पेट्रोल-डीजल के भावों में बढ़ोतरी पर कांग्रेस बिफरी

- धरना-प्रदर्शन के साथ ज्ञापन का दौर चल पड़ा

By: Akram Khan

Published: 24 May 2018, 05:48 PM IST

रतलाम। प्रदेश कांग्रेस के आह्वान पर शहर की ब्लॉक कमेटी को छोड़कर जिलेभर में पेट्रोल और डीजल की मूल्यवृद्धि का विरोध किया। अंचल के ब्लॉक मुख्यालयों पर कांग्रेस ने पेट्रोल पंपों के बाहर धरना दिया। अब दूसरे और तीसरे चरण मेें तहसील तथा जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन के साथ महंगाई विरोध रैली की तैयारी हो रही है।

जिला कांग्रेस ने बुधवार को पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ती कीमत को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम कम होने के बावजूद केंद और राज्य सरकार पेट्रोल पर 212 प्रतिशत एक्साइज ड्यूटी और डीजल पर 433 प्रतिशत बढ़ा चुकी है। सरकार पर गलत नीतियों का आरोप लगाते हुए बुधवार को मंडलम स्तर पर कांग्रेस ने पेट्रोल पंपांे के बाहर धरना दिया गया। अब तहसील व जिला मुख्यालय पर भी प्रदर्शन कर मूल्यवृद्धि का विरोध करेंगे। धरना प्रदर्शन रतलाम ग्रामीण विधानसभा के धामनोद मंडल, बिलपांक ब्लॉक, नामली ब्लॉक, मुंदड़ी ब्लॉक, तितरी मंडलम, ढकवा मंडलम, रतलाम ग्रामीण ब्लॉक में बांगरोद मंडलम में कई स्थानों पर पेट्रोल पंप पर धरना प्रदर्शन किया गया। इस दौरान जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रभु प्रकाश राठौड़ सहित ब्लॉक कांग्रेस के पदाधिकारी और मंडलम से बूथ स्तर के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

शहर कमेटी रैली की कर रही तैयारी

पहले दिन ब्लॉक और मडलम स्तर पर मूल्यवृद्धि का विरोध किया गया। प्रदेश कांग्रेस ने सभी ब्लॉक मुख्यालयों पर इसके निर्देश दिए थे, लेकिन रतलाम शहरी ब्लॉक मुख्यालय पर प्रदर्शन नहीं हुआ। इसका कारण आगामी दिनों में तहसील और जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन करना है। जिला स्तर पर बड़ी रैली की तैयारी हो रही है। शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनोद मिश्रा ने बताया कि शहर में रैली के जरिए विरोध होगा। मूल्यवृद्धि को लेकर किसान कांग्रेस ने शहरी क्षेत्र में धरना दिया। बाजना रोड के भवन में किसान कांग्रेस के प्रतिनिधियों ने सरकार को कोसा।

प्रीतमनगर. केंद्र राज्य की भाजपा सरकार द्वारा पेट्रोल पर 21.2 प्रतिशत और डीजल पर 43.3 प्रतिशत एक्साइज ड्यूटी लगा रखी है। इन 2 सालों में करीब पेट्रोल ३३ प्रतिशत व डीजल 55 प्रतिशत महंगा हुआ है। मोदी सरकार भारत में एक टैक्स की बात कर रही है तो पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में क्यों नहीं ला रही है। जो गैस सिलेंडर कांग्रेस के शासन में 300 रुपए में मिलता था उसे भाजपा की सरकार ने 750 रुपए कर दिए हैं। इसके विरोध में सोमवार को सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक कांग्रेस संगठन मंडलम एवं सेक्टर एवं ब्लॉक स्तर पर स्थानीय पेट्रोल पंपों पर 4 घंटे का धरना प्रदर्शन किया गया।

नामली. मध्यप्रदेश सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल पर ४० प्रतिशत कर लगा रखा है, इसके चलते मूल्यवृद्धि हुई, जिससे ग्रामीणों व किसानों को फसल मंडी में ले जाने और खेती में हंकाई जुताई के संसाधन महंगे पडऩे लगे हैं, जिससे किसानों के साथ ही आम आदमी की बढ़ती महंगाई से कमर टूटने लगी है। नामली मंडलम के ब्लॉक अध्यक्ष तूफानसिंह सोनगरा के नेतृत्व में नामली फोरलेन स्थित पेट्रोल पंप के सामने कांग्रेस पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ जमकर नारे बाजी की।

बांगरोद. डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दाम से आक्रोशित कांग्रेस द्वारा सेजावता बांगरोद किसान आशीर्वाद पेट्रोल पंप पर धरना दिया। धरने को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेताओं ने कहा कि कच्चे तेल के दाम कम होने के बावजूद केंद्र व राज्य सरकार द्वारा डीजल पेट्रोल के दाम बढ़ रहे हैं। इधर सरकार इस पर करीब 40 प्रतिशत टैक्स वसूल रही है। इससे पेट्रोल डीजल के भाव रिकार्ड स्तर पर पहुंच गए हैं। वे इस और ध्यान नहीं दे रहे हैं। जो गैस सिलेंडर कांग्रेस के शासन में 300 में मिलता था उसके भाजपा की सरकार 750 रुपए जनता से वसूल रही हैं।

Akram Khan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned