियों के साथ सफाई सहित कचरा हटाने व गाद निकालने का कार्य किया। इस दौरान एक अलग ही उत्साह नजर आ रहा था। सुबह के समय की ठंडी हवाओं के बीच जब एक दूसरे के हाथ से कचरे की तगारियां निकली तो साथी हाथ बढ़ाना भी सुनाई दिया। श्रमदान के लिए बड़ी संख्या में महिलाएं और युवतियों के साथ बुजुृर्ग भी आगे आए।


कलेक्टर बोलीं, ये सभी की जिम्मेदारी
श्रमदान के दौरान पहुचीं कलेक्टर रुचिका चौहान और पुलिस अधीक्षक अमितसिंह ने कहा कि पत्रिका अभियान के साथ सभी की जिम्मेदारी बढ़ गई है। सफाई के बाद अब इस बावड़ी को कचरा और गंदगी से मुक्त रखना सामूहिक प्रयासों से आगे बढ़ेगा। मानसून के पहले बावड़ी सहित अन्य जलस्रोतों के संरक्षण का यह कदम सफल होगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned