1 नवंबर से 15 नवंबर तक शुद्धिकरण पखवाड़ा

जिले में शुद्धिकरण पखवाड़े की तैयारियां

कलेक्टर ने बैठक लेकर की समीक्षा

राजस्व अभिलेख में त्रुटि सुधार के लिए आवेदन करें

By: Ashish Pathak

Updated: 08 Oct 2021, 10:00 PM IST

रतलाम. राज्य शासन के निर्देश अनुसार रतलाम जिले में भी आगामी 1 नवंबर से 15 नवंबर तक शुद्धिकरण पखवाड़ा मनाया जाएगा। इस दौरान राजस्व अभिलेखों में त्रुटि सुधार किए जाएंगे। कोई भी व्यक्ति अपने राजस्व अभिलेख में त्रुटि सुधार के लिए आवेदन कर सकता है। आवेदन अपनी ग्राम पंचायत के अलावा तहसील या कलेक्टर ऑफिस में भी किया जा सकता है। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने शुद्धिकरण पखवाड़े की तैयारियों को लेकर एक बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में राजस्व विभाग एक व्यक्ति नियत करें जो आवेदन लेकर त्रुटि सुधार का कार्य करवाएगा। अपर कलेक्टर एमएल आर्य, सीईओ जिला पंचायत जमुना भिड़े सहित जिले के एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार तथा राजस्व निरीक्षक बैठक में उपस्थित थे।

कलेक्टर ने निर्देश दिए कि शासन के निर्देश अनुसार शुद्धिकरण पखवाड़े को सफलतापूर्वक आयोजित करना है। इस कार्य में शत-प्रतिशत सफलता से जिले में 90 प्रतिशत राजस्व अभिलेखों की त्रुटियों संबंधी समस्याओं का निराकरण हो जाएगा और आम आदमी की बड़ी समस्या हल हो जाएगी। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि शुद्धिकरण पखवाड़े की तैयारी के लिए अगले 7 दिनों में सभी राजस्व अधिकारी फील्ड वर्क पूरा कर ले। कलेक्टर ने कहा कि यह पहली बार है कि डाटा राज्य स्तर पर मौजूद है और आप राजस्व अधिकारी जो भी कार्य करेंगे और राज्य स्तर पर ऑनलाइन दिखेगा। शुद्धिकरण पखवाड़े के सफलतापूर्वक आयोजन के लिए राजस्व अधिकारियों की प्रत्येक शुक्रवार बैठक आयोजित की जाएगी और समीक्षा होगी।

Vecsination
IMAGE CREDIT: patrika

मुख्य रूप से फौती नामांतरण

इस पखवाड़े में मुख्य रूप से फौती नामांतरण और भूमि स्वामी का नाम आधार कार्ड अनुसार सुधारा जाएगा जिससे किसान को शासन की योजनाओं का लाभ मिलने में दिक्कत नहीं हो। शुद्धिकरण पखवाड़े के दौरान राजस्व रिकॉर्ड में उपलब्ध समानता एवं रिकॉर्ड की त्रुटियों को सुधारा जाएगा। इनमें फौती नामांतरण, भूमि स्वामी नाम सुधार, खसरा, रकबा एवं नक्शा संबंधी त्रुटियों का सुधार, व्यापवर्तन डाटा, एंट्री डाटा, परिमार्जन, खसरा क्षेत्रफल सुधार, रिक्त भूमि स्वामी, सक्रिय एवं मूलबटक मिसिंग खसरा, भूमि प्रकार एवं भूमि स्वामी प्रकार संशोधन, अल्फान्यूमैरिक खसरा तथा नक्शा तरमीम सम्मिलित है।

सेकंड डोज पर प्लानिंग की गई

कोरोना वैक्सीननेशन को लेकर शुक्रवार शाम बैठक आयोजित हुई जिसमें जिले में सेकंड डोज पर चर्चा करते हुए प्लानिंग की गई। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम द्वारा निर्देशित किया गया कि दशहरे के बाद सेकंड डोज का महाअभियान आयोजित किया जाएगा। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने निर्देश दिए कि सेकंड डोज का लक्ष्य अर्जित करने के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा मोटिवेशन कार्य किया जाए। लोगों को वैक्सीनेशन सेंटर तक लाया जाए। इस कार्य की मानिटरिंग पटवारी तथा ग्राम पंचायत सचिव करें।

प्रति सप्ताह प्लानिंग की जाए

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर वर्षा कुरील को निर्देश दिए कि जिले में जितने भी व्यक्ति सेकंड डोज के लिए बाकी है उनको ध्यान में रखते हुए प्रति सप्ताह प्लानिंग की जाए। आयुष्मान कार्ड बनाने को लेकर भी समीक्षा की गई। इस कार्य में ढिलाई बरतने पर कलेक्टर द्वारा सख्त नाराजगी व्यक्त की गई और जिला चिकित्सालय में कार्य प्रभारी डॉ. गौड़ को शोकाज नोटिस देने और उनकी सैलरी रोकने के निर्देश दिए।

Vecsination
IMAGE CREDIT: patrika

नशा छोडने हेतु प्रेरित किया गया

मद्य निषेध सप्ताह के तहत मद्य निषेध रथ द्वारा जिले में भ्रमण कर हाट बाजारों में नुक्कड नाटकों के जरिए नशा नहीं करने हेतु आमजन को प्रेरित किया जा रहा है। आम नागरिकों को संकल्प पत्र, शपथ पत्र वितरित कर नशा नहीं करने हेतु शपथ दिलवाई जा रही है। उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन सुश्री मनीषा वास्कले ने बताया कि मद्य निषेध सप्ताह के तहत 8 अक्टूबर को नशामुक्ति अभियान आयोजित किया गया अब तक 1130 व्यक्तियों से नशा मुक्त रहने हेतु संकल्प पत्र भरवाए गए। साथ ही नशामुक्ति रथ द्वारा ग्रामों में भ्रमण कर ग्रामवासियों को नशा छोडने हेतु प्रेरित किया गया। स्कूलों में छात्रों को पेम्पलेट, गीत-गायन व नाटकों के माध्यम से अवगत करवाया गया कि नशे से क्या-क्या बीमारियां होती हैं, उनका जीवन कितना कष्टमय व्यतीत होता है व परिवार को कितना कष्ट सहना पडता है।

Corona virus
Show More
Ashish Pathak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned