मोदी कैबिनेट 2.0 का रतलाम से पॉलिटिकल कनेक्शन

मोदी कैबिनेट 2.0 का रतलाम से पॉलिटिकल कनेक्शन

Sachin Trivedi | Updated: 31 May 2019, 01:54:06 PM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

मध्यप्रदेश के साथ रतलाम जिले को भी मिली तवज्जो

रतलाम. पीएम नरेन्द्र मोदी की कैबिनेट में एक बार फिर मध्यप्रदेश के साथ ही रतलाम जिले को भी तवज्जो मिली है। प्रदेश से चार मंत्री बनाए गए है, इनमें एक मंत्री का रतलाम जिले से सीधा जुड़ाव है तो उनकी शुरूआती कर्मभूमि भी रतलाम की राजनीतिक भूमि रही है। वर्ष 2014 से 2019 तक भी पीएम मोदी की पहली कैबिनेट में रतलाम का जुड़ाव रहा था, अब भारी बहुमत वाली पीएम मोदी की कैबिनेट 2.0 में भी रतलाम का कनेक्शन है।

 

इस मंत्री के कारण रतलाम को मिली तवज्जो
भारतीय जनता पार्टी संसदीय बोर्ड में करीब 12 वर्षो से काबिज दिग्गज नेता थावरचंद गहलोत एक बार फिर मोदी कैबिनेट का हिस्सा बने है। गहलोत मूलत: उज्जैन जिले के नागदा के निवासी है और रतलाम जिला उनकी राजनीतिक कर्मभूमि रहा है। गहलोत के बेटे जितेन्द्र रतलाम जिले की आलोट विधानसभा सीट से ही विधायक भी बन चुके है, हालांकि वर्ष 2018 का विधानसभा चुनाव जितेन्द्र कांग्रेस के मनोज चांवला से हार गए।

patrika

गहलोत के सहारे रतलाम को मिल सकता है लाभ
राज्यसभा के सदस्य गहलोत का रतलाम से लगाव भी है, वे जिले में सक्रिय रहते है। मोदी कैबिनेट में गहलोत को पहले सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय मिला था, कैबिनेट 2.0 में भी गहलोत को मोदी ने फिर से उसी मंत्रालय का जिम्मा सौंप दिया है। इससे रतलाम जिले में इस विभाग के मार्फत कुछ नई योजनाओं पर काम शुरू हो सकेगा। भाजपा के पदाधिकारी भी मानते है कि गहलोत का मंत्री बनना रतलाम को लाभ देगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned