तीन माह पहले हो गया रेलवे का ये काम, अब यात्रियों को मिलेगी ये बड़ी सुविधा

तीन माह पहले हो गया रेलवे का ये काम, अब यात्रियों को मिलेगी ये बड़ी सुविधा

Ashish Pathak | Updated: 11 Jul 2019, 10:40:02 AM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

अक्टूबर में पूरा करने का लक्ष्य था, तीन माह पहले कर दिया काम, सीआरएस को डीआरएम न भेजा इलेक्ट्रिक ट्रैक के निरीक्षण का आमंत्रण।

रतलाम। रेल मंडल के रतलाम लक्ष्मीबाई नगर वाया बडऩगर रेलवे सेक्शन पर इलेक्ट्रीफिकेशन कार्य समय से तीन माह पहले ही पूरा हो गया। इसके निरीक्षण के लिए औपचारिक आमंत्रण मंडल रेल प्रबंधक आरएन सुनकर ने पश्चिम रेलवे के नए संरक्षा आयुक्त ( Chief Safety Commissioner ) आरके शर्मा को आमंत्रण भेजा है। इसी माह सीआरएस इंदौर आएंगे और रतलाम तक निरीक्षण करेंगे। यदि सब कुछ ठीक रहा तो सीआरएस इस सेक्शन पर बिजली की ट्रेन चलाने के लिए हां कर सकते हैं। इसे अक्टूबर 20198 में पूरा करना था, तीन माह पहले ही ये पूरा हो गया है। इसके बाद अब इंदौर से लक्ष्मीबाई नगर-फतेहाबाद के रास्ते बिजली के इंजन से ट्रेन चलने का रास्ता साफ हो गया है।

यह भी पढे़ं -धंसे ट्रैक से गुजरने वाली थी राजधानी, बेकिंग इंजन के चालक ने बचाई दुर्घटना

2017 में मंजूरी, 2018 में शुरू हुआ था काम
वर्ष 2017 में 120 करोड़ की लागत वाले रतलाम-लक्ष्मीबाई नगर-इंदौर सेक्शन पर इलेक्ट्रिफिकेशन की मंजूरी हुई थी। टेंडर आदि होने व कार्य की शुरुआत होने में 15 फरवरी 2018 का समय लग गया। इसको अक्टूबर 2019 में पूरा करना था, लेकिन तीन माह पहले ही ये पूरा हो गया है।

यह भी पढे़ं - VIDEO रेल कोच में रात बिताने का मिलेगा अवसर

अगले चरण में ये कार्य

बता दे कि इलेक्ट्रिफिकेशन (कोर ) इलाहाबाद चित्तौडग़ढ़ से लेकर कोटा होते हुए नीमच से लेकर इंदौर होते हुए खंडवा तक महू के रास्ते इलेक्ट्रिफिकेशन कार्य को करेगी। इसके लिए रेल मंडल में देखें तो इंदौर से लेकर जावरा तक ये कार्य हो गया है। रेलवे का प्रयास है कि अक्टूबर तक जो समय सीमा इंदौर से रतलाम तक के लिए दी गई थी, उस समय सीमा में जावरा से मंदसौर तक के रहे कार्य को भी पूरा कर लिया जाए। इसमे जावरा से मंदसौर तक पोल लगाने का कार्य हो गया है। अब इस पर तार डालने शेष हैं। इसके बाद अगले चरण में रेलवे व इलेक्ट्रिफिकेशन विभाग मिलकर महू-खंडवा सेक्शन में 160 किमी के ट्रैक पर ( 138 किमी ) रेल मार्ग पर 127.82 करोड़ रुपए की लगात से इलेक्ट्रिफिकेशन कार्य की शुरुआत करेगा।

यह भी पढे़ं - रेलवे में निजीकरण नहीं होगा के दावे के बीच डीआरएम कार्यालय की सफाई निजी हाथ में

कार्य पूरा हो गया

हमारे यहां इंदौर से रतलाम तक इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य पूरा हो गया है। जल्दी ही हम इस सेक्शन में बिजली इंजन से चलने वाली ट्रेन चलाएंगे। इससे कम समय में यात्रियों को जल्दी अपने गंतव्य तक पहुंचने का लाभ मिलेगा। इसके लिए हमने सीआरएस को आमंत्रण भेज दिया है।
- आरएन सुनकर, मंडल रेल प्रबंधक

यह भी पढे़ं -Railway Budget 2019 रतलाम के लिए रेलवे में मिला खुशियों का खजाना

railway electrification work
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned