हाईस्पीड का निकला दम, ट्रॉयल में ही लग गया लेट का ठप्पा

हाईस्पीड का निकला दम, ट्रॉयल में ही लग गया लेट का ठप्पा

harinath dwivedi | Publish: Oct, 13 2018 05:21:26 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 05:21:27 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

हाईस्पीड का निकला दम, ट्रॉयल में ही लग गया लेट का ठप्पा

ट्रायल में ही ९ मिनट देरी से पहुंची रतलाम, सुबह ९.१० बजे निकली प्लेटफॉर्म से १३० किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से

रतलाम। कोटा से बड़ोदरा तक राजधानी की गति से भी तेज स्पीड से ट्रेन चलाने के लिए रेलवे ने शुक्रवार को स्पीड ट्रायल १३० किमी प्रतिघंटे की रफ्तार वाला लिया। इस ट्रेन ने नागदा से गोधरा तक के टै्रक की दूरी को राजधानी एक्सपे्रस के मुकाबले २१ मिनट कम के समय में पूरा किया। हालांकि रतलाम स्टेशन से ये तय समय से ९ मिनट देरी से पास हुई। ट्रेन में मंडल के अलावा पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ लोको डिप्टी सीई अभिमन्यूसिंह भी सवार थे।

बता दे कि रेलवे दिल्ली से मुंबई के बीच १६० किमी की गति से ट्रेन चलाने की कयावद वर्ष २०१७ से कर रहा है। अब तक टेल्गो ट्रेन के पांच बार अलग-अलग परिक्षण के अलावा कोटा-बड़ोदरा, मुंबई-नागदा व नागदा मुंबई के बीच तीन बार परिक्षण स्पीड के ट्रायल हुए है। अब रेलवे ने एक बार फिर कोटा से बड़ोदरा के बीच स्पीड ट्रायल शुक्रवार को किया है।

इस तरह चली ये ट्रेन
१८ एलएचबी डिब्बो वाली विशेष ट्रेन सुबह ६.३० बजे कोटा से चली। इसके पूर्व ये ट्रेन दिल्ली से मथुरा व मथुरा से कोटा तक स्पीड का १३० की गति से ट्रायल कर चुकी थी। सुबह चलने के बाद ट्रेन को ८.४५ बजे नागदा स्टेशन पर आना था, लेकिन से तय समय से पूर्व ८.३३ बजे ही पहुंच गई। रतलाम रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को सुबह ९ बजकर १ मिनट पर आना था, लेकिन ट्रेन ९ मिनट देरी से आई। रतलाम स्टेशन से ट्रेन सुबह ९.१० बजे पास हुई। इसी प्रकार मंडल के दाहोद स्टेशन पर सुबह १०.२४ बजे व गोधरा से ११.१० बजे पास हुई।

शनिवार को बड़ोदरा बांद्रा के बीच ट्रायल
शनिवार को ट्रेन का बड़ोदरा से बांद्रा के बीच परिक्षण होगा। ट्रेन में पश्चिम रेलवे के मुख्य इंजन इंजीनियर अभिमन्यूसिंह के अलावा कोटा, रतलाम, बड़ोदरा के वरिष्ठ अधिकारी सवार थे। इनके अलावा आरडीएसओ की इस ट्रेन में बनारस सहित लखनऊ के अधिकारी भी थे। इस परिक्षण के बाद ये अधिकारी अपनी रिपोर्ट रेलवे बोर्ड को देंगे। बोर्ड इस रिपोर्ट पर मंथन करके २०१९ में जनवरी-फरवरी तक दिल्ली-रतलाम-मुंबई के बीच १३० से १६० तक की स्पीड वाली ट्रेन चला सकता है।


१३ हजार से अधिक कर्मचारियों को २३ करोड़ रुपए से अधिक की राशि मिली
रतलाम। देशभर में सबसे पहले रतलाम रेल मंडल के कर्मचारियों को शुक्रवार को दीपावली पूर्व के बोनस का वितरण हो गया। रेल मंडल में १३ हजार १७६ कर्मचारियों के खातों में शुक्रवार को २३ करोड़ ९४ लाख ७० हजार ४९८ रुपए का बोनस का वितरण कर दिया गया। सुबह कर्मचारियों के खातों के में इसको डालने की शुुरुआत हुई जो दोपहर १२ बजे तक पूरी हो गई। मंडल के वित्त विभाग के कर्मचारी तीन दिन से इसको लेकर तैयारी कर रहे थे। डीआरएम ने वित्त व कार्मिक विभाग को बेहतर कार्य करने के लिए ५ हजार रुपए का पुरस्कार व प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानीत किया है।

वित्त विभाग के वरिष्ठ प्रबंधक रविरंजन ने मीडिया को बताया कि रेलवे हर वर्ष दहशरा के पूर्व अपने कर्मचारियों को उत्पादकता के आधार पर ७८ दिन का बोनस देती है। तीन दिन पूर्व ही रेलवे ने इस बात की घोषणा की थी कि वो नवरात्रि में ही बोनस का वितरण कर देगी। शुक्रवार को ये कार्य हो गया। बता दे कि इस बोनस को लेकर कर्मचारियों की मांग थी की इसको ७८ दिन के बजाए अतिरिक्त दिनों में बढ़ाया जाए। इसको लेकर दोनों प्रमुख संगठनों ने मांग भी की थी। शुक्रवार को वेस्टर्न रेलवे मजदूर संघ युवा समिति अध्यक्ष गौरव दुबे व सहायक मंडल मंत्री दीपक भारद्वाज ने भी वित्त विभाग के वरिष्ठ अधिकारी रविरंजन का स्वगत किया।

इस तरह हुआ मंडल में कार्य

रेलवे ने १० अक्टूबर को बोनस देने का निर्णय लिया। ११ अक्टूबर को सुबह ११.३० बजे क्रिस विभाग ने बोनस भुगतान की साइट को खोला। पे बिल सेक्शन से ५.३० घंटे तक कार्य करके शाम को ५ बजे तक सभी १३ हजार १७६ कर्मचारियों का बोनस बिल बनाकर लेखा विभाग के पास भेज दिया। इस बिल को बनाने के दौरान कर्मचारी ११ अक्टूबर को भोजन अवकाश में घर भी नहीं गए। इसके बाद देर रात तक ऑनलाइन एक - एक कर्मचारी के खाते में बोनस डालने का कार्य चलता रहा। १२ अक्टूबर की दोपहर १२ बजे तक सभी कर्मचारियों को बोनस मिल गया।

इनको मिला ५-५ हजार का पुरस्कार

बोनस को खाते में देश में सबसे पहले डालने में मंडल के १८ कर्मचारियों का सबसे बेहतर योगदान रहा। इन कर्मचारियों को ५-५ हजार रुपए का पुरस्कार व प्रशस्ती पत्र डीआरएम सुनकर ने देने की घोषणा की है। इन कर्मचारियों में वरिष्ठ कार्मिक प्रबंधक पीके गोपीकुमार के अलावा दीपक परमार, अनिता प्रसाद, सुनील भार्गव, रमेश पानसे, सुनील मेहता, संजय यादव, अरविंद मीणा, प्रतिमा मिश्रा, नंदकिशौर शर्मा, राकेश कुमार, राजीव अग्रवाल, बीएस कटारा, दिनेश भविरिया, दिपमाला पंवार, नरेंद्र मोयल, स्नेहलता व अनिसा शामिल है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned