छात्राओं से वादा कर भूले शिक्षा मंत्री, लिखना पड़ा स्मरण पत्र

छात्राओं से वादा कर भूले शिक्षा मंत्री, लिखना पड़ा स्मरण पत्र

Akram Khan | Publish: Sep, 11 2018 05:40:43 PM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 05:40:44 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

छात्राओं से वादा कर भूले शिक्षा मंत्री, लिखना पड़ा स्मरण पत्र

रतलाम। (ढोढर) करीब 11 माह पूर्व यहां पर किसान संगोष्ठी कार्यक्रम में आए जिले के प्रभारी एवं स्कूली शिक्षा मंत्री दीपक जोशी ने बालिका आश्रम की छात्राओं से मुलाकात कर उनकी परेशानी को दूर करने के लिए छात्रावास भवन की घोषणा की थी, लेकिन उक्त घोषणा पर अभी तक अमल नहीं हो पाया है। इधर विभाग के जिम्मेदार इस घोषणा से अनभिज्ञता दर्शा रहे हैं। इस पर शिक्षा मंत्री जोशी को याद दिलाने के लिए छात्राओं ने स्मरण पत्र लिखा है।

सर्वशिक्षा अभियान के तहत संचालित बालिका आश्रम की छात्रा गंगा पारगी, ममता डामर ने शिक्षा मंत्री दीपक जोशी के नाम एक स्मरण पत्र लिखा है, जिसमें बालिकाओं ने उन्हें याद दिलाया है। गत वर्ष 14 अक्टूबर को ढोढर में आयोजित विकासखंड स्तरीय किसान संगोष्ठी समारोह में आप भाग लेने आए थे, तब आपका हमने आत्मीय स्वागत किया था, जब आप ने आगे रहकर कहा था कि बोलो- तुम्हें क्या चाहिए तो हमने भवन की कमी से होने वाली परेशानियों से अवगत कराया था, जिस पर आपने भवन की सौगात देने की घोषणा की थी, लेकिन उक्त बात को करीब 11 माह बीत गए हैं। उक्त भवन निर्माण के लिए अभी तक किसी भी तरह की प्रक्रिया प्रारंभ नहीं हुई है। शायद व्यस्तता के चलते आप भूल गए होंगे। आपको याद दिलाने के लिए यह स्मरण पत्र लिख रहे है ताकि आप हमें यह सुविधा प्रदान करने का कष्ट करें।

छात्राओं ने इस मामले में कहा कि पचास सीटर वाले आश्रम में कक्षा 6 से लेकर 8 तक की 50 बालिका हैं। भवन का अभाव होने से रात को शासकीय बालक प्रावि के कमरे में परेशानी के बीच रात गुजारने को मजबूर हैं। इन परेशानियों से हमने मंत्री को कराया था जिस पर मंच पर से मंत्री ने भवन की सौगात देने घोषणा की थी लेकिन एक वर्ष गुजरने के बाद भी सौगात पर अमल नहीं हुआ।
प्रभारी मंत्री दीपक जोशी से मोबाइल पर चर्चा की तो उन्होंने कहा कि मैं बाहर हूं फिलहाल इस बारे में कुछ भी नहीं कह सकता।

इस मामले में मुझे कोई जानकारी नहीं
किसान संगोष्ठी के दौरान मंत्रीजी छात्रावास भवन की कोई घोषणा की है। इस मामले में मुझे कोई जानकारी नहीं है। न ही विभाग के पास कोई पत्र आया है।
- ऋषिकुमार त्रिपाठी, डीपीसी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned